जरूरी सामान पर जीएसटी थोप कर सरकार कर रही है वसूली : राहुल गांधी - Live Aaryaavart (लाईव आर्यावर्त)

Breaking

विजयी विश्व तिरंगा प्यारा , झंडा ऊँचा रहे हमारा। देश की आज़ादी के 75 वर्ष पूरे होने पर सभी देशवासियों को अनेकानेक शुभकामनाएं व बधाई। 'लाइव आर्यावर्त' परिवार आज़ादी के उन तमाम वीर शहीदों और सेनानियों को कृतज्ञता पूर्ण श्रद्धासुमन अर्पित करते हुए नमन करता है। आइए , मिल कर एक समृद्ध भारत के निर्माण में अपनी भूमिका निभाएं। भारत माता की जय। जय हिन्द।

मंगलवार, 19 जुलाई 2022

जरूरी सामान पर जीएसटी थोप कर सरकार कर रही है वसूली : राहुल गांधी

imposing-gst-on-essential-goods-rahul
नयी दिल्ली, 19 जुलाई, कांग्रेस के पूर्व अध्यक्ष राहुल गांधी ने दूध, दही, मक्खन, चावल, ब्रेड दाल जैसे जरूरी सामान पर वस्तु एवं सेवा कर (जीएसटी) बढ़ाने को लेकर सरकार पर कड़ा हमला करते हुए कहा कि महंगाई से त्रस्त लोगों का दम निकल रहा है लेकिन उसकी (सरकार) वसूली जारी है। श्री गांधी ने फेस पोस्ट में कहा, “अबकी बार, ‘वसूली’ सरकार?” अब से दूध, दही, मक्खन, चावल, दाल, ब्रेड जैसे पैक्ड उत्पादों पर जनता से पांच प्रतिशत जीएसटी वसूला जाएगा। रोज़मर्रा की खाने-पीने की चीजें महंगी हो गई, सिलेंडर 1053 रुपए का हो गया लेकिन सरकार तो यही कहती है 'सब चंगा सी'। मतलब, ये महंगाई जनता की समस्या है, सरकार की नहीं।” उन्होंने महंगाई को लेकर प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी पर भी हमला किया और कहा, “जब प्रधानमंत्री विपक्ष में थे, तब उन्होंने महंगाई को सबसे बड़ा मुद्दा बनाया था लेकिन आज उन्होंने जनता को समस्याओं के गहरे दलदल में धकेल दिया है जिसमें लोग रोज़ धंसते जा रहे हैं। आपकी इस बेबसी पर प्रधानमंत्री मौन हैं, खुश हैं और झूठ पर झूठ बोल रहे हैं। सरकार द्वारा आप पर किए जा रहे हर अत्याचार के खिलाफ़ मैं और पूरी कांग्रेस पार्टी आपके साथ खड़ी है। इस मुद्दे को हम सदन में ज़ोर-शोर से उठाएंगे। प्रधानमंत्री चाहे जितने शब्दों को 'असंसदीय' बता कर हमें चुप कराने की कोशिश कर लें, जवाब तो उन्हें देना ही पड़ेगा।”

कोई टिप्पणी नहीं: