बुजुर्गों के लिए रेल किराया रियायत फिर शुरू करें : राहुल-प्रियंका - Live Aaryaavart (लाईव आर्यावर्त)

Breaking

प्रबिसि नगर कीजै सब काजा I ह्रदय राखि कौसलपुर राजा II, हरिजन जानि प्रीति अति गाढ़ी। सजल नयन पुलकावलि बाढ़ी॥, मंगल भवन अमंगल हारी I द्रवहु सुदसरथ अजिर बिहारी II, हरि अनंत हरि कथा अनंता I कहहि सुनहि बहुबिधि सब संता II, दीन दयाल बिरिदु संभारी । हरहु नाथ मम संकट भारी।I, माता पिता की सेवा करें....बुजुर्गों का ख्याल रखें...अपनी प्रतिभा और आचरण से देश का नाम रौशन करें...

शुक्रवार, 22 जुलाई 2022

बुजुर्गों के लिए रेल किराया रियायत फिर शुरू करें : राहुल-प्रियंका

resume-concession-in-rail-fare-for-elderly-rahul-gandhi
नयी दिल्ली, 22 जुलाई, कांग्रेस के पूर्व अध्यक्ष राहुल गांधी तथा पार्टी महासचिव प्रियंका गांधी वाड्रा ने बुजुर्गों को रेल किराया में रियायत देने की सुविधा वापस लेने पर सरकार के फैसले की आलोचना करते हुए कहा कि सरकार पूंजीपति मित्रों पर देश को लुटा रही है और प्रचार-प्रसार पर अनावश्यक खर्च कर रही है, लेकिन बुजुर्गों के लिए उसके पास पैंसा नहीं है। कांग्रेस नेताओं ने कहा कि बुजुर्गों को रेल किराया में छूट देने की पुरानी व्यवस्था को बहाल करना चाहिए और वरिष्ठ नागरिकों के लिए देश में सम्मान और सेवा की जो भावना और परंपरा रही है उसे हर हाल में बरकरार रखा जाना चाहिए। श्री गांधी ने ट्वीट किया, “विज्ञापनों का ख़र्च 911 करोड़ रुपए, नया हवाई जहाज़ 8,400 करोड़ रुपए, पूंजीपति मित्रों के टैक्स में छूट 1,45,000 करोड़ रुपये प्रति साल लेकिन सरकार के पास बुज़ुर्गों को रेल टिकट में छूट देने के लिए 1500 करोड़ रुपए नहीं हैं। मित्रों के लिए तारे तक तोड़ कर लाएंगे मगर जनता को कौड़ी-कौड़ी के लिए तरसाएंगे।” श्रीमती वाड्रा ने कहा, “भारत में हमेशा से बुजुर्गों के सम्मान एवं सेवा की परंपरा रही है। रेल मंत्री जी, देश के बुजुर्गों से रेल टिकट में मिलने वाली रियायत छीनना बिल्कुल गलत है। इसी सुविधा के जरिए हमारे बूढ़े-बुजुर्ग तीर्थयात्राएं एवं अन्य यात्राएं करते थे। वरिष्ठ जनों के सम्मान में ये निर्णय वापस लीजिए।”

कोई टिप्पणी नहीं: