भूटान को हरसंभव मदद करता रहेगा भारत : तोमर - Live Aaryaavart (लाईव आर्यावर्त)

Breaking

विजयी विश्व तिरंगा प्यारा , झंडा ऊँचा रहे हमारा। देश की आज़ादी के 75 वर्ष पूरे होने पर सभी देशवासियों को अनेकानेक शुभकामनाएं व बधाई। 'लाइव आर्यावर्त' परिवार आज़ादी के उन तमाम वीर शहीदों और सेनानियों को कृतज्ञता पूर्ण श्रद्धासुमन अर्पित करते हुए नमन करता है। आइए , मिल कर एक समृद्ध भारत के निर्माण में अपनी भूमिका निभाएं। भारत माता की जय। जय हिन्द।

बुधवार, 20 जुलाई 2022

भूटान को हरसंभव मदद करता रहेगा भारत : तोमर

india-will-help-bhutan-in-agriculture-sector-tomar
नयी दिल्ली, 20 जुलाई, केंद्रीय कृषि मंत्री नरेंद्र सिंह तोमर व भूटान के आर्थिक मामलों के मंत्री लोकनाथ शर्मा के बीच बैठक में बुधवार को अनेक मुद्दों पर चर्चा हुई। इस दौरान श्री तोमर ने श्री शर्मा के अनुरोध पर कहा कि कृषि क्षेत्र में भूटान को भारत ने काफी सहयोग किया है और आगे भी हरसंभव मदद करता रहेगा। केंद्रीय कृषि मंत्री ने भूटान के मंत्री श्री शर्मा सहित प्रतिनिधिमंडल का स्वागत करते हुए दोनों देशों के बीच लंबे समय से चले आ रहे मैत्रीपूर्ण संबंधों पर प्रसन्नता जताई, साथ ही कहा कि श्री नरेंद्र मोदी ने प्रधानमंत्री बनने के बाद विदेशों में सबसे पहले भूटान की ही यात्रा की, जिससे यह बात और भी मजबूती से प्रकट होती है। श्री तोमर ने कहा कि इस मैत्री को बढ़ाने के लिए भारत उदारतापूर्वक सहयोग करता रहा है। दोनों देशों के बीच व्यापारिक साझेदारी भी बढ़ी है तथा भारत इस बात का पक्षधर है कि इसे और प्रगाढ़ होना चाहिए। केंद्रीय कृषि एवं किसान कल्याण मंत्रालय तथा अन्य मंत्रालय भूटान के प्रति सहानुभूतिपूर्वक विचार कर निर्णय लेते रहे हैं। उन्होंने कहा कि हम भूटान से विभिन्न कृषि उत्पादों के लिए भारतीय बाजार खोलने पर भी काम कर रहे हैं। भूटान के अनुरोध पर उसे भारत में अदरक निर्यात एवं एक और वर्ष के लिए आलू निर्यात की अनुमति प्रदान की गई है। श्री तोमर ने आश्वासन दिया कि दोनों देश कृषि क्षेत्र में साथ काम करते रहेंगे एवं आंतरिक व बाहरी विषयों को ध्यान में रखते हुए, हम भूटान के अनुरोध पर जब भी जरूरत हो, सकारात्मक दृष्टिकोण रखेंगे। भूटान के मंत्री श्री शर्मा ने भूटान को चीनी की आपूर्ति सहित विभिन्न मामलों में सहयोग करने के लिए भारत को धन्यवाद दिया। श्री शर्मा ने कहा कि कृषि के मुद्दे हमारे लिए महत्वपूर्ण हैं। वे दोनों देशों के बीच दोस्ती बढ़ाने के लिए भारत आए हैं। उन्होंने अदरक व आलू निर्यात के संबंध में भूटान के अनुरोध पर भारत द्वारा समर्थन के लिए धन्यवाद व्यक्त किया। श्री शर्मा ने अनुरोध किया कि भारत को सुपारी निर्यात के संबंध में हमारे अनुरोध पर जल्द से जल्द विचार किया जाएं व फल-सब्जियों के संबंध में व्यापार एक- दूसरे के लिए वर्तमान रूप में जारी रखा जाएं तथा मुक्त व्यापार के जरिये एक-दूसरे को सहयोग बढ़ाया जाएं। 

कोई टिप्पणी नहीं: