नीरज चोपड़ा पहली बार वर्ल्डस फाइनल में - Live Aaryaavart (लाईव आर्यावर्त)

Breaking

प्रबिसि नगर कीजै सब काजा I ह्रदय राखि कौसलपुर राजा II, हरिजन जानि प्रीति अति गाढ़ी। सजल नयन पुलकावलि बाढ़ी॥, मंगल भवन अमंगल हारी I द्रवहु सुदसरथ अजिर बिहारी II, हरि अनंत हरि कथा अनंता I कहहि सुनहि बहुबिधि सब संता II, दीन दयाल बिरिदु संभारी । हरहु नाथ मम संकट भारी।I, माता पिता की सेवा करें....बुजुर्गों का ख्याल रखें...अपनी प्रतिभा और आचरण से देश का नाम रौशन करें...

शुक्रवार, 22 जुलाई 2022

नीरज चोपड़ा पहली बार वर्ल्डस फाइनल में

neeraj-chopra-in-the-worlds-final-for-the-first-time
यूजीन 22 जुलाई, मौजूदा ओलंपिक चैंपियन भारत के नीरज चोपड़ा ने गुरुवार (भारत में शुक्रवार सुबह) को अपने पहले विश्व एथलेटिक्स चैंपियनशिप के फाइनल के लिए क्वालीफाई किया। क्वालीफिकेशन ग्रुप-ए में, टोक्यो ओलंपिक 2020 में भारत के लिये पहला ओलंपिक स्वर्ण जीतने वाले एथलीट 24 वर्षीय नीरज ने फाइनल में पहुंचने के अपने पहले प्रयास में 88.39 मीटर का थ्रो रिकॉर्ड किया। अमेरिका के यूजीन में हो रही विश्व एथलेटिक्स चैंपियनशिप के फाइनल में पहुंचने के लिए स्वत: योग्यता चिह्न 83.50 मीटर आंका गया है। नीरज के अलावा, चेक गणराज्य के टोक्यो ओलंपिक रजत पदक विजेता जैकब वाडलेज ने ग्रुप-ए में 85.23 मीटर के थ्रो के साथ स्वचालित योग्यता अंक को तोड़ दिया। नीरज दूसरी बार विश्व चैंपियनशिप में हिस्सा ले रहे हैं। लंदन में 2017 संस्करण में, 24 वर्षीय फाइनल के लिए क्वालीफाई करने में विफल रहे थे। तब नीरज ने 82.26 मीटर थ्रो रिकॉर्ड किया था और फाइनल के लिए क्वालीफाई करने में विफल रहे थे। वह कोहनी की सर्जरी के कारण 2019 में हिस्सा नहीं ले पाये थे। भारत ने विश्व एथलेटिक्स चैंपियनशिप में एकलौता पदक 2003 में जीता था, जब अंजू बॉबी जॉर्ज ने लंबी कूद प्रतियोगिता में कांस्य पदक प्राप्त किया था। अब शीर्ष जैवलिन थ्रोअर नीरज चोपड़ा 19 साल बाद भारत के पदक की उम्मीद बनकर प्रतियोगिता में उतरे हैं। नीरज अपने स्वर्णिम करियर में ओलंपिक, एशियाई खेल, अंडर-20 विश्व, राष्ट्रमंडल खेल और डायमंड लीग में पदक जीत चुके हैं। विश्व चैंपियनशिप एकलौता महत्वपूर्ण आयोजन है जहां उन्होंने अब तक पदक नहीं जीता। इस बार उनसे यह उपलब्धि भी हासिल करने की उम्मीद की जा रही है। पिछले महीने अपना 2022 सत्र शुरू करने वाले नीरज तीन प्रतियोगिताओं में दो बार राष्ट्रीय रिकॉर्ड तोड़ चुके हैं। उन्होंने इस सत्र की शुरुआत फिनलैंड के पावो नुर्मी खेलों में राष्ट्रीय रिकॉर्ड तोड़ते हुए रजत पदक जीतकर की थी। इसके बाद उन्होंने कुओरटाने खेलों में स्वर्ण जीता, जबकि स्टॉकहोम डायमंड लीग में उन्होंने दोबारा राष्ट्रीय रिकॉर्ड तोड़ते हुए 89.94 मीटर के थ्रो के साथ दूसरा स्थान हासिल किया। नीरज के अलावा एक अन्य भारतीय युवा भाला फेंक खिलाड़ी रोहित यादव ने भी फ़ाइनल में जगह बनायी । वह क्वालिफिकेशन में 80.42 मीटर के सर्वश्रेष्ठ प्रयास के साथ 11वें स्थान पर रहे। यह पहली बार है कि दो भारतीय विश्व चैंपियनशिप की भाला फेंक स्पर्धा के फ़ाइनल में पहुंचे हैं जो रविवार (भारत में सोमवार सुबह 7:05 बजे होगा।) इस बीच एल्डहोस पॉल पुरुष तिहरी कूद के फ़ाइनल में पहुंचने वाले पहले भारतीय बने थे। पॉल क्वालिफिकेशन में 16.68 मीटर की सर्वश्रेष्ठ छलांग के साथ ओवरआल 12वें स्थान पर रहे थे। फ़ाइनल रविवार (भारतीय समयानुसार सोमवार सुबह 6:30 बजे) को होगा। क्वालिफाइंग मार्क 17.05 मीटर या सर्वश्रेष्ठ 12 प्रदर्शन थे। दो अन्य भारतीय प्रवीण चितरवेल (16.49) और अब्दुल्ला अबूबकर (16.45) क्रमशः 17वें और 19वें स्थान पर रहे। 

कोई टिप्पणी नहीं: