पुजारा ने जड़ा तीसरा दोहरा शतक - Live Aaryaavart (लाईव आर्यावर्त)

Breaking

प्रबिसि नगर कीजै सब काजा I ह्रदय राखि कौसलपुर राजा II, हरिजन जानि प्रीति अति गाढ़ी। सजल नयन पुलकावलि बाढ़ी॥, मंगल भवन अमंगल हारी I द्रवहु सुदसरथ अजिर बिहारी II, हरि अनंत हरि कथा अनंता I कहहि सुनहि बहुबिधि सब संता II, दीन दयाल बिरिदु संभारी । हरहु नाथ मम संकट भारी।I, माता पिता की सेवा करें....बुजुर्गों का ख्याल रखें...अपनी प्रतिभा और आचरण से देश का नाम रौशन करें...

गुरुवार, 21 जुलाई 2022

पुजारा ने जड़ा तीसरा दोहरा शतक

  • डेब्यू पर सुंदर और सैनी ने खोला पंजा

pujara-scored-third-double-century
लंदन, 21 जुलाई, काउंटी चैंपियनशिप के वर्तमान सीज़न में तीसरा दोहरा शतक लगाकर भारतीय बल्लेबाज़ चेतेश्वर पुजारा ने इतिहास के पन्नों में अपना नाम सुनहरे अक्षरों में अर्जित किया है। मैच के दूसरे दिन 200 रन पूरे करते ही पुजारा लॉर्ड्स में मिडिलसेक्स के विरुद्ध ससेक्स की ओर से दोहरा शतक जड़ने वाले पहले बल्लेबाज़ बन गए। उनसे पहले केवल कर्नल श्री रंजीतसिंहजी विभाजी द्वितीय ने 125 साल पहले लॉर्ड्स में दोहरा शतक जड़ा था। हालांकि यह मैच मेरिलबोन क्रिकेट क्लब (एमसीसी) के विरुद्ध खेला गया था। पुजारा से पहले ब्रैड हॉज ने 2004 में एक सीज़न में तीन दोहरे शतक जड़े थे। इसके अलावा पुजारा 1904 के बाद एक सीज़न में तीन पारियों में 200 से अधिक रन बनाने वाले ससेक्स के पहले बल्लेबाज़ बन गए हैं। पहले दिन बनाए 115 रनों से अपनी पारी को आगे बढ़ाते हुए पुजारा ने धैर्य दिखाया और क्लासिकल अंदाज़ में टेस्ट मैच बल्लेबाज़ी की। अपने सटीक स्ट्रोक के साथ उन्होंने एक गर्म दोपहर में विपक्षी गेंदबाज़ों के पसीने छुड़ाए। लगभग नौ घंटे क्रीज़ पर बिताने के बाद पुजारा आख़िरकार आउट हुए। हालांकि पवेलियन जाने से पहले उन्होंने टीम के स्कोर को 523 पर पहुंचाया जो ससेक्स के इतिहास का सर्वाधिक स्कोर है। जहां पुजारा ने एक बार फिर सभी को प्रभावित किया, तेज़ गेंदबाज़ उमेश यादव अपनी छाप नहीं छोड़ पाए। 29 ओवर गेंदबाज़ करने के बावजूद उन्हें खाली हाथ लौटना पड़ा। वहीं लंकाशायर की ओर से अपना डेब्यू मैच खेल रहे वॉशिंगटन सुंदर ने पहले दिन चार विकेट लेने के बाद बुधवार को पांचवां शिकार किया। अर्धशतक बनाकर खेल रहे विकेटकीपर लुइस मक्मैग्नस को उन्होंने कीटन जेनिंग्स के हाथों कैच आउट करवाया। इन पांच विकेटों के लिए सुंदर को कुल 22 ओवर गेंदबाज़ी करनी पड़ी। हालांकि गेंद के साथ कमाल करने वाले सुंदर बल्ले के साथ कुछ ख़ास नहीं कर पाए। नौ गेंदों का सामना करने के बाद वह तेज़ गेंदबाज़ जैक व्हाइट के पांचवें शिकार बने। सुंदर ने अपनी पहली काउंटी पारी में मात्र दो रन बनाए। 235 के स्कोर पर नॉर्थैंप्टनशायर को रोकने के बाद लैंकशायर की टीम महज़ 132 रनों पर सिमट गई और अब उसे वापसी करने के लिए कठिन परिश्रम करना होगा। सुंदर के बाद एक और भारतीय गेंदबाज़ ने डेब्यू पर पांच विकेट लेने का कारनामा किया। केंट की ओर से खेल रहे तेज़ गेंदबाज़ नवदीप सैनी ने अपनी गति और स्विंग से वॉरिकशायर के बल्लेबाज़ों को परेशान किया और पांच विकेट झटके। पांच में से चार बल्लेबाज़ों को उन्होंने विकेटकीपर सैम बिलिंग्स के हाथों कैच आउट करवाया। दूसरे दिन के बाद केंट ने 138 रनों की बढ़त बना ली है और सैनी दूसरी पारी में भी गेंद के साथ धूम मचाना चाहेंगे।

कोई टिप्पणी नहीं: