आइकन्स ऑफ भारत” दिखायेगा साधारण भारतीयों की सफलता की अनसुनी कहानियां - Live Aaryaavart (लाईव आर्यावर्त)

Breaking

प्रबिसि नगर कीजै सब काजा I ह्रदय राखि कौसलपुर राजा II, हरिजन जानि प्रीति अति गाढ़ी। सजल नयन पुलकावलि बाढ़ी॥, मंगल भवन अमंगल हारी I द्रवहु सुदसरथ अजिर बिहारी II, हरि अनंत हरि कथा अनंता I कहहि सुनहि बहुबिधि सब संता II, दीन दयाल बिरिदु संभारी । हरहु नाथ मम संकट भारी।I, माता पिता की सेवा करें....बुजुर्गों का ख्याल रखें...अपनी प्रतिभा और आचरण से देश का नाम रौशन करें...

सोमवार, 6 जून 2022

आइकन्स ऑफ भारत” दिखायेगा साधारण भारतीयों की सफलता की अनसुनी कहानियां

icon-of-bhara-on-ndv
मुंबई : फ्रीडम ऐप  ने एनडीटीवी नेटवर्क के साथ मिलकर अपने तरह का एक अनूठा शो ‘आइकन्स ऑफ भारत’ लॉन्च किया है। इसमें भारतीय किसानों, सूक्ष्‍म-आन्त्रप्रेन्योर और गृहणियों की सफलता की अनसुनी कहानियां दिखाई जाएंगी। भले ही इन लोगों का जीवन साधारण नजर आए, लेकिन वास्तविकता में उन्होंने एक असाधारण जिंदगी जी है। वे अपने कौशल को लाभदायक खेती और कारोबारी उपक्रमों में बदल रहे हैं।  बआइकन्स ऑफ भारत एक टेलीविजन सीरीज है, जिसमें उन लोगों की वास्तविक कहानियां दर्शायी गई हैं जोकि एक बेहतर भारत बनाने के लिये प्रतिबद्ध हैं। हम उन उद्यमियों और किसानों का सम्मान करते हैं, जिन्होंने सारी कठिनाइयों से लड़कर, छोटे उद्योगों, अपने खेतों या फिर अपने घरों से अपनी आजीविका विकसित कर वित्तीय सफलता हासिल की।  एनडीटीवी इंडिया पर 14 एपिसोड वाली इस सीरीज का प्रसारण 5 जून, 2022; रविवार रात 9:30 से 10:30 बजे तक किया जाएगा, जिसका रिपीट एपिसोड आने वाले शनिवार को रात 9:30 प्रसारित होगा।  ‘आइकन्स ऑफ भारत’, अपने-अपने क्षेत्रों में सफल हुए लोगों की सफलता की कहानियों को पेश करके लाखों भारतीयों को प्रेरित करना चाहता है। हमारे आइकन विभिन्न क्षेत्रों से आते हैं - कृषि, घरेलू बैंकिंग, कैंडल मेकिंग, चॉकलेट मेकिंग, रियल एस्टेट एजेंट और कई अन्य। इस शो का उद्देश्य भारतीयों को यह बताना है कि किसी कौशल को हासिल करने के लिये बहुत अधिक योग्यता या बड़ी डिग्री की आवश्यकता नहीं होती, बस सीखने और किसी भी पूर्वाग्रह से मुक्त होने का एक बड़ा सपना होता है। सीएस सुधीर द्वारा शुरू किए गए फ्रीडम ऐप जैसे प्लेटफॉर्म के माध्यम से मनपसंद कौशल को हासिल करना आसान हो गया है और अब बस व्यापार खड़ा करके उनकी जिंदगी को बदलने की प्रतिबद्धता की जरूरत है।  सीएस सुधीर, फाउंडर एवं सीईओ, इंडियन मनी डॉट कॉम का कहना है, “भारत वैश्विक सुपरपावर बनने की अपनी राह पर चल रहा है और यह हरेक उद्यमी और हरेक भारतीय के अर्थव्यवस्था के विकास में योगदान देने की दिशा में बढ़ाए गए कदम की वजह से संभव हो पाया है। हालांकि, इसे अक्सर नजरअंदाज कर दिया जाता है। इस तरह ‘आइकन्स ऑफ भारत’ के पीछे का विचार सामने आया…जैसा कि हमारा मानना है कि ये ऐसे लोग हैं जिनका सम्मान किया जाना चाहिये। उनमें मौजूदा और आने वाली पीढ़ी को प्रभावित करने की ताकत है।” डॉ.प्रणॉय रॉय, सह-संस्थापक, एनडीटीवी का कहना है, “एनडीटीवी ‘आइकन्स ऑफ भारत’ के साथ जुड़कर बहुत खुश है- जोकि भारत में सफल कहानियों पर ध्‍यान केंद्रित करेगा। 

कोई टिप्पणी नहीं: