श्रीलंका में प्रदर्शनकारियों ने प्रधानमंत्री आवास को किया आग के हवाले - Live Aaryaavart (लाईव आर्यावर्त)

Breaking

विजयी विश्व तिरंगा प्यारा , झंडा ऊँचा रहे हमारा। देश की आज़ादी के 75 वर्ष पूरे होने पर सभी देशवासियों को अनेकानेक शुभकामनाएं व बधाई। 'लाइव आर्यावर्त' परिवार आज़ादी के उन तमाम वीर शहीदों और सेनानियों को कृतज्ञता पूर्ण श्रद्धासुमन अर्पित करते हुए नमन करता है। आइए , मिल कर एक समृद्ध भारत के निर्माण में अपनी भूमिका निभाएं। भारत माता की जय। जय हिन्द।

शनिवार, 9 जुलाई 2022

श्रीलंका में प्रदर्शनकारियों ने प्रधानमंत्री आवास को किया आग के हवाले

sri-lanka-protesters-set-fire-to-prime-minister-s-residence
कोलंबो, 09 जुलाई, श्रीलंका में प्रदर्शनकारियों ने शनिवार को यहां चल रहे विरोध प्रदर्शन के दौरान श्रीलंका के प्रधानमंत्री रानिल विक्रमसिंघे के घर में आग लगा दी। बीबीसी की रिपोर्ट में यह जानकारी दी गयी। पिछले एक घंटे में देश की राजधानी कोलंबो में श्री विक्रमसिंघे के आवास के बाहर प्रदर्शनकारियों और पुलिस के बीच अशांति तेज हो गई है तथा उन्होंने प्रधानमंत्री आवास में आग लगा दी। इसके बाद प्रदर्शनकारियों ने पहले राष्ट्रपति गोतबाया राजपक्षे के आधिकारिक आवास पर धावा बोल दिया और राष्ट्रपति को एक अज्ञात स्थान पर भागने के लिए मजबूर कर दिया। श्रीलंका में प्रदर्शनकारियों ने आज राष्ट्रपति भवन सहित राजधानी कोलंबो में कई हाई प्रोफाइल सरकारी इमारतों पर कब्जा करने वाले लोगों से कब्जे वाले स्थानों को नहीं छोड़ने का आग्रह किया। प्रदर्शनकारियों के कब्जे वाली महत्वपूर्ण इमारतों में राष्ट्रपति भवन, राष्ट्रपति सचिवालय और प्रधानमंत्री का सरकारी निवास टेंपल ट्री शामिल हैं। राष्ट्रपति राजपक्षे के इस्तीफे की मांग को लेकर शनिवार को हजारों प्रदर्शनकारियों ने उनके आवास पर धावा बोल दिया। हालांकि इससे पहले राष्ट्रपति राजपक्षे को राष्ट्रपति भवन से बाहर निकाल दिया गया था। इसके साथ ही श्रीलंका के पोदुजाना पेरामुना के 16 सांसदों ने संसद में स्पष्ट बहुमत वाले एक अन्य नेता को नियुक्त करने के लिए राष्ट्रपति से तुरंत इस्तीफा देने का अनुरोध किया। श्रीलंका की बार काउंसिल ने राष्ट्रपति राजपक्षे से यह विचार करने के लिए भी कहा कि क्या वह राष्ट्रपति सचिवालय और राष्ट्रपति भवन पर कब्जा कर रहे प्रदर्शनकारियों के मद्देनजर श्रीलंका के राष्ट्रपति के रूप में अपने दायित्वों और कर्तव्यों को पूरा करना जारी रख सकते हैं। कोलंबो के पांच लेन में स्थित श्री विक्रमसिंघे के निजी आवास के सामने वर्तमान में एक विरोध प्रदर्शन चल रहा है और उनके तत्काल इस्तीफे की भी मांग की जा रही है। प्रधानमंत्री विक्रमसिंघे ने पार्टी नेताओं से कहा है कि वह प्रधानमंत्री पद से इस्तीफा देने और सर्वदलीय सरकार बनाने का रास्ता बनाने को तैयार हैं। श्रीलंका में प्रदर्शनकारियों के राष्ट्रपति भवन पर कब्जा कर लेने से उत्पन्न स्थिति के बीच प्रधानमंत्री विक्रमसिंघे ने शनिवार को घोषणा की कि वह संसद में पार्टी नेताओं की मांग के बाद इस्तीफा देने के लिए राजी हो गए हैं। उन्होंने कहा कि पार्टी नेताओं ने मांग की है कि उन्हें और राष्ट्रपति गोतबाया राजपक्षे को इस्तीफा दे देना चाहिए।

कोई टिप्पणी नहीं: