बिहार : सबका साथ,सबका विकास,सबका विश्वास सत्य साबित करता है - Live Aaryaavart (लाईव आर्यावर्त)

Breaking

विजयी विश्व तिरंगा प्यारा , झंडा ऊँचा रहे हमारा। देश की आज़ादी के 75 वर्ष पूरे होने पर सभी देशवासियों को अनेकानेक शुभकामनाएं व बधाई। 'लाइव आर्यावर्त' परिवार आज़ादी के उन तमाम वीर शहीदों और सेनानियों को कृतज्ञता पूर्ण श्रद्धासुमन अर्पित करते हुए नमन करता है। आइए , मिल कर एक समृद्ध भारत के निर्माण में अपनी भूमिका निभाएं। भारत माता की जय। जय हिन्द।

रविवार, 24 जुलाई 2022

बिहार : सबका साथ,सबका विकास,सबका विश्वास सत्य साबित करता है

bihar-news
पटना: एनडीए प्रत्याशी श्रीमती द्रौपदी मुर्मू की शानदार जीत की खुशी में पटना के ईसाई समुदाय के लोगों ने आज प्रदेश भाजपा अल्पसंख्यक मोर्चा के उपाध्यक्ष राजन क्लेमेंट साह के नेतृत्व में दीघा स्थित हार्टमन हाई स्कूल के गेट से बांस कोठी क्रिश्चियन कॉलोनी स्थित माता मरियम के ग्रोटो तक आयोजित भव्य रैली में हिस्सा लिया. इस आयोजन में पटना के ईसाई समुदाय, खासकर जनजातीय ईसाई समुदाय के लोगों ने प्रमुखता से भाग लिया. बीजेपी अल्पसंख्यक मोर्चा के प्रदेश उपाध्यक्ष राजन क्लेमेंट साह के कॉल पर विधायक संजीव चौरसिया शोभा यात्रा में पहुंचे.देश के सर्वोच्च राष्ट्रपति पद विजयी माला पहनने वाली माननीय द्रौपदी मुर्मू जी को सम्मान व एकजुटता प्रदर्शित करने के लिए भव्य रैली निकाली गयी. भारत के राष्ट्रपति के द्रौपदी मुर्मू का जन्म साल 1958 में एक आदिवासी परिवार में भारत देश के उड़ीसा राज्य के मयूरभंज इलाके में 20 जून को हुआ था.इनके पिताजी का नाम बिरांची नारायण टुडू है और द्रौपदी मुरमू संताल आदिवासी फैमिली से संबंध रखती हैं.झारखंड राज्य के बनने के पश्चात 5 साल का कार्यकाल पूरा करने वाली द्रौपदी मुर्मू पहली महिला राज्यपाल हैं. इनके पति का नाम श्याम चरण मुर्मू है.श्यामाचरण मुर्मू के साथ द्रौपदी मुर्मू की शादी हुई थी, जिनसे उन्हें संतान के तौर पर टोटल 3 बच्चे प्राप्त हुए थे, जिनमें दो बेटे थे और एक बेटी थी.हालांकि उनके व्यक्तिगत जीवन ज्यादा सुखमय नहीं था, क्योंकि इनके पति और इनके दोनों बेटे अब इस दुनिया में नहीं है.उनकी बेटी ही अब जिंदा है जिसका नाम इतिश्री है, जिसकी शादी द्रौपदी मुर्मू ने गणेश हेंब्रम के साथ की है. अनुसूचित जनजाति समुदाय की राष्ट्रपति हैं द्रौपदी मुर्मू राष्ट्रपति बनने पर पटना के ईसाई समुदाय के द्वारा अपनी खुशी जाहिर करते हुए भव्य रैली हार्टमन बालिका उच्च विद्यालय, दीघा से शुरू होकर बांस कोठी ग्रोटो तक गयी. मां मरियम के ग्रोटों तक भव्य रैली पहुंचने के बाद संक्षिप्त सभा की गयी.इस अवसर पर वक्ताओं ने कहा कि महामहिम द्रौपदी मुर्मू जी जीत से देश की महिलाओं एवं जनजातीय समुदाय समुदाय के लिए बहुत ही सम्मान की बात है.आज देश के जनजातीय समुदाय सबसे बड़ी प्रतिष्ठा मिली है. इस अवसर पर अपने संबोधन में भाजपा के प्रदेश महामंत्री-सह- दीघा विधान सभा के विधायक श्री संजीव चौरसिया ने कहा कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने जनजातीय महिला को देश के शिखर पर पहुंचाने का काम किया है. जो बहुत ही गौरव की बात है. मौके पर राजन क्लेमेंट साह ने कहा कि श्रीमती द्रौपदी मुर्मू के राष्ट्रपति बनने से ईसाई समाज के लोग गौरवान्वित महसूस कर रहे हैं.यह देश की महिलाओं एवं जनजातीय समुदाय का सर्वोच्च सम्मान है, जो माननीय प्रधानमंत्री श्री नरेन्द्र मोदी जी के ‘सबका साथ,सबका विकास,सबका विश्वास‘ के नारे को अक्षर: सत्य साबित करता है. इस आयोजन में विक्टर फ्रांसिस, अजीत जूलियस, आशा पैट्रिक, फिलिप जैकब,  प्रवीण पीटर शाह, सिरिल मुर्मू, सिरिल मरांडी, प्रदीप तिग्गा, रतन हंसदा, रंजन जोसेफ, संदीप क्लोसन,पटना महानगर के मंत्री संजय पीटर अल्पसंख्यक मोर्चा, अमित इग्नासियुस, रॉबर्ट एंथोनी आदि की सक्रिय भागीदारी रही

कोई टिप्पणी नहीं: