ओम बिरला ने सभी दलों से सहयोग का आग्रह किया - Live Aaryaavart (लाईव आर्यावर्त)

Breaking

विजयी विश्व तिरंगा प्यारा , झंडा ऊँचा रहे हमारा। देश की आज़ादी के 75 वर्ष पूरे होने पर सभी देशवासियों को अनेकानेक शुभकामनाएं व बधाई। 'लाइव आर्यावर्त' परिवार आज़ादी के उन तमाम वीर शहीदों और सेनानियों को कृतज्ञता पूर्ण श्रद्धासुमन अर्पित करते हुए नमन करता है। आइए , मिल कर एक समृद्ध भारत के निर्माण में अपनी भूमिका निभाएं। भारत माता की जय। जय हिन्द।

शनिवार, 16 जुलाई 2022

ओम बिरला ने सभी दलों से सहयोग का आग्रह किया

birla-urges-all-parties-to-cooperate-for-a-hassle-free-session
नयी दिल्ली 16 जुलाई, लोकसभा अध्यक्ष ओम बिरला ने सोमवार से शुरू हो रहे संसद के मानसून सत्र के पहले सभी राजनीतिक दलों के नेताओं से आग्रह किया कि वे सदन की कार्यवाही को व्यवधान से मुक्त रखने में सहयोग करें और उन्होंने आश्वासन भी दिया कि देश के महत्वपूर्ण मुद्दों पर मर्यादित चर्चा के लिए वह सभी सदस्यों को पूरा मौका देंगे। श्री बिरला ने संसद के पुस्तकालय भवन में आयोजित सर्वदलीय बैठक में यह बात कही। बैठक में संसदीय कार्य मंत्री प्रल्हाद जोशी संसदीय कार्य राज्य मंत्री अर्जुन राम मेघवाल, कांग्रेस के नेता अधीर रंजन चौधरी एवं अन्य दलाें के नेता उपस्थित थे। बैठक के बाद श्री बिरला ने पत्रकारों से बातचीत में कहा, “संसद का सत्र 18 जुलाई से प्रारंभ होकर 12 अगस्त तक चलेगा। सत्र के संबंध में आज सभी दल के नेताओं से विचार विमर्श हुआ। मैंने सभी दलों के नेताओं से आग्रह किया है कि देश के हित में महत्वपूर्ण मुद्दों पर चर्चा करें। सदन बिना हस्तक्षेप के... मर्यादा के साथ चले। सभी दलों के नेताओं ने आश्वस्त किया है कि हम सदन कि कार्यवाही में सहयोग करेंगे।” इससे पहले बैठक में सभी नेताओं का स्वागत करते हुए श्री बिरला ने अवगत कराया कि सत्र 18 जुलाई से प्रारम्भ हो रहा है और 12 अगस्त, 2022 को इसके सम्पन्न होने की संभावना है। उन्होंने आगे कहा कि निर्धारित कार्यक्रम के अनुसार सत्र में 18 बैठकें होंगी और कुल 108 घंटे का समय उपलब्ध होगा जिसमे सरकारी कार्य के लिए लगभग 62 घंटे उपलब्ध होंगे। प्रश्नकाल, शून्यकाल और गैर-सरकारी सदस्यों के कार्य के लिए बाकी समय आवंटित किया गया है। सरकारी कार्य के अतिरिक्त, अविलंबनीय लोक महत्व के मामलों पर चर्चा के लिए आवश्यकता अनुसार पर्याप्त समय आवंटित किया जाएगा। उन्होंने कहा कि शून्यकाल के दौरान उठाई जाने वाली सूचनाओं को प्रस्तुत करने के समय में परिवर्तन किया गया है। अब सदस्य किसी भी दिन-विशेष को प्रातः 0900 बजे से लेकर सत्र के उस दिन के प्रातः 0800 बजे तक अपनी सूचनाएं दे सकते हैं जिस दिन वे सभा में शून्य काल में अपना मामला उठाना चाहते हैं। सोमवार या सप्ताह के पहले कार्य दिवस के लिए सूचनाएं शुक्रवार या पिछले सप्ताह के अंतिम कार्य दिवस को प्रातः 0900 बजे और सोमवार या उस सप्ताह के पहले कार्य दिवस को प्रातः 0800 बजे के बीच दी जा सकेंगी। सत्र के उसी दिन, जिस दिन सदस्य सभा में अपना मामला उठाना चाहते हैं, प्रातः 0800 बजे तक प्राप्त सूचनाओं का 0800 बजे के तुरंत बाद कंप्यूटर द्वारा बैलट किया जाएगा। पोर्टल शनिवार, रविवार और छुट्टियों वाले दिन ऑनलाइन सूचना प्रस्तुत करने के लिए खुला रहेगा। श्री बिरला ने कहा कि विगत सत्रों की तरह इस सत्र में भी उचित कोविड-19 प्रोटोकॉल का पालन किया जाएगा तथा इसके लिए पर्याप्त इंतजाम किए गए हैं। सत्र में सुरक्षा के भी व्यापक प्रबंध किए गए हैं। उन्होंने आशा व्यक्त की कि सभी सदस्य कोविड-19 प्रोटोकॉल सम्बंधित नियमों का पालन करेंगे और अपना भरपूर सहयोग देंगे। अध्यक्ष ने सत्र के दौरान सभा के सुचारू और सुव्यवस्थित कार्य संचालन को सुनिश्चित करने में सभी दलों के नेताओं के सहयोग की अपेक्षा की।

कोई टिप्पणी नहीं: