मधुबनी : श्रावणी मेले के दौरान विधि व्यवस्था को लेकर जारी किया संयुक्त आदेश - Live Aaryaavart (लाईव आर्यावर्त)

Breaking

विजयी विश्व तिरंगा प्यारा , झंडा ऊँचा रहे हमारा। देश की आज़ादी के 75 वर्ष पूरे होने पर सभी देशवासियों को अनेकानेक शुभकामनाएं व बधाई। 'लाइव आर्यावर्त' परिवार आज़ादी के उन तमाम वीर शहीदों और सेनानियों को कृतज्ञता पूर्ण श्रद्धासुमन अर्पित करते हुए नमन करता है। आइए , मिल कर एक समृद्ध भारत के निर्माण में अपनी भूमिका निभाएं। भारत माता की जय। जय हिन्द।

गुरुवार, 14 जुलाई 2022

मधुबनी : श्रावणी मेले के दौरान विधि व्यवस्था को लेकर जारी किया संयुक्त आदेश

  • मेला क्षेत्र के सभी महत्वपूर्ण एवम संवेदनशील स्थानो पर 736 दंडाधिकारियों एवम पुलिस पदाधिकारियो की गई प्रतिनियुक्ति।
  • काफी संख्या में पुलिस बल की हुई तैनाती। सभी महत्वपूर्ण एवम संवेदनशील स्थलों पर सीसीटीवी कैमरे एवम वीडियो ग्राफी द्वारा रखी जायेगी नजर। पदाधिकारियो को छोटी-छोटी घटनाओं को भी गंभीरता से लेकर त्वरित करवाई का दिया निर्देश।
  • सादे लिबास में भी तैनात होगी पुलिस। अपर समाहर्ता एवम पुलिस उपाधीक्षक मुख्यालय विधिव्यवस्था के होंगे वरीय प्रभारी। निर्धारित क्षेत्र में ध्वनि विस्तारक यंत्र एवम डीजे पर रहेगी पूर्ण रोक।
  • प्रत्येक सोमवारी के पूर्व सभी प्रतिनियुक्त दण्डाधिकारियो एवम पुलिस पदाधिकारियो की  होगी ब्रीफिंग,विधिव्यवस्था संधारण को लेकर दिए जाएंगे टिप्स।

madhubani-dm-sp-meating-shraani-mela
मधुबनी, 14 अगस्त 2022 से आरंभ होने वाले श्रावण मास के दौरान जिले में आयोजित होने वाले श्रावणी मेले के दौरान विधि व्यवस्था संधारण एवम मेला आयोजन का सफलतापूर्वक संचालन को लेकर जिला पदाधिकारी अरविंद कुमार वर्मा एवं पुलिस अधीक्षक सुशील कुमार ने अपने संयुक्त रुप से आदेश के तहत  सभी महत्वपूर्ण एवम संवेदनशील स्थानो पर 736 दंडाधिकारियों एवम पुलिस पदाधिकारियो को प्रतिनियुक्त किया है एवम काफी संख्या में पुलिस बल की तैनाती की है। डीएम-एसपी ने चिन्हित सभी  संवेदनशील स्थलों एवं कांवरियों के गुजरने वाले मार्गों पर विशेष रूप से निगरानी रखे जाने के निर्देश दिए हैं। सांप्रदायिक सौहार्द को बिगाड़ने की मंशा रखने वाले असामाजिक तत्वों पर नजर रखने में उनके विरुद्ध कड़ी कार्रवाई किए जाने के निर्देश दिए गए हैं। जिलाधिकारी ने सभी चयनित स्थलों पर बैरिकेडिंग एवं ड्राप गेट के निर्माण का भी निर्देश दिया है।इसके अतिरिक्त सभी भीड़भाड़ वाले स्थानों जैसे, बस अड्डों और रेलवे स्टेशनों पर भी विशेष निगरानी रखने के निर्देश जारी किए गए हैं। इस दौरान सोशल मीडिया पर भी कड़ी निगरानी बरते जाने के निर्देश निर्गत किए गए हैं, ताकि असामाजिक तत्वों द्वारा अफवाहों को फैलाने के प्रयास को रोका जा सके। जिलाधिकारी एवम पुलिस अधीक्षक ने कहा है कि  सोशल मीडिया पर भी कड़ी नजर रखे एवम जैसे ही कोई अप्पतिजनक एवमअफवाह फैलाने ,सामाजिक समरसता को बिगाड़ने वाले पोस्ट नजर आता है तो तुरंत अपने वरीय अधिकारियो को सूचित करें। जिलाधिकारी ने निर्देश दिया कि छोटी-छोटी घटनाओं को भी पूरी गंभीरता से लेकर उसपर संज्ञान ले तथा उसकी सूचना अपने वरीय अधिकारियों को भी दे।उन्होंने कहा कि विधि व्यवस्था संधारण के लिए सभी अनुमंडल स्तर पर अनुमंडल नियंत्रण कक्ष की स्थापना की गई है। रोस्टर के हिसाब से अधिकारियों एवं कर्मियों की प्रतिनियुक्ति की गई है।  संबंधित क्षेत्र के शांति व्यवस्था की सूचना प्रत्येक 2 घंटे पर जिलाधिकारी के आवास स्थित गोपनीय कार्यालय के दूरभाष देने का निर्देश दिया गया है।  उन्होंने कहा कि  चिकित्सा दल, विद्युत आपूर्ति, गश्ती दल आदि के लिए पर्याप्त इंतजाम किए जाने के निर्देश भी दिए गए  हैं। उन्होंने कहा कि मेला के दौरान सभी महत्वपूर्ण एवम संवेदनशील स्थलों पर सीसीटीवी कैमरे एवम वीडियो ग्राफी द्वारा कड़ी नजर रखी जायेगी वही सादे लिबास में भी पुलिस बल की तैनाती होगी। निर्धारित क्षेत्र में ध्वनि विस्तारक यंत्र एवम डीजे पर  पूर्ण  रूप से रोक रहेगी एवम इसका सख्ती से अनुपालन करवाने का निर्देश भी दिया गया है। जिलाधिकारी ने कहा  कि प्रत्येक सोमवारी के पूर्व सभी प्रतिनियुक्त दण्डाधिकारियो एवम पुलिस पदाधिकारियो की विस्तृत रूप से ब्रीफिंग होगी ,जिसमे विधिव्यवस्था संधारण को लेकर कई महत्वपूर्ण टिप्स भी दिए जायेंगे। अपर समाहर्ता अवधेश राम एवम पुलिस उपाधीक्षक मुख्यालय प्रभाकर तिवारी विधिव्यवस्था के  वरीय प्रभारी बनाये गए है।

कोई टिप्पणी नहीं: