बिहार : जनता दरबार में महिला ने पुलिस पर लगाया 12 लाख में बिकने का आरोप - Live Aaryaavart (लाईव आर्यावर्त)

Breaking

विजयी विश्व तिरंगा प्यारा , झंडा ऊँचा रहे हमारा। देश की आज़ादी के 75 वर्ष पूरे होने पर सभी देशवासियों को अनेकानेक शुभकामनाएं व बधाई। 'लाइव आर्यावर्त' परिवार आज़ादी के उन तमाम वीर शहीदों और सेनानियों को कृतज्ञता पूर्ण श्रद्धासुमन अर्पित करते हुए नमन करता है। आइए , मिल कर एक समृद्ध भारत के निर्माण में अपनी भूमिका निभाएं। भारत माता की जय। जय हिन्द।

सोमवार, 6 जून 2022

बिहार : जनता दरबार में महिला ने पुलिस पर लगाया 12 लाख में बिकने का आरोप

women-blame-police-in-janta-darbar-bihar
पटना : बिहार में हर सोमवार को राजधानी पटना स्थित मुख्यमंत्री आवास पर जनता दरबार लगाया जाता है। इस कार्यक्रम के तहत आज के दिन मुख्यमंत्री द्वारा भूमि एवं राजस्व सहित कई अन्य विभागों की शिकायतें सुनी जा रही है। इसी कड़ी में लोक शिकायत विभाग से जुड़ी एक ऐसी जानकारी सामने आई जिसे जानकर सभी लोग भौचक्का रह गए। दरअसल,इस सोमवार को दर्जनों ऐसे मामले आये हैं जिसमें लोक शिकायत ने निर्णय दिया, इसके बाद भी अंचल के सीओ व अन्य अधिकारी कार्रवाई नहीं कर रहे। लगातार मिल रही शिकायत से जहां मुख्यमंत्री नीतीश कुमार काफी चिंतित दिखे, वहीं, पश्चिम चंपारण से आई एक महिला ने सीएम नीतीश से ऐसी शिकायत की सीएम खुद को रोक नहीं पाए और उन्होंने तुरंत डीजीपी को फोन लगा दिया। बेतिया से आई महिला ने मुख्यमंत्री ने कहा कि हमारी बेटी की ससुराल वालों ने दहेज के कारण जहर देकर हत्या कर दी। शादी के 26 दिनों बाद ही उसके पति,सास-ससुर ने मिलकर हत्या कर दी। लेकिन, इसकी शिकायत करने के बाद भी आज तक कोई कार्रवाई नहीं की गई। थाना प्रभारी भी 12 लाख रू में बिक गया है। लड़के का बाप आज ड्यूटी कर रहा है। अब आप ही सीएम साहब हमें न्याय दे सकते हैं, कुछ न्याय दीजिए। इस पर मुख्यमंत्री ने डीजीपी को फोन लगाकर कहा कि महिला की शिकायत पर तुरंत एक्शन लीजिए, और हमें इस बारे में सूचित कीजिए। इधर, एक अन्य मामले में आई एक महिला फरियादी ने सीएम से मिलने के लिए अलग से समय की मांग कर दी। महिला फरियादी ने कहा कि सर आपका अलग से टाइम चाहिए … सर मेरी बात सुन लीजिए… अलग से मुझे समय चाहिए … मैं पार्टी की जदयू कार्यकर्ता हूं… मोहितारी से आई डॉ कुमकुम मुख्यमंत्री के सामने ये बातें कहती रही, लेकिन सीएम के अंगरक्षक ने उन्हें अपनी जगह से उठा दिया। हालांकि, मुख्यमंत्री ने इतना जरूर कहा कि आपकी समस्या को मैंने पढ़ लिया है। हम मामले को दिखावा लेते हैं। नीतीश कुमार आज पुलिस, गृह विभाग, और प्रशासनिक मामलों की सुनवाई कर रहे हैं। वहीं, इस बार के जनता दरबार में सबसे अधिक मामले जमीन से जुड़े हुए नजर आ रहे हैं। इसी कड़ी में मुख्यमंत्री से एक फरियादी ने कहा कि गांव के दबंग लोगों द्वारा गांव की सरकारी सड़क को बंद कर दिया गया है जिस पर मुख्यमंत्री गुस्सा हो गए और उन्होंने तुरंत इस मामले में जांच करने को कहा।

कोई टिप्पणी नहीं: