मधुबनी : जन वितरण प्रणाली जिला संघ मधुबनी के बैनर तले की गई बैठक - Live Aaryaavart (लाईव आर्यावर्त)

Breaking

प्रबिसि नगर कीजै सब काजा I ह्रदय राखि कौसलपुर राजा II, हरिजन जानि प्रीति अति गाढ़ी। सजल नयन पुलकावलि बाढ़ी॥, मंगल भवन अमंगल हारी I द्रवहु सुदसरथ अजिर बिहारी II, हरि अनंत हरि कथा अनंता I कहहि सुनहि बहुबिधि सब संता II, दीन दयाल बिरिदु संभारी । हरहु नाथ मम संकट भारी।I, माता पिता की सेवा करें....बुजुर्गों का ख्याल रखें...अपनी प्रतिभा और आचरण से देश का नाम रौशन करें...

सोमवार, 11 जुलाई 2022

मधुबनी : जन वितरण प्रणाली जिला संघ मधुबनी के बैनर तले की गई बैठक

  • मीटिंग के बाद अपनी 10 सूत्री मांगों को लेकर मधुबनी जिला पदाधिकारी को  मांग पत्र देने की बात कहा ।

मधुबनी, जन वितरण प्रणाली जिला संघ के बैनर तले राज्य संघ के आह्वान पर मधुबनी जिला में भी एक बैठक की गई बैठक की अध्यक्षता अशोक कुमार राय कार्यकारणी अध्यक्ष मधुबनी की अध्यक्षता में की गई। इस मौके पर मौजूद जिला अध्यक्ष परभुनाथ सिंह, रहिका प्रखंड अध्यक्ष जय नारायण यादव, संघ के जिला मीडिया प्रभारी मोहम्मद फिरोज आलम, पीडीएस दुकानदार तनु का लाल यादव योगेंद्र प्रसाद यादव, विनय  कृष्ण कुमार ,रामचंद्र यादव कुमार, कुमार विश्वास ,ओमप्रकाश साह, लक्ष्मी प्रसाद गुप्ता समेत दर्जनों की संख्या में सभी प्रखंड अध्यक्ष और सभी प्रखंड से पीडीएस दुकानदार मौजूद थे बैठक के बाद 5 सदस्य टीम ने मिलकर जिला पदाधिकारी को अपनी मांग पत्र  देने की बात कही बैठक को संबोधित करते हुए जिला अध्यक्ष प्रभुनाथ सिंह, कार्यकारिणी अध्यक्ष अशोक कुमार राय ,रहिका प्रखंड अध्यक्ष जयनारायण यादव ने बताया कि हमारी 10 सूत्री मांग है उन्होंने कहा कि सार्वजनिक वितरण प्रणाली के दुकानदारों को कम से कम ₹ तीस हजार रुपया  मानदेय अथवा ₹300 प्रति कुंटल खदान में कमीशन दिया जाए क्योंकि POC मशीन द्वारा विक्रेता खाद्यान्न वितरण का पूरी व्यवस्था के साथ  करते है। संशोधित कंट्रोल एक्ट 2011 और 2016 को निरस्त कर 2001 कंट्रोल एक्ट को पुनः लागू किया जाए। कंट्रोल एक्ट 2001 के अनुसार अनुकंपा के आधार का लाभ पूर्व की भाती दिया जाए। पूर्व की भांति साप्ताहिक छुट्टी और सभी राजपत्रित अवकाश दिया जाए। विक्रेता को 15 अगस्त 26 जनवरी एवं 2 अक्टूबर इत्यादि मुख्य त्योहारों में भी दुकान खोलने का प्रावधान किया गया है अन्य विभागों के तरह पीडीएस दुकानदारों को भी  छुट्टी दिया जाए। किरासन तेल पर भी 3 रुपिया कमीशन बढ़ाया जाए। जन वितरण प्रणाली दुकानदार को जीवन बीमा अन्य कर्मियों की तरह दिया जाए। राज्य खाद्य निगम के गोदामों से विक्रेताओं को खादान माप तोल कर दिया जाए क्योंकि विक्रेताओं को कार्ड धारियों को खादान माप तौल कर देना पड़ता है। राज्य जिला एवं प्रखंड स्तर पर सहकारिता समिति की बैठक किया जाए। प्रशासनिक जिला अस्तर  की जो भी बैठक हो उसमें पीडीएस दुकानदार के जिला अध्यक्ष को भी शामिल किया जाए। पीडीएस दुकानदारों को अन्य राज्य की तरह चीनी और मीठा अनाज वितरण के लिए दिया जाए।

कोई टिप्पणी नहीं: