गया : इस वर्ष पितृपक्ष मेला का आयोजन 09 सितंबर से 25 सितंबर तक - Live Aaryaavart (लाईव आर्यावर्त)

Breaking

विजयी विश्व तिरंगा प्यारा , झंडा ऊँचा रहे हमारा। देश की आज़ादी के 75 वर्ष पूरे होने पर सभी देशवासियों को अनेकानेक शुभकामनाएं व बधाई। 'लाइव आर्यावर्त' परिवार आज़ादी के उन तमाम वीर शहीदों और सेनानियों को कृतज्ञता पूर्ण श्रद्धासुमन अर्पित करते हुए नमन करता है। आइए , मिल कर एक समृद्ध भारत के निर्माण में अपनी भूमिका निभाएं। भारत माता की जय। जय हिन्द।

रविवार, 31 जुलाई 2022

गया : इस वर्ष पितृपक्ष मेला का आयोजन 09 सितंबर से 25 सितंबर तक

gaya-news-today
गया: इस जिले के जिला पदाधिकारी, गया डॉ० त्यागराजन एसएम की अध्यक्षता में विष्णुपद अवस्थित आवास सदन समिति के सभाकक्ष में पितृपक्ष मेला 2022 के सफल आयोजन के लिए बनाये गए विभिन्न कोषांग के पदाधिकारियों के साथ समीक्षा बैठक की गई. बैठक में जिलाधिकारी ने कहा कि इस वर्ष पितृपक्ष मेला का आयोजन 09 सितंबर से 25 सितंबर तक निर्धारित है. पितृपक्ष मेला के सफल आयोजन के लिए अलग अलग कार्य समिति का गठन किया गया है. सभी पदाधिकारियों को कहा कि अपने अपने कोषांग अंतर्गत दिए गए कार्य को अपने देखरेख में अनुपालन करावे. विश्व प्रसिद्ध पितृपक्ष मेला को ध्यान में रखते हुए बुडको द्वारा जलापूर्ति योजना के लिए विष्णुपद क्षेत्र सहित जिले के विभिन्न स्थानों पर पाइप बिछाने के क्रम में काटे गए सड़कों को जिला पदाधिकारी के पहल से तेजी से सड़को को रिस्टोर करवाया जा रहा है ताकि पितृपक्ष मेला के पहले सभी सड़कें बिल्कुल फंक्शनल रहे. यात्रियों को किसी प्रकार की कोई असुविधा ना हो इसके लिए जिला प्रशासन द्वारा हर तरह की मुकम्मल व्यवस्था करवाने के लिए अग्रसारित है. जिला पदाधिकारी ने कार्यपालक अभियंता बुडको को सख्त हिदायत दिया कि विष्णुपद मेला क्षेत्र में बिना नगर आयुक्त या जिला पदाधिकारी के अनुमति के बगैर किसी प्रकार का सड़को को काटने का कार्य नहीं करेंगे. मेला क्षेत्र के छोड़ कर अन्य जगहों पर आप पाइप लाइन बिछाने के लिए रोड कटिंग करने का कार्य करें. उन्होंने कहा कि ’वर्तमान समय में वैसे सड़के जो विष्णुपद मंदिर की ओर जाती है, उस बीच में जो भी काटे गए सड़के हैं उसे 5 अगस्त तक सड़क निर्माण करने का कार्य करें. अन्यथा संबंधित अभियंता एवं संवेदक के विरुद्ध कठोर कार्रवाई की जाएगी.’ उन्होंने कहा कि मरम्मति गैंग की संख्या बढ़ाकर तेजी से सड़कों का रिस्टोर करावे. पेयजल के समीक्षा के दौरान उन्होंने कार्यपालक अभियंता पीएचईडी को निर्देश दिया कि मेला क्षेत्र में हर 200 से 500 मीटर के बीच पेयजल व्यवस्था रखें. इसके लिए अभी से ही संबंधित पंडा जी एवं वरीय अधिकारियों के साथ समीक्षा और आकलन तैयार कर ले. जिला पदाधिकारी ने उपस्थित पंडा समाज के प्रतिनिधियों को कहा कि प्रशासन द्वारा की जा रही तैयारी के अतिरिक्त यदि कहीं भी पेयजल, शौचालय, स्नानागार इत्यादि की आवश्यकता है, तो संबंधित जगहों की सूची उपलब्ध करावे. नगर आयुक्त, गया नगर निगम ने बताया कि 66 स्थानों पर टॉयलेट, 20 स्थानों पर चेंजिंग रूम तथा 29 स्थानों पर स्नानागार की व्यवस्था कराई जा रही है. इसके लिए सभी इक्विपमेंट्स की खरीदारी की जा चुकी है. 15 अगस्त के बाद संबंधित कार्यों को संबंधित स्थानों पर लगाने का कार्य करना प्रारंभ किया जाएगा. बैठक में कार्यपालक अभियंता पीएचईडी द्वारा बताया गया कि जिला प्रशासन द्वारा प्राप्त आवासन स्थल की सूची के आलोक में कुल 168 टॉयलेट को मरम्मत करने का कार्य प्रारंभ किया गया है.जिला पदाधिकारी ने यात्री आवासन स्थल, पुलिस आवासन स्थल, वेदी स्थल, पार्किंग स्थल, मेला क्षेत्र इत्यादि स्थानों में नगर निगम तथा कार्यपालक अभियंता पीएचईडी द्वारा किए जा रहे कार्यों का अच्छे से आकलन कर प्रतिवेदन उपलब्ध करावे. बैठक में जिला पदाधिकारी ने कार्यपालक अभियंता, विद्युत विभाग को निर्देश दिया कि मेला क्षेत्र में ट्रांसफार्मर की समस्या, जर्जर तारों को बदलने का कार्य, बिजली पोल में करंट आने की शिकायत इत्यादि को ठीक कराते हुए ’20 अगस्त तक सभी कार्य दुरुस्त किए गए हैं, से संबंधित प्रतिवेदन देना सुनिश्चित करें ताकि यह माना जाएगा कि आपके द्वारा मेला क्षेत्र में सभी आवश्यक कार्य गुणवत्तापूर्वक पूर्ण किए गए हैं.’ बैठक में वरीय पुलिस अधीक्षक ने कहा कि मेला क्षेत्र में पर्याप्त स्थानों पर वाच टावर लगवाएं ताकि पुलिस के जवानों को वायरलेस सिस्टम के साथ प्रतिनियुक्त किया जा सके. उन्होंने निर्देश दिया कि इस वर्ष पितृपक्ष मेला में काफी अधिक संख्या में श्रद्धालु आने की संभावना है। इसके लिए हर हाल में भीड़ नियंत्रण के लिए पब्लिक एड्रेस सिस्टम को दुरुस्त रखा जाए. उन्होंने पंडा समाज के प्रतिनिधियों को कहा कि पितृपक्ष मेला अवधि में यातायात व्यवस्था को और स्मूथ रखने के उद्देश्य से पुलिस के जवानों का स्पेशल डिप्लॉयमेंट किया जाएगा. उन्होंने अनुमंडल पदाधिकारी सदर को निर्देश दिया कि किन किन स्थानों पर बैरिकेडिंग की व्यवस्था, ड्राप गेट की आवश्यकता, वन वे ट्रैफिक प्लान इत्यादि किया जाना है, इस पर अभी से ही प्लान तैयार कर ले.

कोई टिप्पणी नहीं: