मुख्यमंत्रियों को संतोष से संतृप्ति की जाने का मंत्र दिया मोदी ने - Live Aaryaavart (लाईव आर्यावर्त)

Breaking

विजयी विश्व तिरंगा प्यारा , झंडा ऊँचा रहे हमारा। देश की आज़ादी के 75 वर्ष पूरे होने पर सभी देशवासियों को अनेकानेक शुभकामनाएं व बधाई। 'लाइव आर्यावर्त' परिवार आज़ादी के उन तमाम वीर शहीदों और सेनानियों को कृतज्ञता पूर्ण श्रद्धासुमन अर्पित करते हुए नमन करता है। आइए , मिल कर एक समृद्ध भारत के निर्माण में अपनी भूमिका निभाएं। भारत माता की जय। जय हिन्द।

रविवार, 24 जुलाई 2022

मुख्यमंत्रियों को संतोष से संतृप्ति की जाने का मंत्र दिया मोदी ने

modi-gave-the-chief-minister-the-mantra
नयी दिल्ली 24 जुलाई, प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) एवं राष्ट्रीय जनतांत्रिक गठबंधन (राजग) शासित राज्यों के सभी 12 मुख्यमंत्रियों और 8 उप मुख्यमंत्रियों को केन्द्र सरकार की मौजूदा योजनाओं के शत प्रतिशत कार्यान्वयन के साथ संतृप्ति के स्तर को प्राप्त करने का आज मंत्र दिया। श्री मोदी ने यहां भाजपा के केंद्रीय कार्यालय में मुख्यमंत्री परिषद की बैठक में आये भाजपा/राजग शासित राज्यों के सभी 12 मुख्यमंत्रियों और 8 उप मुख्यमंत्रियों के साथ संवाद कर उन्हें आगे बढ़ने का मंत्र दिया। बैठक में भाजपा के अध्यक्ष जगत प्रकाश नड्डा ने भी मुख्यमंत्रियों और उप मुख्यमंत्रियों के साथ संवाद किया। इससे पहले भाजपा की मुख्यमंत्री परिषद की बैठक दिसंबर 2021 में वाराणसी में हुई थी। बैठक के दौरान प्रधानमंत्री ने केंद्र सरकार की कुछ प्रमुख योजनाओं और केंद्र सरकार द्वारा शुरू किये पीएम गतिशक्ति योजना, हर घर जल, स्वामित्व योजना, डीबीटी कार्यान्वयन, सरकारी ई-मार्केटप्लेस जैसी पहलों के बेहतर कार्यान्वयन पर जोर दिया। उन्होंने खासतौर पर भाजपा शासित राज्यों में इन योजनाओं और पहल के क्रियान्वयन की सराहना भी की। ग्रामीण क्षेत्रों के बारे में बात करते हुए, उन्होंने गोवर्धन के महत्व और इस पहल को और लोकप्रिय बनाने की आवश्यकता पर जोर दिया। उन्होंने फसल उत्पादकता पर नैनो-उर्वरक के सकारात्मक प्रभाव को रेखांकित किया और इसके उपयोग को बढ़ाने की बात कही। उन्होंने सभी प्रमुख योजनाओं के संतृप्ति स्तर तक के कवरेज को सुनिश्चित करने की आवश्यकता पर जोर दिया और कहा कि भाजपा शासित राज्यों को इस दिशा में आगे बढ़ना चाहिए। प्रधानमंत्री श्री मोदी ने कारोबार सुगमता सुनिश्चित करने की जरूरत पर खासा जोर दिया। उन्होंने इस दिशा में केंद्र सरकार द्वारा उठाए गए कई कदमों के बारे में बताया। उन्होंने राज्यों को देश में कारोबारी माहौल को और बढ़ावा देने की दिशा में कदम उठाने के लिए भी प्रोत्साहित किया। श्री मोदी ने मुख्यमंत्रियों से कहा कि वे सुनिश्चित करें कि राज्य खेलों को उचित महत्व दें और बड़ी संख्या में युवाओं की भागीदारी और जुड़ाव को प्रोत्साहित करने के लिए सर्वोत्तम सुविधाओं का प्रावधान हो। उन्होंने जोर देकर कहा कि भाजपा शासित राज्यों को अपनी खेल संस्कृति के लिए प्रसिद्ध होने का लक्ष्य रखना चाहिए। उन्होंने सभी कस्बों, गांवों और शहरों के स्थापना दिवस मनाने के महत्व के बारे में भी बात की। बैठक के दौरान भाजपा शासित राज्यों में केंद्र सरकार की विभिन्न कल्याणकारी योजनाओं और विकास कार्यक्रमों की प्रगति की समीक्षा की गई। कल्याणकारी योजनाओं की अंतिम छोर पर खड़े अंतिम व्यक्ति तक पहुँच सुनिश्चित करने के लिए व्यापक रणनीति, जीरो लीकेज के साथ अधिक जवाबदेही सुनिश्चित करने के लिए ई-गवर्नेंस सिस्टम्स के बेहतर उपयोग और दूर-दराज के क्षेत्रों में विकास योजनाओं की पहुंच को प्राथमिकता देने और शत-प्रतिशत पात्र लाभार्थियों के कवरेज पर चर्चा की गई। बैठक में अमृत सरोवर मिशन की प्रगति और हर घर तिरंगा अभियान की तैयारी की भी समीक्षा की गई। सभी मुख्यमंत्रियों ने सुशासन के माध्यम से आजादी के अमृत काल को अंत्योदय के युग में बदलने का प्रयास करने के लिए प्रतिबद्धता जतायी।

कोई टिप्पणी नहीं: