मधुबनी : विधिव्यवस्था को लेकर वर्चुअल माध्यम से किया बैठक - Live Aaryaavart (लाईव आर्यावर्त)

Breaking

प्रबिसि नगर कीजै सब काजा I ह्रदय राखि कौसलपुर राजा II, हरिजन जानि प्रीति अति गाढ़ी। सजल नयन पुलकावलि बाढ़ी॥, मंगल भवन अमंगल हारी I द्रवहु सुदसरथ अजिर बिहारी II, हरि अनंत हरि कथा अनंता I कहहि सुनहि बहुबिधि सब संता II, दीन दयाल बिरिदु संभारी । हरहु नाथ मम संकट भारी।I, माता पिता की सेवा करें....बुजुर्गों का ख्याल रखें...अपनी प्रतिभा और आचरण से देश का नाम रौशन करें...

मंगलवार, 21 जून 2022

मधुबनी : विधिव्यवस्था को लेकर वर्चुअल माध्यम से किया बैठक

  • डीएम - एसपी ने जिले में विधिव्यवस्था संधारण को लेकर जिले के सभी संबधित पदाधिकारियो के साथ वर्चुअल माध्यम से किया बैठक ।
  • भारत सरकार द्वारा घोषित अग्निपथ योजना के विरोध स्वरूप हो रहे प्रदर्शन को देखते हुए विधि-व्यवस्था संधारण हेतु लगातार सतर्कता बरतने एवम उपद्रवी तत्वों पर नजर बनाये रखने का दिया निर्देश। 

madhubani-dm
मधुबनी, जिलाधिकारी अरविन्द कुमार वर्मा ने कहा कि विधि-व्यवस्था का संधारण सरकार की सर्वोच्च प्राथमिकता है। सभी पदाधिकारी इसके लिए तत्पर एवं प्रतिबद्ध रहें।  उन्होंने सभी संबधित पदाधिकारियो को गृह विभाग के निदेशों का अक्षरशः अनुपालन सुनिश्चित करने का निदेश दिया।   विधि-व्यवस्था संधारण हेतु चिन्हित संवेदनशील स्थानों सहित जिले में दंडाधिकारी एवं पुलिस पदाधिकारी एवं पुलिस बल की संयुक्त गश्ती टीम  लगातार पेट्रोलिंग करते हुए कड़ी निगरानी एवं सतर्कता बरते।  सभी प्रतिनियुक्त दंडाधिकारी, पुलिस पदाधिकारी एवं पुलिस बल  अपने-अपने प्रतिनियुक्ति स्थल पर निर्धारित स्थल एवं समय पर अनिवार्य रूप से उपस्थित होकर अपने-अपने कर्तव्यों का निर्वहन करेंगे।  संवेदनशील स्थानों के संबंध में *आसूचनाओं का संग्रहण कर उसे चिन्हित करते हुए पूर्व आवश्यक प्रशासनिक तैयारियाँ सुनिश्चित करेंगे। विरोध के दौरान दर्ज प्राथमिकी से संबंधित संलिप्त व्यक्तियों की पहचान करते हुए उनकी गिरफ्तारी सुनिश्चित की जाय।   निरोधात्मक गिरफ्तारी भी सुनिश्चित की जाय। छात्रों के लॉजों में औचक, सघन तथा निरोधात्मक छापामारी करायी जाय। अपने-अपने क्षेत्र में फ्लैग मार्च कराना सुनिश्चित किया जाय।किसी भी प्रकार की आकस्मिक परिस्थिति से निपटने हेतु त्वरित प्रत्युत्तर बल  Quick Response Teams ( क्यूआरटी) को 24 घण्टे तैयार रखा जाय । अशांति फैलाने वाले असामाजिक तत्वों पर कड़ी कार्रवाई की जाय।  स्थानीय थाना के स्तर पर भी सतत् पुलिस पेट्रोलिंग कराते हुए कड़ी निगरानी एवं सतर्कता बरती जाय।  रेलवे स्टेशनों पर रेलवे सुरक्षा बलों (RPF) के सहयोगार्थ दंडाधिकारी सहित पुलिस पदाधिकारी एवं पर्याप्त संख्या में पुलिस बल की प्रतिनियुक्ति की जाय।आकस्मिकता से निपटने हेतु आवश्यक उपकरणों यथा वाटर कैनन, अश्रु गैस एवं लाठी टीमों का गठन कर लिया जाय। वरीय पदाधिकारियों को महत्वपूर्ण एवं संवेदनशील स्थलों पर प्रतिनियुक्त करते हुए उनके साथ विडियोग्राफर की भी उपलब्धता सुनिश्चित करायी जाय।  अनुमंडल पदाधिकारी एवं अनुमंडल पुलिस पदाधिकारी अपने-अपने क्षेत्रों में निरंतर गतिशील रहते हुए स्थिति पर प्रभावी नियंत्रण रखेंगे।  सभी एसडीओ एवम एसडीपीओ उक्त निर्देश के मद्देनजर अपने-अपने क्षेत्र में सभी प्रकार की आवश्यक तैयारियों की फुलप्रूफ व्यवस्था कराते हुए स्थिति पर निरंतर एवं सतत् निगरानी रखेगे 

कोई टिप्पणी नहीं: