गया : जनता दरबार में आये हुए करीब 200 व्यक्तियों के मामले - Live Aaryaavart (लाईव आर्यावर्त)

Breaking

प्रबिसि नगर कीजै सब काजा I ह्रदय राखि कौसलपुर राजा II, हरिजन जानि प्रीति अति गाढ़ी। सजल नयन पुलकावलि बाढ़ी॥, मंगल भवन अमंगल हारी I द्रवहु सुदसरथ अजिर बिहारी II, हरि अनंत हरि कथा अनंता I कहहि सुनहि बहुबिधि सब संता II, दीन दयाल बिरिदु संभारी । हरहु नाथ मम संकट भारी।I, माता पिता की सेवा करें....बुजुर्गों का ख्याल रखें...अपनी प्रतिभा और आचरण से देश का नाम रौशन करें...

शनिवार, 2 जुलाई 2022

गया : जनता दरबार में आये हुए करीब 200 व्यक्तियों के मामले

gaya-janta-darbar
गया. इस जिले के जिला पदाधिकारी गया डॉ० त्यागराजन एसएम ने जनता दरबार में आये हुए करीब 200 व्यक्तियों के मामले को गंभीरता पूर्वक सुनते हुए संबंधित पदाधिकारियों को प्राप्त आवेदनों को जांच यथाशीघ्र कराते हुए जांच प्रतिवेदन उपलब्ध कराने का निर्देश दिया. आवेदकों के कई मामलों में जिला पदाधिकारी द्वारा जिले के वरीय पदाधिकारी यथा उप विकास आयुक्त, अपर समाहर्ता, अनुमंडल पदाधिकारी, संबंधित प्रखंड के नामित जिला स्तरीय पदाधिकारी आदि द्वारा मामले को जांच करने का भी जिम्मा दिया गया है. जनता दरबार में प्रधानमंत्री आवास से संबंधित आए मामलों को जिला पदाधिकारी ने उप विकास आयुक्त को संबंधित आवेदनों को यथाशीघ्र जांच करते हुए पात्रता रखने वाले व्यक्तियों को प्रधानमंत्री/ मुख्यमंत्री आवास योजना का लाभ दिलवाना सुनिश्चित कराएंगे. जनता दरबार में कई व्यक्तियों ने भूमि विवाद, आपसी बटवारा, अतिक्रमण, जमीन संबंधी दिक्कते आदि से संबंधित आवेदन दिए.उन सभी आवेदन के आलोक में जिला पदाधिकारी ने संबंधित अंचलाधिकारी तथा थानाध्यक्ष एवं अनुमंडल पदाधिकारी तथा अनुमंडल पुलिस पदाधिकारी के अध्यक्षता में थाना स्तर एवं अनुमंडल स्तर पर हर शनिवार को आयोजित होने वाले जनता दरबार में दोनों पक्षों के व्यक्तियों को बुलाकर संबंधित मामलों को प्राथमिकता देते हुए निराकरण कराने का निर्देश दिए. जनता दरबार में कई व्यक्ति परिमार्जन के संबंध में आवेदन दिए बेला, नगर, बोधगया सहित अन्य अंचल के व्यक्ति ने परिमार्जन के संबंध में आवेदन देने पर जिला पदाधिकारी ने संबंधित अंचलाधिकारी को फटकार लगाते हुए सख्त निर्देश दिया कि परिमार्जन के लिए लंबित आवेदनों को तेजी से निष्पादन करें. जनता दरबार के सुनवाई में आपदा विभाग के तहत अगलगी, सामूहिक सड़क दुर्घटना, कुआं में डूब ना वज्रपात कोरोना से मृत्यु इत्यादि मामलों में जिला आपदा पदाधिकारी  को तेजी से अनुपालन करवाने का निर्देश दिए. जनता दरबार में बिजली विभाग के बिजली बिल ज्यादा आने, घर का बिजली कनेक्शन जोड़ने सहित अन्य मामले पर जिला पदाधिकारी ने कार्यपालक अभियंता बिजली पदाधिकारी को प्राप्त आवेदनों को जांच करते हुए अग्रेतर कार्रवाई करने का निर्देश दिए. टिकारी प्रखंड के केस्पा पंचायत में सेविका बहाली में गड़बड़ी से संबंधित आवेदन जिला पदाधिकारी को दिया गया. जिला पदाधिकारी ने डीपीओ आईसीडीएस को केस्पा पंचायत में सेविका बहाली से संबंधित मामले में जांच करवाने का निर्देश दिए. आमस अंचल के मोहन कुमार व्यक्ति ने आवेदन दिया कि उनकी जमीन सड़क चौड़ीकरण में अधिग्रहण किया जा रहा है तथा उक्त जमीन की मापी अंचल कार्यालय के अमीन द्वारा मापा जा रहा है, जो गलत तरीके से मापी कर रहे हैं. उन्होंने जिला पदाधिकारी से अनुरोध किया है कि किसी अन्य अमीन के माध्यम से मापी कराई जाए. जिला पदाधिकारी ने अपर समाहर्ता गया को निर्देश दिया कि अंचल अमीन तथा भू अर्जन के अमीन संयुक्त रूप से उक्त जमीन की मापी करे. जनता दरबार में कुछ मामले लोक शिकायत के तहत पारित आदेश के बावजूद अब तक अब तक अनुपालन नहीं किए जाने के संबंध में प्राप्त हुआ है, जिसे जिला पदाधिकारी ने अपर समाहर्ता को सख्त निर्देश दिया है कि लोक शिकायत के तहत पारित आदेशों का अनुपालन प्राथमिकता देकर करावे, अन्यथा संबंधित पदाधिकारी/ कर्मी पर कार्रवाई की जाएगी. बेला प्रखंड के आवेदक ने जिला पदाधिकारी को आवेदन देते हुए बताया कि बेला प्रखंड में कई वर्षों से निर्माण किए जा रहे स्वास्थ्य उप केंद्र अब तक अधूरा है, निर्माण कार्य पूर्ण नहीं किया गया है. जिला पदाधिकारी ने सिविल सर्जन गया को संबंधित स्वास्थ्य उप केंद्र के संबंध में समुचित जानकारी उपलब्ध कराते हुए स्वास्थ्य विभाग मुख्यालय को अवगत करवाने का निर्देश दिए ताकि अर्ध निर्मित उप स्वास्थ्य केंद्र के बचे हुए निर्माण कार्य को पूरा कराया जा सके. वजीरगंज अंचल के बिशुनपुर गांव के आवेदक ने जिला पदाधिकारी को आवेदन देते हुए बताया कि लघु सिंचाई विभाग द्वारा उक्त गांव आहर की खुदाई में में 8 फीट के जगह 4 फीट ही मिट्टी का कटाव किया जा रहा है जिला पदाधिकारी ने लघु सिंचाई के कार्यपालक अभियंता को फटकार लगाते हुए सख्त निर्देश दिया कि स्वयं उक्त संबंधित स्थल पर जाकर जांच करते हुए प्रतिवेदन उपलब्ध करावे. साथ ही दोषी पाए जाने पर संबंधित दोषी व्यक्ति के विरुद्ध कार्रवाई करें. आवेदक शशि भूषण ने जिला पदाधिकारी को आवेदन देते हुए कहा कि मगध मेडिकल अस्पताल गया में हड्डी विभाग के चिकित्सा पदाधिकारी द्वारा लगातार लापरवाही किया जा रहा है. उन्होंने आवेदन में कहा कि मगध मेडिकल अस्पताल के हड्डी विभाग में मरीजों का इलाज सही ढंग से नहीं किया जा रहा है. मरीजों को मजबूरन बस प्राइवेट अस्पताल में जाना पड़ रहा है.जिला पदाधिकारी ने अधीक्षक मगध मेडिकल को फटकार लगाते हुए सख्त निर्देश दिया कि हड्डी विभाग के पदाधिकारियों को जवाबदेही तय करते हुए कार्य करावे, अन्यथा उनके विरुद्ध कार्रवाई की जाएगी. वजीरगंज प्रखंड के तेल बीघा पंचायत के ग्राम पंचायत मंगरावां में आर डब्ल्यू डी विभाग के लगभग 2.5किलोमीटर से 3 किलोमीटर सड़क काफी जर्जर एवं दयनीय स्थिति में है.बरसात के मौसम में चलना बिल्कुल ही मुश्किल पड़ रहा है। जिला पदाधिकारी ने कार्यपालक अभियंता आरडब्ल्यूडी को निर्देश दिया कि उक्त सड़क को प्राथमिकता देकर सड़क निर्माण कार्य करवाएं.

कोई टिप्पणी नहीं: