गर्भवती शिक्षिका की चाकू से मार कर हत्या - Live Aaryaavart (लाईव आर्यावर्त)

Breaking

विजयी विश्व तिरंगा प्यारा , झंडा ऊँचा रहे हमारा। देश की आज़ादी के 75 वर्ष पूरे होने पर सभी देशवासियों को अनेकानेक शुभकामनाएं व बधाई। 'लाइव आर्यावर्त' परिवार आज़ादी के उन तमाम वीर शहीदों और सेनानियों को कृतज्ञता पूर्ण श्रद्धासुमन अर्पित करते हुए नमन करता है। आइए , मिल कर एक समृद्ध भारत के निर्माण में अपनी भूमिका निभाएं। भारत माता की जय। जय हिन्द।

बुधवार, 1 जून 2022

गर्भवती शिक्षिका की चाकू से मार कर हत्या

pregnant-teacher-murder
अयोध्या (उप्र), एक जून, अयोध्या में कोतवाली थाना क्षेत्र के श्रीरामपुरम कॉलोनी में बुधवार को अज्ञात बदमाशों ने पांच माह की गर्भवती शिक्षिका की धारदार चाकू से वारकर हत्या कर दी । पुलिस अधीक्षक नगर विजय पाल सिंह ने बताया कि दोपहर को बदमाश उसके घर में घुसे और चाकुओं से उसपर हमला कर दिया। उनके अनुसार पुलिस ने घटना की जांच करने के लिए टीम गठित कर दी हैं । सिंह ने बताया कि अम्बेडकरनगर जिले के जलालपुर थाना क्षेत्र में पठानपुर अतरौली की शिक्षिका सुप्रिया वर्मा (35) अपने पति एवं मां के साथ अयोध्या में रहती थीं । वह अयोध्या जिले के बीकापुर तहसील के अस्करनपुर प्राथमिक विद्यालय में पढ़ाती थीं। उनके पति उमेश वर्मा भी सरकारी शिक्षक हैं। पुलिस अधीक्षक के अनुसार बुधवार को करीब 11 बजे उमेश अपने रिश्तेदार के घर गये थे, जो उसी मोहल्ले में है । उस समय सुप्रिया घर में अकेली थी । पुलिस के मुताबिक इसी बीच सुप्रिया के पिता के दोस्त अनुराग प्रजापति जब पहुंचे तो उन्होंने देखा कि दरवाजा अंदर से बंद है, बार-बार खटखटाने पर भी दरवाजा नहीं खुला तो उन्हें शक हुआ और उन्होंने उनके पति को फोन किया । इस दौरान उसकी मां और पति घर पहुंचे और जब दरवाजा खोला गया तो देखा कि सुप्रिया खून से लथपथ पड़ी थी और उन्हें तुरंत फैजाबाद मेडिकल कॉलेज ले जाया गया, जहां डॉक्टरों ने उन्हें मृत घोषित कर दिया। मृतक के शरीर पर चाकू से वार के निशान मिले हैं। समाजवादी पार्टी अध्यक्ष अखिलेश यादव ने कानून व्यवस्था के मुददे पर सरकार को घेरा । उन्होंने ट्वीट किया,'अयोध्या में दिनदहाड़े गर्भवती शिक्षिका की चाकुओं से गोदकर की गयी हत्या का समाचार दुखद है।श्रद्धांजलि!अयोध्या में जगह-जगह सुरक्षा बलों की उपस्थिति के बाद भी ऐसी हत्या,शासन-प्रशासन को अपराधियों की खुली चुनौती है। भाजपा के राज में शिक्षक सरकार और अपराधियों दोनों के निशाने पर हैं।’

कोई टिप्पणी नहीं: