सुनवाई के दौरान सरकारी वकील को फटकार - Live Aaryaavart (लाईव आर्यावर्त)

Breaking

विजयी विश्व तिरंगा प्यारा , झंडा ऊँचा रहे हमारा। देश की आज़ादी के 75 वर्ष पूरे होने पर सभी देशवासियों को अनेकानेक शुभकामनाएं व बधाई। 'लाइव आर्यावर्त' परिवार आज़ादी के उन तमाम वीर शहीदों और सेनानियों को कृतज्ञता पूर्ण श्रद्धासुमन अर्पित करते हुए नमन करता है। आइए , मिल कर एक समृद्ध भारत के निर्माण में अपनी भूमिका निभाएं। भारत माता की जय। जय हिन्द।

गुरुवार, 14 जुलाई 2022

सुनवाई के दौरान सरकारी वकील को फटकार

public-prosecutor-reprimanded-during-the-hearing
नयी दिल्ली 14 जुलाई, दिल्ली की एक अदालत ने 2018 में एक हिंदू देवता के खिलाफ की गयी आपत्तिजनक टिप्प्णी मामले में गिरफ्तार आल्ट न्यूज़ के सह संस्थापक मोहम्मद जुबैर की जमानत याचिका पर गुरूवार को सुनवायी के दौरान सरकारी वकील को फटकार लगायी । अतिरिक्त सत्र न्यायाधीश देवेंद्र कुमार जंगाला ने मामले की सुनवायी के दौरान सरकारी वकील से इस मामले में अभी तक दर्ज किये गये बयानों का ब्यौरा मांगा। इस पर वकील ने जांच एजेंसी के ट्वीट और रीट्वीट अदालत के समक्ष पेश कर दिये। इस पर अदालत ने कहा कि आप ट्वीट और रीट्वीट दिखा कर काम नहीं चला सकते , बल्कि आपको आपराधिक प्रक्रिया संहिता (सीपीसी) के तहत काम करना चाहिए। गौरतलब है कि मामले की सुनवाई कर रही अदालत के समक्ष सरकारी वकील वीडियो कांफ्रेंसिंग के माध्यम से 12 जुलाई को प्रस्तुत हुए थे और कहा था कि वह 12 और 13 जुलाई को अदालत में आने में असमर्थ है अत: 14 जुलाई को सुनवाई की जाए।

कोई टिप्पणी नहीं: