मेनका गांधी ने खेत में धान की रोपाई की - Live Aaryaavart (लाईव आर्यावर्त)

Breaking

प्रबिसि नगर कीजै सब काजा I ह्रदय राखि कौसलपुर राजा II, हरिजन जानि प्रीति अति गाढ़ी। सजल नयन पुलकावलि बाढ़ी॥, मंगल भवन अमंगल हारी I द्रवहु सुदसरथ अजिर बिहारी II, हरि अनंत हरि कथा अनंता I कहहि सुनहि बहुबिधि सब संता II, दीन दयाल बिरिदु संभारी । हरहु नाथ मम संकट भारी।I, माता पिता की सेवा करें....बुजुर्गों का ख्याल रखें...अपनी प्रतिभा और आचरण से देश का नाम रौशन करें...

सोमवार, 4 जुलाई 2022

मेनका गांधी ने खेत में धान की रोपाई की

maneka-gandhi
सुलतानपुर, 04 जुलाई, उत्तर प्रदेश में सुलतानपुर लोकसभा सीट से सांसद एवं पूर्व केंद्रीय मंत्री मेनका गांधी ने सोमवार को अपने संसदीय क्षेत्र के दौरे में महिलाओं के साथ खेत में धान की रोपाई कर किसानों का हाथ बंटाया। सुलतानपुर के तीन दिवसीय दौरे पर आई मेनका गांधी ने जासापारा गांव में सड़क किनारे खेतों में धान रोप रहीं महिलाओं के साथ धान की रोपाई की। उन्होंने अन्नदाता महिलाओं के साथ काफी देर बातचीत भी की और सबका हालचाल जाना। गांधी का यह रूप देख कर अन्नदाता महिलाएं अचंभित और खुश दिखीं। इस दौरान उन्होंने दर्जन भर से अधिक गांवों में चौपाल लगाकर लोगों की समस्याओं का निस्तारण किया। इसके पूर्व गांधी ने शास्त्री नगर स्थित आवास पर प्रातः जनता दर्शन कार्यक्रम में सैकड़ों लोगों की समस्याओं को सुना और अधिकारियों को फोन कर तत्काल निस्तारण के लिए कहा। उन्होंने एक जुलाई को नकराही गांव में सड़क हादसे में मारे गए 6 लोगो के परिजनों को सांत्वना देते हुए जिला प्रशासन को आर्थिक मदद देने के लिए निर्देशित किया। गांधी ने कहा “मैंने सांसद की जिम्मेदारी को एक मां की तरह निभाया है। मां क्या चाहती है? घर सुंदर हो और सब संतुष्ट हों।” उन्होंने कहा कि जनहित के बड़े काम तो अपनी जगह हैं, लेकिन उनकी दिलचस्पी आपकी व्यक्तिगत समस्याओं को दूर करने में ज्यादा होती है। उन्होंने कहा कि दबंग लोग आपका घर नहीं बनने दे रहे हैं, आपको कैंसर की बीमारी है और मदद नहीं हो पा रही है, लेखपाल आपकी बात सुन नहीं रहा है, विधवा है पेंशन नहीं मिल रही है, पड़ोसी ने आपकी नाली का पानी बंद कर दिया है। उन्होंने लोगों को भरोसा दिलाया कि वह इन सब समस्याओं के समाधान के लिये जनता के साथ खड़ी हैं। 

कोई टिप्पणी नहीं: