रामाकृष्णा ने पैरा निशानेबाजी विश्व कप में स्वर्ण पदक जीता - Live Aaryaavart (लाईव आर्यावर्त)

Breaking

प्रबिसि नगर कीजै सब काजा I ह्रदय राखि कौसलपुर राजा II, हरिजन जानि प्रीति अति गाढ़ी। सजल नयन पुलकावलि बाढ़ी॥, मंगल भवन अमंगल हारी I द्रवहु सुदसरथ अजिर बिहारी II, हरि अनंत हरि कथा अनंता I कहहि सुनहि बहुबिधि सब संता II, दीन दयाल बिरिदु संभारी । हरहु नाथ मम संकट भारी।I, माता पिता की सेवा करें....बुजुर्गों का ख्याल रखें...अपनी प्रतिभा और आचरण से देश का नाम रौशन करें...

बुधवार, 8 जून 2022

रामाकृष्णा ने पैरा निशानेबाजी विश्व कप में स्वर्ण पदक जीता

  • पेरिस 2024 पैरालंपिक कोटा हासिल किया

नयी दिल्ली, आठ जून, श्रीहर्षा देवाराडी रामाकृष्णा फ्रांस के चेटियारो में चल रहे पैरा निशानेबाजी विश्व कप में मिश्रित 10 मीटर एयर राइफल एसएच2 स्पर्धा का स्वर्ण पदक जीतकर पेरिस पैरालंपिक 2024 के लिए कोटा हासिल करने वाले दूसरे भारतीय पैरा निशानेबाज बने। रामाकृष्णा ने फाइनल में 253.1 अंक के साथ स्वर्ण पदक अपने नाम किया। स्लोवेनिया के फ्रांसेक टिरसेक (252.6) ने रजत जबकि टेंगाय डि ला फोरेस्ट (230.3) ने कांस्य पदक अपने नाम किया। रामाकृष्णा से पहले मंगलवार को तोक्यो 2020 पैरालंपिक चैंपियन अवनी लेखरा ने प्रतियोगिता के पहले दिन विश्व रिकॉर्ड बनाते हुए स्वर्ण पदक जीता था और पेरिस पैरालंपिक कोटा हासिल करने वाली पहली भारतीय पैरा निशानेबाज बनीं थी। आर2 महिला 10 मीटर एयर राइफल स्टैंडिंग एसएच1 स्पर्धा में बीस साल की अवनी ने 250.6 अंक के साथ 249.6 के अपने ही विश्व रिकॉर्ड को तोड़कर स्वर्ण पदक जीता। पोलैंड की एमीलिया बाबस्का ने 247.6 अंक के साथ रजत पदक जीता जबकि कांस्य पदक स्वीडन की अना नोर्मन के नाम रहा जिन्होंने 225.6 अंक जुटाए। अवनी ने भारतीय पैरालंपिक समिति (पीसीआई) से कहा, ‘‘यह प्रतियोगिता मेरे लिए काफी महत्वपूर्ण है क्योंकि यह तोक्यो खेलों के बाद पहला टूर्नामेंट है। इस टूर्नामेंट से मुझे यह समझने में मदद मिलेगी कि मैंने उन विभिन्न पहलुओं पर कितनी प्रगति की है जिन पर मैं काम कर रही थी।’’ उन्होंने कहा, ‘‘साथ ही यह मेरे नए उपकरणों के साथ मेरी पहली प्रतियोगिता थी और इससे मुझे अपने खेल का आकलन करने में मदद मिलेगी और मैं जान पाऊंगी कि मुझे आगे क्या बदलाव करने की जरूरत है।’’ तोक्यो 2020 पैरालंपिक में दो पदक जीतने वाली अवनी ने कहा, ‘‘इस साल मेरा लक्ष्य लगातार अपने खेल का विश्लेषण और जरूरी सुधार करना है। मेरा लक्ष्य है कि मैं ऐसी निशानेबाज बनूं जिसके प्रदर्शन में निरंतरता हो और उम्मीद करती हूं कि इस दौरान पदक भी जीतूंगी।’’ चेटियारो विश्व कप में 13 पैरा निशानेबाज भारत का प्रतिनिधित्व कर रहे हैं। बुधवार को पैरालंपिक पदक विजेता मनीष नरवाल और सिंहराज अधाना पी6 10 मीटर एयर पिस्टल मिश्रित टीम स्पर्धा में चुनौती पेश करेंगे।

कोई टिप्पणी नहीं: