मधुबनी : नगर निगम की योजनाओं को लेकर जिला प्रशासन गंभीर - Live Aaryaavart (लाईव आर्यावर्त)

Breaking

प्रबिसि नगर कीजै सब काजा I ह्रदय राखि कौसलपुर राजा II, हरिजन जानि प्रीति अति गाढ़ी। सजल नयन पुलकावलि बाढ़ी॥, मंगल भवन अमंगल हारी I द्रवहु सुदसरथ अजिर बिहारी II, हरि अनंत हरि कथा अनंता I कहहि सुनहि बहुबिधि सब संता II, दीन दयाल बिरिदु संभारी । हरहु नाथ मम संकट भारी।I, माता पिता की सेवा करें....बुजुर्गों का ख्याल रखें...अपनी प्रतिभा और आचरण से देश का नाम रौशन करें...

शुक्रवार, 24 जून 2022

मधुबनी : नगर निगम की योजनाओं को लेकर जिला प्रशासन गंभीर

  • डीएम -एसपी ने बैठक कर दिए कई निर्देश। फुटकर विक्रेताओं के हित में वेंडिंग जोन का होगा निर्माण पूरी सख्ती के साथ लगातार चलेगा अतिक्रमण अभियान बीच सड़क पर ईट, बालू, गिट्टी  आदि रखने वालो से जुर्माना वसूलने का निर्देश।
  • सड़कों पर बने गड्ढे को अविलंब दुरुस्त करने का दिया निर्देश। नगर क्षेत्र में जल जमाव को रोकना जिला प्रशासन की सर्वोच्च प्राथमिकता। नगर निगम क्षेत्र में वर्षाजल के समुचित निस्तारण के लिए सोख्ता निर्माण पर  भी होगा कार्य। हाई मास्ट टावर लाइट होगा दुरुस्त। यातायात नियंत्रण और अपराध नियंत्रण को लेकर सीसीटीवी कैमरे लगाने का निर्देश।

madhubani-dm-meeting
मधुबनी, जिलाधिकारी की अध्यक्षता में  नगर निगम, मधुबनी के आधारभूत संरचना एवं समग्र विकास हेतु विभागवार योजनाओं की समीक्षात्मक बैठक का आयोजन समाहरणालय स्थित सभाकक्ष में  की गई। जिलाधिकारी ने नगर निगम मधुबनी के क्षेत्राधीन संचालित विभिन्न सरकारी योजनाओं की व्यापक समीक्षा किया एवम कई आवश्यक दिशा निर्देश दिए ।उन्होंने  नए बस पड़ाव की सुविधा उपलब्ध करवाने हेतु चयनित स्थल के लिए विभागीय अनुमति प्राप्त करने के निर्देश दिए ।  नगरीय क्षेत्र में फुटकर विक्रेताओं के हित में वेंडिंग जोन के निर्माण के लिए भी निर्देश दिए और कहा  कि चनित स्थलों पर वेंडर जोन एवम नो वेंडर जोन के साइन बोर्ड भी लगाए एवम पूरी सख्ती से इसका अनुपालन सुनिश्चित करवाये। जिलाधिकारी ने नगर निगम को पूर्ण रूप से अतिक्रमण मुक्त किए जाने का  संकल्प जाहिर करते हुए उन जगहों पर अतिक्रमण मुक्ति अभियान चलाए जाने के निर्देश दिए हैं, जिसे अभी तक अतिक्रमण मुक्त नहीं कराया जा सका है। उन्होंने अतिक्रमण मुक्ति अभियान के बाद पुनः उस स्थल को अतिक्रमित किए जाने पर गहरी नाराजगी व्यक्त की। उन्होंने ऐसे लोगों से जुर्माना राशि वसूलने और उनके सामान को जब्त करने के निर्देश दिए हैं। इसके लिए अधिकारियों को निरंतर निगरानी करने  को कहा गया है। इतना ही नहीं, उन्होंने बीच सड़क पर ईट, बालू, गिट्टी  या अन्य निजी वस्तुओं को रखने वाले लोगों से भी जुर्माना राशि वसूलने के निर्देश दिए हैं। उन्होंने सड़क पर अव्यवस्थित पार्किंग से रोज लगने वाले जाम को देखते हुए पदाधिकारियों को इसके खिलाफ मुहिम चलाने और कड़ी कार्रवाई करने के निर्देश दिए हैं। उन्होंने नगर निगम क्षेत्र में सड़कों पर बने गड्ढे से आमजनों को हो रही परेशानियों का भी जिक्र किया और संबंधित अधिकारियों  को नगर भ्रमण कर उसे तत्काल दुरुस्त करवाने के निर्देश दिए हैं। 


जिलाधिकारी द्वारा बरसात के दिनों में नगर निगम में बने नालों की साफ सफाई और नाला निर्माण की भी समीक्षा की गई। उन्होंने जल्द से जल्द शेष बचे कार्य को पूर्ण कराने के निर्देश दिए हैं। उन्होंने कहा कि नगर क्षेत्र में जल जमाव को रोकना जिला प्रशासन की प्राथमिकता है। ऐसे में सभी संबंधित अधिकारी* तत्पर होकर इसका निदान करें।  उन्होंने नगर निगम के अंतर्गत खराब पड़े चापाकलों की मरम्मती की जानकारी भी ली और भीड़ भाड़ वाले जगहों के पास मूत्रालयों के निर्माण के निर्देश दिए हैं। उन्होंने कहा कि नगर निगम द्वारा सार्वजनिक मूत्रालयों के निर्माण से स्वच्छता के विचार को बढ़ाया जा सकेगा।  जिलाधिकारी ने नगर निगम मधुबनी से सटे सड़क के निर्माण के संबंध में बरती गई लापरवाही पर गहरी नाराजगी व्यक्त की और इसके लिए जिम्मेवार अभियंता पर प्रपत्र क गठित करने के निर्देश दिए हैं। उन्होंने कहा कि यह कार्य नगर निगम के आंतरिक संसाधन से जनहित में कार्य करने का एक उदाहरण प्रस्तुत कर सकता है, परंतु इसमें अनावश्यक विलंब किया जा रहा है, जिसे स्वीकार नहीं किया जाएगा।  उन्होंने नगर निगम क्षेत्र में वर्षाजल के समुचित निस्तारण के लिए सोख्ता निर्माण को भी पायलट प्रोजेक्ट के रूप में निर्माण करने पर बल दिया ताकि अनावश्यक जल जमाव से निजात मिल सके और भूगर्भीय जल का स्तर भी बना रह सके। जिलाधिकारी द्वारा नगर निगम क्षेत्र में स्ट्रीट लाइट और हाई मास्ट टावर लाइट की स्थिति की भी समीक्षा की गई। उन्होंने विभिन्न जगहों पर लगाए गए हाई मास्ट टावर लाइट को दुरुस्त करवाने के लिए आवश्यक कदम उठाने के निर्देश दिए हैं।  इसके अतिरिक्त नगर निगम क्षेत्र में चिल्ड्रंस पार्क की स्थापना, गोशाला समिति का संचालन, ट्रेंचिग ग्राउंड, सम्राट अशोक भवन के निर्माण, गर्ल्स मेनन हाई स्कूल के पुनरुद्धार सहित नगर निगम के विभिन्न जगहों पर यातायात नियंत्रण और अपराध नियंत्रण के दृष्टिकोण से सीसीटीवी लगाए जाने के लिए आवश्यक कदम उठाए जाने के निर्देश दिए हैं। उक्त बैठक में पुलिस अधीक्षक सुशील कुमार, अपर समाहर्ता अवधेश राम, उप विकास आयुक्त, विशाल राज, प्रभारी पदाधिकारी जिला गोपनीय शाखा सुरेंद्र राय, अनुमंडल पदाधिकारी, सदर, अश्वनी कुमार, नगर आयुक्त, राकेश कुमार सहित जिले के सभी वरीय पदाधिकारी उपस्थित थे।

कोई टिप्पणी नहीं: