विदिशा (मध्य प्रदेश) की खबर 13 जून - Live Aaryaavart (लाईव आर्यावर्त)

Breaking

प्रबिसि नगर कीजै सब काजा I ह्रदय राखि कौसलपुर राजा II, हरिजन जानि प्रीति अति गाढ़ी। सजल नयन पुलकावलि बाढ़ी॥, मंगल भवन अमंगल हारी I द्रवहु सुदसरथ अजिर बिहारी II, हरि अनंत हरि कथा अनंता I कहहि सुनहि बहुबिधि सब संता II, दीन दयाल बिरिदु संभारी । हरहु नाथ मम संकट भारी।I, माता पिता की सेवा करें....बुजुर्गों का ख्याल रखें...अपनी प्रतिभा और आचरण से देश का नाम रौशन करें...

सोमवार, 13 जून 2022

विदिशा (मध्य प्रदेश) की खबर 13 जून

विदेश में निवासरत डॉ. संजीव आनन्द श्रीवास्तव ने श्रीहरि वृद्धाश्रम के वृद्धजन को कराई उज्जैन तीर्थ यात्रा


vidisha-news
विदिषा-13 जून 2022/ स्थानीय सनराइजर्स स्कूल एवं कॉलेज संचालक डॉ. संजीव आनन्द श्रीवास्तव विदेश में रह कर भी अपने संस्कार नही भूले और उन्होंने अपने बेटे के जन्मदिन पर विदिशा के श्रीहरि वृद्धाश्रम के सभी बुज़ुर्गों को  उज्जैन के भगवान महाकालेश्वर दर्शन हेतु स्पेशल बस से भेजा और उनके ठहरने व भोजन की उचित व्यवस्था भी की। उनकी इस यात्रा के सारथी बने सनराइजर्स एज्यूकेशन ग्रुप के प्राचार्य बीपी सिंह और उनका स्टाफ और आश्रम संचालक  श्रीमती इंदिरा शर्मा तथा वेदप्रकाश शर्मा ने टीम के साथ बुज़ुर्गों की देखभाल  अपने 14 सहयोगियों के  साथ की। रास्ते मे सोनकच्छ में गीता भवन में श्रीहरि वृद्धाश्रम के वृद्धजन का परम्परागत स्वागत रोटरी क्लब के सदस्यों ने किया। सभी वृद्धजन की स्वल्पाहार की व्यवस्था के साथ ही उनके पैर पखार-तिलक कर माला पहना कर बुज़ुर्गों का आशीर्वाद लिया। बुजुर्गाे पर पुष्प वर्षा कर यात्रा को आगे की ओर प्रस्थान कराया। सभी वृद्धजन को शीतल ओर शुद्ध जल पीने हेतु रोटरी क्लब के पूर्व मंडल अध्यक्ष सत्यनारायण लाठी, क्लब के पूर्व गवर्नर, डॉ ज़ालिम हुसैन, सुरेश चंद यादव, राजेश यादव और क्लब के सचिव रविन्द्र नायक के सौजन्य से 5 पानी के केम्पर भेंट किए गए। इस अवसर पर रोटरी क्लब सोनकच्छ के   बबलू यादव, पूर्व अध्यक्ष सत्य नारायण गजेश्वर, सोभागसिंह ठाकुर, मोहन सिंह बघेल,, शंकर लाल शर्मा, संजय सेठी, राजेन्द्र जाजू, सतीश चंद्र तिवारी, आगामी अध्यक्ष दिनेश कारपेंटर, आगामी सचिव दिनेश राठौर ,दीपक जोशी, धर्मेंद्र मनोरिया, जीवनसिंह गुर्जर सहित उपस्थित सभी सदस्यों ने उत्साह और उमंग के साथ वृद्धजन का स्वागत किया। रास्ते मे बुजुर्ग ढोल मंजीरों ओर ढोलक पर भजनों की थाप देते हुए नृत्य करते हुए महाकालेश्वर मंदिर पहुंचे और भगवान महाकाल के दर्शन कर पुण्य प्राप्त किया।


मुख्यमंत्री श्री चौहान से मिले निर्विरोध निर्वाचित पंचायत पदाधिकारी


मुख्यमंत्री श्री शिवराज सिंह चौहान से आज प्रातः निवास पर प्रदेश के निर्विरोध निर्वाचित  हुए कुछ पंचायत पदाधिकारियों ने भेंट की। मुख्यमंत्री श्री चौहान ने निर्विरोध निर्वाचित पंचायत पदाधिकारियों को बधाई दी। उन्होंने पंचायत पदाधिकारियों द्वारा जन कल्याण के लिए सक्रिय रुप से भूमिका  निभाने की अपेक्षा की। मुख्यमंत्री श्री चौहान से विदिशा जिले की कुरवाई जनपद  सदस्य श्रीमती ममता ठाकुर महाराज सिंह डाबरी ने विधायक श्री हरि सिंह सप्रे के साथ भेंट की। इसी तरह विदिशा जिले की  भौंरासा ग्राम पंचायत में निर्विरोध निर्वाचित सरपंच श्रीमती चंद्रा उदय सिंह चौहान के सुपुत्र श्री सोनू चौहान ने भेंट की इस पंचायत में  बीस पंच भी निर्विरोध निर्वाचित हुए हैं। विदिशा जिले के ही ग्राम पंचायत भदारबड़ागांव में भी  बी कॉम के विद्यार्थी श्री सौरभ दांगी निर्विरोध सरपंच बने हैं। इनके साथ 11 पंच भी निर्विरोध निर्वाचित हुए हैं। सौरभ के परिवार द्वारा पूर्व में भी पंचायत राज संस्थाओं में नेतृत्व किया गया है। इस अवसर पर श्री तोरण सिंह दांगी, अध्यक्ष जिला पंचायत विदिशा उपस्थित थे।



द्वितीय चरण का प्रशिक्षण 18 से


त्रि-स्तरीय पंचायत आम निर्वाचन प्रक्रिया को जिले में सुव्यवस्थित रूप से सम्पन्न कराए जाने हेतु मतदान दलों के अधिकारियों हेतु द्वितीय चरण का प्रशिक्षण 18 से 20 जून तक आयोजित किया गया है। कलेक्टर श्री उमाशंकर भार्गव ने सोमवार को नवीन कलेक्ट्रेट के बेतवा सभागार कक्ष में आयोजित बैठक में पूर्व उल्लेखित जानकारी देते हुए बताया कि द्वितीय चरण के प्रशिक्षण में मतदान दलों के अधिकारी, कर्मचारियों को उसी विकासखण्ड के प्रशिक्षण में शामिल होना होगा जिस विकासखण्ड में उनकी निर्वाचन प्रक्रिया को सम्पन्न कराए जाने हेतु ड्यूटी लगाई गई है। कलेक्टर श्री भार्गव ने बताया कि द्वितीय चरण का प्रशिक्षण जिन विकासखण्डो पर आयोजित किया गया है उसमें आयोग के निर्देशानुसार इस बात का पूरा-पूरा ध्यान रखा गया है कि प्रशिक्षण प्राप्त करने वाले मतदान दल के सभी अधिकारी, कर्मचारी तीन निर्धारित बिन्दुओं का पालन तो नहीं कर रहे है जिसमें सबसे पहले उस विकासखण्ड का मतदाता नहीं होना चाहिए। उस विकासखण्ड का मूल निवासी नहीं होना चाहिए साथ ही उस विकासखण्ड में पदस्थ नहीं होना चाहिए। ऐसे कर्मचारियों को तीनो बिन्दुओं का पालन करते हुए दूसरे-दूसरे विकासखण्डो में त्रि-स्तरीय पंचायत निर्वाचन प्रक्रिया के मतदान व मतगणना संबंधी कार्यो के संपादन हेतु पीठासीन अधिकारी, मतदान दल अधिकारी क्रमशः एक, दो, तीन, चार के दायित्व सौंपे जाएंगे।


प्रकोष्ठ को दो शिकायते प्राप्त हुई


त्रि-स्तरीय पंचायत आम निर्वाचन से संबंधी शिकायतों की प्राप्ति हेतु जिला मुख्यालय पर कंट्रोल रूम संचालित किया जा रहा है जिसका दूरभाष क्रमांक 07592-233390 है। शिकायत प्रकोष्ठ के नोडल अधिकारी व जिला पंचायत के अतिरिक्त सीईओ श्री दयाशंकर सिंह ने बताया कि जिला पंचायत में संचालित होने वाले जिला स्तरीय शिकायत निवारण प्रकोष्ठ को अब तक मात्र दो शिकायते प्राप्त हुई है जिनका निराकरण किया जा चुका है। उन्होंने सभी ग्रामीणजनों से आव्हान किया है कि त्रि-स्तरीय पंचायत निर्वाचन प्रक्रिया से संबंधित किसी भी प्रकार की शिकायत हो तो उल्लेखित दूरभाष पर अवगत कराने का कष्ट करें ताकि समय सीमा में उनका निराकरण किया जा सकें। 


शासकीय वाहनों से प्रथम चरण का भ्रमण करें


कलेक्टर श्री उमाशंकर भार्गव ने सोमवार को लंबित आवेदनों की समीक्षा बैठक के दौरान जिले में त्रि-स्तरीय पंचायतों के आम निर्वाचन हेतु श्रेणीबद्ध संपादित होने वाले कार्यो की सभी समीक्षा की है। कलेक्टर श्री भार्गव ने जिले के ऐसे सभी अधिकारी जिन्हें सेक्टर आफीसर का दायित्व सौंपा गया है वे अपने-अपने सेक्टर के सभी मतदान केन्द्रों का शीघ्रतिशीघ्र भ्रमण कर अपनी रिपोर्ट जिला कार्यालय को उपलब्ध कराना सुनिश्चित करें। कलेक्टर श्री भार्गव ने कहा कि सभी सेक्टर आफीसरों को विभिन्न शासकीय विभागो के वाहनो को अधिग्रहण कर उपलब्ध कराया गया है। अतः शासकीय वाहनों का ही उपयोग कर सेक्टर आफीसर कार्यक्षेत्रों के मतदान केन्द्रो का भ्रमण कर रिपोर्ट प्रस्तुत करेंगे। कलेक्टर श्री भार्गव ने वाहनों के अधिग्रहण व सेक्टर आफीसरों को वाहन आवंटन करने के संबंध में  संबंधित क्षेत्र के एसडीएम व तहसीलदार को आवश्यक निर्देश दिए है। 


विभागीय योजनाओं का पूर्वानुसार क्रियान्वयन करें


कलेक्टर श्री उमाशंकर भार्गव ने सोमवार को लंबित आवेदनों की समीक्षा बैठक के दौरान समस्त विभागों के जिलाधिकारियों से कहा कि निर्वाचन आयोग द्वारा नवीन कार्यो व स्वीकृति पर आचार संहिता के दायरे अनुसार प्रतिबंध लगाया गया है किन्तु पूर्व में जो संचालित योजनाएं है उनके पूर्वानुसार पात्र हितग्राहियों को योजनाओं के लाभ की दूसरी, तीसरी किश्तो से वंचित नहीं किया जाएगा। कलेक्टर श्री भार्गव ने सामाजिक न्याय विभाग के उप संचालक को निर्देश दिए है कि विभिन्न प्रकार की पेंशन प्राप्त करने वाले हितग्राही पेंशन राशि से वंचित ना रहें। उन्हें समय पर पेंशन की राशि मिलें इसी प्रकार शासकीय योजनाओं के तहत पूर्वानुसार क्रियान्वित कार्यो का क्रियान्वयन यथावत् जारी रहें। अतः विभागों के अधिकारी आचार संहिता का उदाहरण देकर पूर्व स्वीकृत व लाभांवित होने वाले हितग्राहियों को आवंटित की जाने वाली राशि को कदापि रोके ना। उन्होंने कहा कि किन्ही भी नए प्रकरणों में किसी भी प्रकार की स्वीकृति प्रदाय नहीं की जानी है अतः नए प्रकरण स्वीकार ना करें।


विशेष परिस्थितियों में निर्वाचन कार्यो से मुक्त करें


कलेक्टर श्री उमाशंकर भार्गव ने सोमवार को लंबित आवेदनों की समीक्षा बैठक के दौरान समस्त विभागों के जिलाधिकारियों को सचेत करते हुए कहा कि जिन अधिकारी, कर्मचारियों को निर्वाचन संबंधी कार्य सौंपे गए है उन्हें विशेष परिस्थितियों में निर्वाचन कार्यो से मुक्त करने की अनुशंसा उनके आवेदनों पर कारणों को रेखांकित करते हुए जिला कार्यालय को प्रेषित कराना सुनिश्चित करें। कलेक्टर श्री भार्गव ने उच्च शिक्षा विभाग एवं स्कूल शिक्षा विभाग के अधिकारियों को स्पष्ट निर्देश दिए है कि परीक्षा आयोजनों में संलग्न अधिकारी, कर्मचारियों को निर्वाचन कार्यो से पूर्णतः मुक्त नहीं किया जा सकता है। अतः ऐसे अधिकारी, कर्मचारी की समुचित जानकारी अपर कलेक्टर को उपलब्ध कराएं जिसमें इस बात का स्पष्ट उल्लेख हो कि कौन सी परीक्षा है किस तिथि को है और कितने बजे तक। ताकि परीक्षा दिवस अवधि को निर्वाचन कार्य से पृथक किया जा सकें। उन्होंने कहा कि दोनो विभागों के माध्यम से ऐसे अनेक आवेदन प्राप्त हो रहे है कि अमूक अधिकारी, कर्मचारी को परीक्षा सम्पन्न कराने हेतु जबावदेंही सौंपी गई है किन्तु उसमें यह कहीं उल्लेख नहीं है कि परीक्षा कब होनी है। अतः ऐसे अवकाश संबंधी आवेदन अब जिला कार्यालय को कदापि प्रेषित ना किए जाए। 
 

जल संचय के कार्यो को सर्वोच्च प्राथमिकता से पूरा कराएं-कलेक्टर


कलेक्टर श्री उमाशंकर भार्गव ने सोमवार को जल अभिषेक अभियान के तहत संपादित किए जाने वाले कार्यो की समीक्षा की। ग्यारसपुर के वन भूमि क्षेत्र में तालाब निर्माण संबंधी कार्यो में हो रही दिक्कतों पर असंतोष जाहिर करते हुए उन्होंने बैठक में ही विभाग के एसडीओ को सख्त निर्देश दिए है कि जल संचय संबंधी कार्य कही भी कदापि रोकने के कार्य ना किए जाएं। कलेक्टर श्री भार्गव ने योजनावार संपादित कराए जाने वाले कार्यो की गहन समीक्षा के दौरान जल संसाधन विभाग और आरईएस के कार्यपालन यंत्रियों को निर्देश दिए है कि ग्रामीण क्षेत्रों में जो नवीन तालाबों का निर्माण कार्य कराया जा रहा है उन स्थलों का भ्रमण अवश्य करें साथ ही तालाब में जल भराव उपरांत निकासी (बेस्टवेयर) के रूट का चिन्हांकन का अवश्य जायजा लें ताकि किसी भी तालाब की मेढ पानी के बहाव के कारण टूट फूट ना सकें। कलेक्टर श्री भार्गव ने कहा कि जल मानव जीवन के लिए अतिआवश्यक है अतः जितना अधिक हम संचय कर सकेंगे उतना अधिक वाटर लेवल ऊपर आएगा। अतः वर्षारूपी जल का अधिक से अधिक भूमि के अन्दर संचय हो के नैतिक दायित्व का निर्वहन करते हुए अधिक से अधिक जल संचय संरचनाओं का निर्माण समय सीमा के पूर्व कराया जाना सुनिश्चित करें। कलेक्टर श्री भार्गव ने इस दौरान तालाबों के निर्माण कार्यो को पूर्ण कराने में हो रही दिक्कतों की जानकारी संबंधित ग्राम पंचायत की निर्माण ऐजेन्सी से संवाद कर प्राप्त की है। जिला पंचायत सीईओ डॉ योगेश भरसट ने बताया कि विदिशा जिले के सभी विकासखण्डों में 15-15 नवीन तालाबों का निर्माण कार्य सभी विकासखण्डो में किया जा रहा है। उन्होंने जिले में चिन्हित 27 आदर्श तालाबों का निर्माण कार्य पूर्ण होने की जानकारी दी। उन्होंने बताया कि पुष्कर धरोहर योजना के तहत पुराने तालाबो का जीर्णोद्वार कार्य जारी है। इस बैठक में प्रधानमंत्री आवास सामग्री एप की कार्यप्रणाली से विस्तारपूर्वक अवगत कराया गया। जिसमें बताया गया कि पीएमएवाय-जी एवं आवास सामग्री एप का उद्धेश्य वर्ष 2024 तक सभी के लिए मकान, सभी बेघर परिवारों तथा कच्चे टूटे-फूटे मकानो में रहने वाले परिवारोंं को बुनियादी सुविधायुक्त पक्का मकान उपलब्ध कराना है। इस उद्धेश्यों को पूर्ण करने के लिए परिवारों को सस्ते तथा प्रति स्पर्धी मूल्यों पर आवास निर्माण सामग्री एवं सेवाएं सुलभता से मिल सकें इसके लिए आवास सामग्री एप का निर्माण किया गया है। विक्रेता तथा सेवा प्रदाता जीवंत रूप से जिले तथा जनपदवार उपलब्ध रहेंगे। जिन्हें क्रेता 24 घंटे सातों दिन अपनी आवश्यकतानुसार स्वंय या सामूहिक आर्डर दें सकेंगे। जिला पंचायत सीईओ डॉ भरसट ने पावर प्रेजेन्टेशन के माध्यम से आवास सामग्री एप पोर्टल की विशेषताएं, उपयोगकर्ता, यूजर रजिस्ट्रेशन इत्यादि की विस्तृत जानकारी दी। उपरोक्त बैठक में विभिन्न विभागों के जिलाधिकारी मौजूद रहें। 


एमपी पीएससी की प्रारंभिक परीक्षा 19 को आठ परीक्षा केन्द्रों पर आयोजित


vidisha-news
मध्यप्रदेश राज्य सेवा एवं राज्य वन प्रारंभिक परीक्षा रविवार 19 जून को आयोजित की गई है। विदिशा जिले में परीक्षा के मद्देनजर किए जाने वाले प्रबंधों की समीक्षा डिप्टी कलेक्टर एवं परीक्षा की नोडल अधिकारी श्रीमती अनुभा जैन ने आज कलेक्ट्रेट के सभाकक्ष में की। डिप्टी कलेक्टर श्रीमती अनुभा जैन ने बताया कि एमपीपीएससी की प्रारंभिक परीक्षा विदिशा जिले के आठ परीक्षा केन्द्रों पर एक साथ आयोजित की गई है इन केन्द्रों पर कुल 3702 परीक्षार्थी शामिल होकर परीक्षा देंगे। परीक्षा केन्द्र का नाम व शामिल होने वाले छात्रों की संख्या इस प्रकार से है। मानसरोवर अकादमी हरिपुरा विदिशा में 300 छात्र परीक्षा देंगे। इसी प्रकार साकेत एमजीएम सीनियर सेकेण्डरी स्कूल में 400, अशासकीय एसएसएल जैन उच्चतर माध्यमिक विद्यालय में 350, शासकीय कन्या (नोडल) कॉलेज विदिशा में 400 जबकि सम्राट अशोक टैक्नोलॉजिकल इस्टीट्यूट पॉलिटेक्निक कॉलेज में 600 परीक्षार्थी परीक्षा देंगे। शासकीय उत्कृष्ट हायर सेकेण्डरी स्कूल में 500, इसी प्रकार शासकीय महारानी लक्ष्मीबाई कन्या हायर सेकेण्डरी स्कूल में भी 500 तथा सम्राट अशोक टैक्नोलॉजिकल इस्टीट्यूट इंजीनियरिंग कॉलेज के परीक्षा केन्द्र में 652 परीक्षार्थी परीक्षा में शामिल होंगे।  बैठक में परीक्षा आयोजन के संबंध में राज्य लोक सेवा आयोग के द्वारा जारी दिशा निर्देशों के संबंध में डिप्टी कलेक्टर श्रीमती अनुभा जैन के द्वारा गहन प्रकाश डाला गया जिसमें परीक्षा प्रारंभ से लेकर समाप्ति तक बरती जाने वाली सावधानियां तदानुसार परीक्षार्थियों को परीक्षा कक्ष में किन-किन सामग्री को ले जाने की अनुमति होगी इत्यादि की भी विस्तृत जानकारी दी गई है। 


तीन प्रकरणों में जिला बदर के आदेश जारी


कलेक्टर एवं जिला दण्डाधिकारी श्री उमाशंकर भार्गव ने पुलिस अधीक्षक के पालन प्रतिवेदन पर तीन प्रकरणों में जिला बदर के आदेश जारी कर दिए है। कलेक्टर द्वारा जारी आदेश में उल्लेख है कि थाना शमशाबाद अंतर्गत विभिन्न अपराधों में लिप्त दो तदानुसार अनावेदक अकील खां उर्फ पन्नी उर्फ गिकटई खां पुत्र सड्डू खां मेवाती निवासी बडाखेडा ग्राम करमेडी, अनावेदक गुलाब सिंह पुत्र धारू सिंह गुर्जर उम्र 30 साल निवासी ग्राम दुदनखेडी हाल ग्राम रगरू तथा सिविल लाइन थाना विदिशा में दर्ज अपराधों में लिप्त अनावेदक इमरान खां पुत्र फैज खां उम्र 29 वर्ष निवासी ग्राम धनोरा हवेली उपरोक्त तीनो अनावेदकों के विरूद्व मध्यप्रदेश राज्य सुरक्षा अधिनियम के अंतर्गत जिला बदर का आदेश एक वर्ष के लिए जारी किया गया है। उक्त अवधि में विदिशा जिला एवं सीमावर्ती जिला रायसेन, भोपाल, गुना, अशोकनगर, सागर, राजगढ़ की राजस्व सीमा से एक वर्ष की कालावधि के लिए उसे निष्कासित किया गया है। 


ईव्हीएम की कार्यप्रणाली से मतदाता हो रहे जागरूक


मध्यप्रदेश राज्य निर्वाचन आयोग द्वारा नगरीय निकाय आम निर्वाचन वर्ष 2022 हेतु जारी कार्यक्रम अनुसार आज सोमवार को पीठासीन अधिकारियों और मतदान अधिकारी क्रमांक वन के द्वारा निकाय क्षेत्रों में पहुंचकर आमजनों को मतदान के दौरान होने वाली ईव्हीएम मशीन का प्रदर्शन किया गया है। मास्टर ट्रेनर्सों के द्वारा आमजनों की सुविधा हेतु ईव्हीएम मशीन का प्रदर्शन लगातार जारी रहेगा। इस अवसर पर मास्टर ट्रेनर श्री विजय कुमार श्रीवास्तव, श्री आरपी गुप्ता, श्री आरके ठाकुर, श्री केसी अहिरवार, श्री जेपी माहोर, श्री वीरेंद्र यादव, श्री बलवीर सिंह रघुवंशी सहित अन्य अधिकारियों ने आमजनों को बताया कि नगरीय निकाय क्षेत्रों में मतदान ईवीएम मशीन के द्वारा सम्पन्न होगा। जिसमें कंट्रोल यूनिट और बैलेट यूनिट के द्वारा आमजनों को शासकीय उत्कृष्ट विद्यालय विदिशा, शासकीय कन्या उच्चतर माध्यमिक विद्यालय शेरपुरा, सीएम राइज शासकीय उमावि बरईपुरा के अलावा नगर पालिका और हाट बाजारों और तहसील परिसर में ईवीएम मशीन का प्रदर्शन करते हुए मास्टर ट्रेनर श्री विजय कुमार श्रीवास्तव ने बताया कि नगरीय निकाय चुनाव का समय प्रातः 7 बजे से सांय 5 बजे तक रहेगा। प्रथम चरण का मतदान 6 जुलाई एवं द्वितीय चरण का मतदान 13 जुलाई को निकाय क्षेत्रों में संपन्न होगा।



मतदान दल के अधिकारी, कर्मचारी प्रशिक्षित हुए


प्रथम चरण के प्रशिक्षण के उपरांत शेष रह गए पीठासीन अधिकारियों और मतदान अधिकारी क्रमांक वन को मास्टर ट्रेनर श्री विजय कुमार श्रीवास्तव के द्वारा तहसील सभाकक्ष में त्रिस्तरीय पंचायत आम निर्वाचन 2022 एवं नगरीय निकाय आम निर्वाचन वर्ष 2022 हेतु ट्रेनिंग दी गई है। ट्रेनिंग के दौरान मास्टर ट्रेनर श्री विजय कुमार श्रीवास्तव एवं श्री केसी अहिरवार के द्वारा मतदान संबंधी आवश्यक जानकारी से अवगत कराया गया है। श्री विजय कुमार श्रीवास्तव ने बताया कि यदि किसी भी प्रकार की कोई भी परेशानी होती है तो मतदान दल के अधिकारी, कर्मचारी निर्धारित किए गए मोबाइल नंबर पर जानकारी प्राप्त कर सकते हैं।



13 वर्षीय बालिका का बाल विवाह रोका, परिजनों को दी समझाइश


vidisha-news
विदिशा के लालधाऊ स्थित आंगनबाड़ी केंद्र की कार्यकर्ता को प्राप्त सूचनाओं के आधार पर उन्होंने वस्तुस्थिति से वरिष्ठ अधिकारियों को अवगत कराया कि आंगनबाडी केन्द्र के समीप ही बाल विवाह होने की तैयारियां चल रही है।महिला एवं बाल विकास परियोजना अधिकारी श्री संजय सिंह एवं सेक्टर पर्यवेक्षक प्रज्ञा पटेल घटना स्थल पर पहुंचे इसके साथ ही चाइल्ड लाइन की टीम एवं पुलिस भी मौके पर पहुंची। मामले की जांच करने पर पाया गया कि बालिका नाबालिग है। बालिका के परिवारजनों को समझाईंश दी गई है कि बाल विवाह कराना अथवा करना दोनो कानूनन अपराध है। बालिका की आयु 18 वर्ष होने के उपरांत ही विवाह करें। दल की समझाईंश व पहल पर उक्त बाल विवाह रोका गया है। 


इग्नू के विभिन्न पाठ्यक्रमों हेतु आवेदन आमंत्रित


इन्दिरा गाँधी राष्ट्रीय मुक्त विश्वविद्यालय, द्वारा संचालित लगभग 230 से भी अधिक अकादमिक पाठ्यक्रमों में जुलाई सत्र 2022 के लिए प्रवेष प्रारंभ किया गया हैं। इस सत्र हेतु प्रवेष प्रक्रिया पूर्णतः ऑनलाइन रखी गई हैं और इच्छुक विद्यार्थी सरलता पूर्वक अपने प्रमाण पत्रों को अपलोड कर तथा डिजिटल माध्यम से शुल्क का भुगतान कर, इग्नू जो कि NAAC  द्वारा A+ + का सर्वोच्च ग्रेड प्रदत्त् विष्वविद्यालय हैं उसमें प्रवेष प्राप्त कर सकते हैं।  डॉ. मंजू जैन, प्राचार्य एवं समन्वयक इग्नू अध्ययन केन्द्र (15245) शासकीय कन्या महाविद्यालय, विदिषा ने बताया कि  जुलाई सत्र 2022 से इग्नू ने कुछ नए पाठयक्रम भी प्रारंभ किए हैं जो युवाओं एवं अन्य षिक्षार्थियों के कौषल विकास तथा ज्ञान संवर्धन में लाभदायक होंगें। स्नातक स्तर पर चॉइस बेस्ड क्रेडिट स्सिटम के अंतर्गत, 14 विधाओं में सामान्य स्नातक तथा 14 विषयों मे ऑनर्स उपाधि के साथ स्नातक पाठ्यक्रम उपल्बध हैं।  विद्यार्थियों को अनेक विषयों को चुनने तथा आधारभूत विषयों को पढने का अवसर प्राप्त होंता हैं, जिससे छात्रों को स्नातक स्तर के उपरान्त प्रतियोगी परीक्षाओ में लाभ हो सके। इस सत्र से उर्दू  में बी0ए0 ऑनर्स की भी उपाधि प्रारंभ की गई हैं। परास्नातक स्तर पर 48 पाठ्यक्रम संचालित किए जा रहे हैं जिसमें एम0ए0 ज्योतिष, संस्कृत, उर्दू, पर्यावरण विज्ञान, पत्रकारिता, जेडर स्टडिज, ग्रामिण विकास, मानव विज्ञान, परामर्ष, हिन्दी में व्यवसायिक लेखन, नवीनिकरण उर्जा एवं पर्यावरण तथा अन्य विषय सम्मिलित हैं। पोस्ट ग्रेजुएट डिप्लोमा स्तर पर 48 पाठ्यक्रम एवं पोस्ट ग्रेजुएट सर्टीफिकेट स्तर पर 15 पाठ्यक्रम, डिप्लोमा स्तर पर 25 तथा 06 माह के 70 सर्टीफिकेट पाठ्यक्रम जुलाई सत्र मे उपल्बध होगें। जुलाई सत्र में एम0बी0ए0 पाठ्यक्रम में भी प्रवेष बिना किसी प्रवेष परीक्षा के प्रदान किया जाएगा। इग्नू के एम0बी0ए0 एवं एम0सी0ए0 पाठ्यक्रमों को ए0आई0सी0टी0ई0 नई दिल्ली द्वारा मान्यता प्रदान की गई हैं। जुलाई सत्र 2022 से प्रबंधन पाठ्यक्रम के 04 विषेषतावाली विधाओं प्रवेष उपलब्ध हैं जिनमें से मार्केटींग मैनेजमैंट, फाईनेन्षियल मैनेजमैंट, ह्युमन रीसोर्स मैनेजमैंट एवं ऑपरेषन मैनेजमैंट मुख्य हैं । इसके अतिरिक्त प्रबंधन पाठ्यक्र्रम (एमबीए) सामान्य रुप से विद्यार्थियों के लिए उपलब्ध होगा। इन पाठयक्रमों को पूर्ण रुप से नविनीकृत किया गया है जिससे व्यापार एवं प्रबंधन क्षेत्र में वांछित कौषल को विद्यार्थियों में विकसित किया जा सकें। इन पाठ्यक्रमो को प्रबंधन क्षेत्र के प्रसि़द्ध विद्वानों ने उद्योगों के नवीन आवष्यकताओं एवं वर्तमान समय की अपेक्षाअें को ध्यान मे रखके निर्मित किया हैं। यह कार्यक्रम सामन्य स्नातक विद्यार्थियों तथा कार्यरत् व्यक्तियों के कौषल अभिवृद्धि के लिए अत्यन्त सहायक सिद्ध होगा।  इग्नू में अनेक भाषाओं जैसे फ्रेचं, जर्मन, रुसी, उर्दू  एवं फारसी में भी 06 माह का पाठ्यक्रमों का भी  संचालन कर रहा हैं तथा संस्कृत भाषा के ज्ञान हेतु संस्कृत संभाषण में भी प्रमाण पत्र उपल्बध हैं। कुछ पाठ्यक्रमों को पूर्णतः ऑनलाइन माध्यम से संचालित किया जा रहा है। यदि छात्र ऑनलाइन माध्यम का विकल्प चुनते है तो उन्हें पाठ्य सामग्री तथा समस्त शैक्षिणिक गतिविधियां ऑनलाइन रखी जाएगी। इन पाठ्यक्रमो मे से मुख्यतः पर्यटन संबधित , गाँधी और शांति अध्ययन , विदेशी भाषा एवं हिन्दी तथा अनुवाद अध्ययन, प्रबंधन, एम0सी0ए0 के परास्नातक स्तर के पाठ्यक्रम सम्मिलित हैं। इच्छुक छात्र इन पाठ्यक्रमो को ऑफ़लाइन मोड से भी अध्ययन कर सकते है।  ऑनलाइन माध्यम से शैक्षणिक गतिविधियों को संचालित करने से विद्यार्थियों को अपने समय एवं स्थान के स्वत्रंता के अनुसार अध्ययन करने का अवसर प्राप्त होगा। प्राचार्या ने यह भी बताया की हाल में ही हुए इग्नू और कौशल विकास और उद्यमिता मंत्रालय भारत सरकार के बीच समझौता ज्ञापन के अनुसार मध्यप्रदेष के हर जिले के नोडल आई0टी0आई0 को इग्नू-एम0एस0डी0ाई0 प्रसार केन्द्र खोलने कार्यवाही की जा रही हैं। इन केन्द्रों के माध्यम से आई0टी0आई0 के छात्रों को उच्च षिक्षा से जुडने का अवसर प्राप्त होगा। इग्नू  अपने समस्त शैक्षणिक गतिविधियों को छात्रों तक पहुचाने के लिए अनेक तकनीक साधनो का प्रयोग करता है जिनमें मुख्यतह टीवी, रेडियों एवं ऑनलाइन सेवाएं जैसे ज्ञान दर्षन , ज्ञान धारा, स्वयंप्रभा सम्मिलित हैं। यदि कोई पाठ्यक्रम अध्ययन केन्द्र पर उपलब्ध नहीं होता है तो भी इच्छुक विद्यार्थी इग्नू क्षेत्रीय केन्द्र भोपाल स्थित अध्ययन केन्द्र पर प्रवेष ले सकते है और उनकी पूर्ण विद्यार्थी सहायता की जाएगी। इसके अतिरिक्त छात्रों की काउसलिंग अनेक सोषल मिडिया एवं वर्चूअल प्लैटफार्म के माध्यम से ऑनलाइन करायी जाएगी। प्रवेश  से संबधिंत किसी भी अधिक जानकारी हेतु इच्छुक छात्र इग्नू की ई-मेल rcbhopal@ignou.ac.in पर संपर्क कर सकते हैं।



नगरीय निकाय आम निर्वाचन 2022 : निकाय क्षेत्रों में कुल 11 नाम निर्देशन पत्र प्राप्त हुए


नगरीय निकाय आम निर्वाचन 2022 के तहत आयोग द्वारा जारी कार्यक्रम अनुसार नाम निर्देशन पत्रों की प्राप्ति का कार्य विदिशा जिले के सभी निकाय क्षेत्रों में नियत समयावधि तक किया जा रहा है। उप जिला निर्वाचन अधिकारी श्रीमती अमृता गर्ग ने बताया कि विदिशा जिले की निकाय क्षेत्रों में सोमवार 12 जून को कुल 11 निर्देशन पत्र प्राप्त हुए है जिले की नगरपालिका विदिशा में छह एवं बासौदा में एक तथा सिरोंज में दो नाम निर्देशन पत्र प्राप्त हुए है जबकि नगर परिषद कुरवाई में दो तथा नगर परिषद शमशाबाद एवं लटेरी में आज एक भी नाम निर्देशन पत्र दाखिल नहीं हुआ है। क्रमांक 110 अहरवाल

कोई टिप्पणी नहीं: