बिहार : महिलाओं से लाखों की ठगी कर कम्पनी फरार - Live Aaryaavart (लाईव आर्यावर्त)

Breaking

विजयी विश्व तिरंगा प्यारा , झंडा ऊँचा रहे हमारा। देश की आज़ादी के 75 वर्ष पूरे होने पर सभी देशवासियों को अनेकानेक शुभकामनाएं व बधाई। 'लाइव आर्यावर्त' परिवार आज़ादी के उन तमाम वीर शहीदों और सेनानियों को कृतज्ञता पूर्ण श्रद्धासुमन अर्पित करते हुए नमन करता है। आइए , मिल कर एक समृद्ध भारत के निर्माण में अपनी भूमिका निभाएं। भारत माता की जय। जय हिन्द।

शुक्रवार, 22 जुलाई 2022

बिहार : महिलाओं से लाखों की ठगी कर कम्पनी फरार

motihari-news-today
मोतिहारी/चम्पारण : पूर्वी चम्पारण में ग्रामीण महिलाओं को लोन देने के नाम पर लाखों रुपये की ठगी का मामला सामने आया है। पीडित महिलाओं ने मोतिहारी नगर से सटे रघुनाथपुर में आगजनी कर मोतिहारी-अरेराज सडक को जाम किया। जिससे यात्रियों को भारी परेशानियों का सामना करना पडा। पिछले कई दिनों से पूर्वी चम्पारण जिला के ग्रामीण इलाकों को महिलाओं को समूह बनाकर लोन देने का खेल चल रहा था। इसी क्रम में ठगी की यह घटना हुई। राजस्थान की कमल फीनकैप प्राईवेट लिमिटेड के कर्मी गांव में घुमकर महिलाओं को लोन दिलाने के लिए समूह बनाया। एक समूह में 15 महिलाओं को शामिल किया और प्रति सदस्य 3250 रुपये की वसूली की गयी। ऋण के लिए आवश्यक कागजातों में महिलाओं और उनके पति के आधार कार्ड भी कम्पनी ने जमा कराया। उन आधार कार्डों का इस्तेमाल कर कम्पनी ने लोगों के बैंक खातों में रखे रुपये भी निकाल कर फरार हो गया है। महिलाओं के बैंक खाता में कल शाम तक रुपये भेजे जाने थे। कर्मियों ने प्रति सदस्य महिला के खाता में 72 हजार रुपये भेजने जानकारी दी गयी थी। इसी लाभ की उम्मीद में महंगाई और गरीबी की मार झेलती महिलाओं ने 32 सौ रुपये कम्पनी के पास जमा कराया था। जब निर्धारित समय सीमा के अन्दर खाता में रुपये नहीं आये तो आज महिलाएं कमल फीनकैप के कार्यालय में पहुंची। कम्पनी के कार्यालय में ताला लटका मिला। जिसके बाद महिलाओं के होश उड़ गये। कम्पनी कार्यालय के बन्द होने और ठगी की शिकायत महिलाओं ने रघुनाथपुर थाना से किया। पुलिस के शिकायत पर सुनवाई नहीं करने से आक्रोशित महिलाओं ने मोतिहारी-अरेराज सड़क को घन्टों जाम रखा। चिरैया थाना के कसवा कदमवा गांव से आयी महिला सुनैना देवी ने कहा कि कमल फाईनेन्स के कर्मी गांव में कई बार जाकर महिलाओं को लोन दिलाने के लिए समूह बनाया। एक समूह में 15 महिलाओं को शामिल कियाऔर सभी महिलाओं से 3250 रुपये लिया। साथ ही आधार कार्ड भी लिया। नजदीकी बनाकर मोबाईल में आये ओटीबी लेकर बैंक खातों से हमारे रुपये रुपये तक निकाल लिया। सरस्वती देवी बताती हैं कि उसके खाते से दस हजार रुपये निकाल निये गये हैं। वहीं तुरकौलिया प्रखंड के सावगिया गांव निवासी ललीता देवी और सविता देवी बताती हैं कि कल शाम तक खाता में लोन के रुपये भेजने की बात कही गयी थी। लोन दिलाने के लिए सभी सदस्यों से 3250 रुपये वसूले गये। बैंक खाता में रुपये नहीं आने पर आज हमलोग रघुनाथपुर में चल रहे कम्पनी के कार्यालय पहुंचे तो ताला लटका मिला। ललीता देवी बताती है कि ठगी की शिकार बनने की शिकायत रघुनाथपुर थाना से किया तो पुलिस ने कोई मदद नहीं कर सडक जाम करने की नसीहत दिया। जिसपर वे लोगों प्रदर्शन करते हुए मोतिहारी अरेराज सडक को जाम किया है। सडक जाम से सैकड़ों गाडियां फंसी रही। बाद में रघुनाथपुर थाना पुलिस ने जाम को हटाकर सड़क के यातायात को सुचारु कराया।

कोई टिप्पणी नहीं: