मधुबनी : गरीबों, किसानों मजदूरों का गला घोट रही केंद्र व राज्य सरकार : समीर महासेठ - Live Aaryaavart (लाईव आर्यावर्त)

Breaking

विजयी विश्व तिरंगा प्यारा , झंडा ऊँचा रहे हमारा। देश की आज़ादी के 75 वर्ष पूरे होने पर सभी देशवासियों को अनेकानेक शुभकामनाएं व बधाई। 'लाइव आर्यावर्त' परिवार आज़ादी के उन तमाम वीर शहीदों और सेनानियों को कृतज्ञता पूर्ण श्रद्धासुमन अर्पित करते हुए नमन करता है। आइए , मिल कर एक समृद्ध भारत के निर्माण में अपनी भूमिका निभाएं। भारत माता की जय। जय हिन्द।

शुक्रवार, 22 जुलाई 2022

मधुबनी : गरीबों, किसानों मजदूरों का गला घोट रही केंद्र व राज्य सरकार : समीर महासेठ

  • - महागठबंधन की सात अगस्त को प्रस्तावित धरना-प्रदर्शन में अधिकाधिक लोगों की भागीदारी पर बल

madhubani-rjd-protest
मधुबनी : महंगाई, भ्रष्टाचार, अग्निपथ सहित अन्य मसलों को लेकर महागठबंधन की सात अगस्त को प्रस्तावित राज्य के सभी जिला मुख्यालय में धरना-प्रदर्शन की तैयारी को लेकर स्थानीय विधायक समीर कुमार महासेठ के आवासीय परिसर में महागठबंधन की बैठक आयोजित की गई। विधायक भारत भूषण मंडल की अध्यक्षता में बैठक को संबोधित करते हुए पूर्व मंत्री रामलखन राम रमण ने कहा कि महंगाई के कारण आम लोगों का जीना दुश्वार हो गया है। भ्रष्टाचार के कारण विकास योजना दम तोड़ रही है।अफसरशाही के कारण किसी की योजनाओं का लाभ आम लोगों को नहीं मिल रहा है। विधायक समीर कुमार महासेठ ने सात अगस्त को जिला मुख्यालय में महागठबंधन की प्रस्तावित धरना-प्रदर्शन में अधिकाधिक लोगों की भागीदारी पर बल प्रदान करते हुए कहा कि केंद्र व राज्य सरकार गरीबों, किसानों, मजदूरों का गला घोट रही है। सभी क्षेत्रों में पूंजीपतियों का कब्जा हो रहा है। फसलों उचित मूल्य नहीं मिल रहा है। सरकार की तानाशाही रवैया से समाज के कमजोर वर्ग के लोग शोषण का शिकार हो रहे है। बेरोजगारी के कारण युवाओं का पलायन रूकने का नाम ले रही है। विधायक भारत भूषण मंडल ने कहा कि बढ़ती महंगाई से गरीबों की हालत बदतर हो चुकी है। सरकार गरीबों की आवाज दबाना चाहती है। सरकार किसानों को कंगाल बनाना चाहती है। भाकपा के जिला मंत्री मिथिलेश झा ने कहा कि सरकार की गलत नीति के चलते किसान, मजदूर उद्योगपतियों के गुलाम हो जाएंगे। भाकपा माले के जिला सचिव ध्रुव नारायण कर्ण कहा कि  किसानों को अपनी फसल ओने-पौने दरों पर बेचने को विवश हैं।  सरकार लगातार किसान, मजदूर विरोधी फैसले ले रही है। पूर्व विधायक उमाकांत यादव ने कहा कि सरकार सरकारी संस्थानों को उद्योगपतियों के हाथों बेचने पर लगी है। बैठक को पूर्व विधायक राम अवतार पासवान सहित महागठबंधन नेताओं में राजकुमार यादव, प्रदीप यादव, मनोज मिश्रा, अमरेंद्र चौरसिया, चंद्रशेखर झा सुमन, अरुण चौधरी, इंद्रभूषण यादव, उमेश राम, अमित यादव, जहांगीर पासवान, रत्नेश्वर राय रामकुमार यादव, पूर्णशंकर झा, जीवछ यादव, गुलाब यादव सहित अन्य संबोधित किया।

कोई टिप्पणी नहीं: