हांगकांग का महशहूर ‘जंबो फ्लोटिंग रेस्तरां’ डूबा - Live Aaryaavart (लाईव आर्यावर्त)

Breaking

प्रबिसि नगर कीजै सब काजा I ह्रदय राखि कौसलपुर राजा II, हरिजन जानि प्रीति अति गाढ़ी। सजल नयन पुलकावलि बाढ़ी॥, मंगल भवन अमंगल हारी I द्रवहु सुदसरथ अजिर बिहारी II, हरि अनंत हरि कथा अनंता I कहहि सुनहि बहुबिधि सब संता II, दीन दयाल बिरिदु संभारी । हरहु नाथ मम संकट भारी।I, माता पिता की सेवा करें....बुजुर्गों का ख्याल रखें...अपनी प्रतिभा और आचरण से देश का नाम रौशन करें...

बुधवार, 22 जून 2022

हांगकांग का महशहूर ‘जंबो फ्लोटिंग रेस्तरां’ डूबा

hong-kong-floating-restaurant
हांगकांग, 21 जून, हांगकांग का मशहूर ‘जंबो फ्लोटिंग रेस्तरां’ (तैरता हुआ होटल) दक्षिण चीन सागर में डूब गया है। इसके मलिकाना हक वाली कंपनी ने सोमवार को यह जानकारी दी। ‘एबरडीन रेस्टोरेंट इंटरप्राइजेज लिमिटेड’ ने बताया कि शनिवार को दक्षिण चीन सागर में पारासेल द्वीप समूह के पास से गुजरते समय रेस्तरां खराब मौसम का शिकार हो गया था, जिससे उसके अंदर पानी भरने लगा और वह डूबने लगा। कंपनी के मुताबिक, हादसे में कोई हताहत नहीं हुआ है, लेकिन तैरते रेस्तरां को बचाने के सभी प्रयास नाकाम रहे और रविवार को यह पूरी तरह से डूब गया। कंपनी ने एक बयान जारी कर कहा, ‘‘घटनास्थल पर पानी की गहराई 1,000 मीटर से अधिक थी। ऐसे में बचाव कार्यों को अंजाम देना बेहद मुश्किल हो गया था।’’ बयान में कहा गया है कि कंपनी ‘‘इस हादसे से बेहद दुखी है।’’ ‘जंबो फ्लोटिंग रेस्तरां’ की लंबाई लगभग 80 मीटर थी। यह बीते चार दशक से अधिक समय से हांगकांग में लोगों के आकर्षण का केंद्र रहा था। महारानी एलिजाबेथ द्वितीय और टॉम क्रूज सहित 30 लाख से अधिक मेहमान इसमें मशहूर ‘कैंटोनीज’ व्यंजनों (क्षेत्र का विशेष खाना) का लुत्फ उठा चुके हैं। ‘जंबो फ्लोटिंग रेस्तरां’ को साल 2020 में कोविड-19 वैश्विक महामारी की वजह से बंद कर दिया गया था। कंपनी ने तब रखरखाव की भारी लागत का हवाला देते हुए इस रेस्तरां के सभी कर्मचारियों को भी निकाल दिया था।

कोई टिप्पणी नहीं: