वेंकैया ने बच्चों में मौलिक चरित्र मजबूत करने का किया आह्वान - Live Aaryaavart (लाईव आर्यावर्त)

Breaking

प्रबिसि नगर कीजै सब काजा I ह्रदय राखि कौसलपुर राजा II, हरिजन जानि प्रीति अति गाढ़ी। सजल नयन पुलकावलि बाढ़ी॥, मंगल भवन अमंगल हारी I द्रवहु सुदसरथ अजिर बिहारी II, हरि अनंत हरि कथा अनंता I कहहि सुनहि बहुबिधि सब संता II, दीन दयाल बिरिदु संभारी । हरहु नाथ मम संकट भारी।I, माता पिता की सेवा करें....बुजुर्गों का ख्याल रखें...अपनी प्रतिभा और आचरण से देश का नाम रौशन करें...

शनिवार, 30 जुलाई 2022

वेंकैया ने बच्चों में मौलिक चरित्र मजबूत करने का किया आह्वान

venkaiah-calls-children-to-strengthen-the-fundamental-character
हैदराबाद 30 जुलाई, उपराष्ट्रपति एम वैंकेया नायडू ने शनिवार को स्कूल से ही बच्चों में मजबूत नैतिक चरित्र और युवा अवस्था में ही सद्भाव , भाईचारे के राष्ट्रीय मूल्यों को विकसित करने का आह्वान किया। श्री नायडू यहां रामतंपुर में हैदराबाद पब्लिक स्कूल के स्वर्ण जयंती समारोह का उद्धाटन करने के बाद बोल रहे थे। श्री नायडू ने याद किया कि हमारे राष्ट्रपिता ने ऐसे भारत की कल्पना की थी जो धर्म, जाति, लिंग या यहां तक कि जन्म स्थान के आधार पर भेदभाव नहीं करता है और इस तरह विचारों से ही भारत एक विशेष राष्ट्र बनता हैं। उन्होंने कहा कि सभी बाधाओं के खिलाफ इन मूल्यों का अभ्यास करने और उनकी रक्षा करने का संकल्प लें। उन्होंने शैक्षणिक संस्थानों में उत्कृष्टता को आदर्श वाक्य बनाने का आग्रह किया और स्कूलों को राष्ट्रीय शिक्षा नीति (एनईपी) 2020 का पूरा लाभ उठाने की सलाह दी। उन्होंने स्कूलों में मातृभाषा के उपयोग के मुद्दे पर बात करते हुए चिंता व्यक्त की कि कुछ स्कूल छात्रों को अंग्रेजी में बोलने और सीखने के लिए प्रोत्साहित करते हैं। इस अवसर पर तेलंगाना के गृहमंत्री मोहम्मद महमूद अली, विधायक बी सुभाष रेड्डी, वकाती करुणा, सचिव, शिक्षा सहित स्कूल के पूर्व छात्र और अन्य उपस्थित थे।

कोई टिप्पणी नहीं: