बिहार : न्याय और अधिकार की आवाज और मजबूती से उठा सकें - Live Aaryaavart (लाईव आर्यावर्त)

Breaking

विजयी विश्व तिरंगा प्यारा , झंडा ऊँचा रहे हमारा। देश की आज़ादी के 75 वर्ष पूरे होने पर सभी देशवासियों को अनेकानेक शुभकामनाएं व बधाई। 'लाइव आर्यावर्त' परिवार आज़ादी के उन तमाम वीर शहीदों और सेनानियों को कृतज्ञता पूर्ण श्रद्धासुमन अर्पित करते हुए नमन करता है। आइए , मिल कर एक समृद्ध भारत के निर्माण में अपनी भूमिका निभाएं। भारत माता की जय। जय हिन्द।

शुक्रवार, 3 जून 2022

बिहार : न्याय और अधिकार की आवाज और मजबूती से उठा सकें

figh-for-jusice
पटना. महिलाओं के अधिकार और न्याय के लिए सतत आंदोलन जारी है. आप जानते हैं कि इस आंदोलन में एक मजबूत भूमिका निभाने वाले संगठन का नाम है -ऐपवा. ऐपवा अपने जन्म काल से ही देश भर में इस आंदोलन में सक्रिय है. यहां पटना की सड़कों पर भी न केवल अतीत में बल्कि हाल के वर्षों में हमने संघर्ष किया है. मुजफ्फरपुर शेल्टर होम कांड से लेकर दर्जनों ऐसे मामलों में अपराधियों के खिलाफ कार्रवाई के लिए सरकार को मजबूर किया. समाज और परिवार में महिलाओं को न्याय और हक दिलाएंगे. आज एक तरफ महंगाई चरम पर है. रसोई गैस से लेकर हर चीज महंगी हो रही है, दूसरी तरफ महिलाओं पर हिंसा और उत्पीड़न बढ़ रहा है लेकिन महिला कानूनों को कमजोर किया जा रहा है. महिलाओं के लिए न्याय और बराबरी का रास्ता जब सरकार और ताकतवर लोग ही बंद कर रहे हों तब महिलाओं को और मजबूती से अपने संघर्ष को जारी रखना होगा. इस परिप्रेक्ष्य में ऐपवा का आठवां नगर सम्मेलन होने जा रहा है. सम्मेलन उद्घाटनकर्ता -प्रो.भारती एस कुमार हैं. मुख्य वक्ता- मीना तिवारी, महासचिव, ऐपवा हैं.वक्ता- शशि यादव- राज्य सचिव, ऐपवा और सरोज चौबे, राज्य अध्यक्ष ऐपवा हैं.सम्मेलन स्थल -13 नंबर विधायक आवास कैंपस, छज्जू बाग, पटना  और समय - 4 जून दोपहर 1ः00 बजे से है.आप इस सम्मेलन में सादर आमंत्रित हैं. कृपया आप आएं ताकि हम सब एक साथ मिलकर अपने न्याय और अधिकार की आवाज और मजबूती से उठा सकें.

कोई टिप्पणी नहीं: