चंद्रशेखर गुरूजी की हुबली के होटल में दिनदहाड़े हत्या - Live Aaryaavart (लाईव आर्यावर्त)

Breaking

प्रबिसि नगर कीजै सब काजा I ह्रदय राखि कौसलपुर राजा II, हरिजन जानि प्रीति अति गाढ़ी। सजल नयन पुलकावलि बाढ़ी॥, मंगल भवन अमंगल हारी I द्रवहु सुदसरथ अजिर बिहारी II, हरि अनंत हरि कथा अनंता I कहहि सुनहि बहुबिधि सब संता II, दीन दयाल बिरिदु संभारी । हरहु नाथ मम संकट भारी।I, माता पिता की सेवा करें....बुजुर्गों का ख्याल रखें...अपनी प्रतिभा और आचरण से देश का नाम रौशन करें...

मंगलवार, 5 जुलाई 2022

चंद्रशेखर गुरूजी की हुबली के होटल में दिनदहाड़े हत्या

chandrashekhar-guruji-was-murdered-in-broad-daylight-in-hubli
हुबली 05 जुलाई, कर्नाटक के हुबली स्थित एक होटल में वास्तु विशेषज्ञ चंद्रशेखर गुरूजी की मंगलवार को दिनदहाड़े चाकुओं से गोद कर हत्या कर दी गई। यह घटना हुबली-धारवाड़ रोड से सटे एक होटल में घटित हुई। पुलिस ने बताया कि श्री चंद्रशेखर अंगड़ी के नाम मशहूर श्री चंद्रशेखर गुरुजी होटल के रिसेप्शन पर दो लोगों ने चाकुओं से गोद कर हत्या कर दी। इसके बाद अपराधी मौके से भागने में सफल हो गए। पुलिस के मुताबिक दोनों आरोपियों की पहचान महंतेश शिरूर और मंजूनाथ मारेवाड़ के रूप में हुई है। गुरुजी कर्नाटक के बगलकोट के मूल निवासी थे और उन्होंने सिविल इंजीनियरिंग में डिग्री हासिल की थी। कन्नड़ मनोरंजन और समाचार चैनलों पर सरला वास्तु कार्यक्रमों के लिए प्रसिद्ध गुरुजी वास्तुकला और कार्यालय निर्माण की पारंपरिक भारतीय प्रणाली पर परामर्श सेवाएं प्रदान करते थे। पुलिस का मानना है कि गुरुजी होटल में बिजनेस प्रपोजल और फैमिली फंक्शन के लिए आए थे। पुलिस ने बताया कि उनके शव को हुबली के केआईएमएस अस्पताल में भेजा गया है। हत्या के बाद पुसिस आयुक (सीपी) लाभू राम, पुलिस उपायुक्त (डीसीपी) साहिल बागला, श्री गोपाल बयाकोड सहित अन्य पुलिस अधिकारी घटनास्थल पर पहुंचे। कथित तौर पर डॉग स्क्वायड भी मौके पर मौजूद था।

कोई टिप्पणी नहीं: