खुदरा महंगाई और तिमाही परिणाम का शेयर बाजार पर रहेगा असर - Live Aaryaavart (लाईव आर्यावर्त)

Breaking

विजयी विश्व तिरंगा प्यारा , झंडा ऊँचा रहे हमारा। देश की आज़ादी के 75 वर्ष पूरे होने पर सभी देशवासियों को अनेकानेक शुभकामनाएं व बधाई। 'लाइव आर्यावर्त' परिवार आज़ादी के उन तमाम वीर शहीदों और सेनानियों को कृतज्ञता पूर्ण श्रद्धासुमन अर्पित करते हुए नमन करता है। आइए , मिल कर एक समृद्ध भारत के निर्माण में अपनी भूमिका निभाएं। भारत माता की जय। जय हिन्द।

रविवार, 7 अगस्त 2022

खुदरा महंगाई और तिमाही परिणाम का शेयर बाजार पर रहेगा असर

-impact-on-the-stock-market
मुंबई 07 अगस्त, विदेशी संस्थागत निवेशकों (एफआईआई) की जारी लिवाली की बदौलत बीते सप्ताह लगभग डेढ़ प्रतिशत की छलांग लगा चुके घरेलू शेयर बाजार पर अगले सप्ताह जुलाई की खुदरा महंगाई और कंपनियों के चालू वित्त वर्ष की पहली तिमाही के परिणाम का असर रहेगा। बीते सप्ताह बीएसई का तीस शेयरों वाला संवेदी सूचकांक 817.60 अंक की तेजी लेकर सप्ताहांत पर 58 हजार अंक के मनोवैज्ञानिक स्तर के पार 58387.93 अंक और नेशनल स्टॉक एक्सचेंज (एनएसई) का निफ्टी 239.25 अंक मजबूत होकर 17397.50 अंक पर रहा। सप्ताहांत पर बीएसई का मिडकैप 428.15 अंक चढ़कर 24479.05 अंक और स्मॉलकैप 548.7 अंक बढ़कर 27605.08 अंक पर रहा। विश्लेषकों के अनुसार, अगले सप्ताह 12 अगस्त को जुलाई की खुदरा महंगाई और औद्योगिक उत्पादन का आंकड़ा जारी होने वाला है। इसी तरह 10 अगस्त को अमेरिका में भी खुदरा महंगाई का आंकड़ा आएगा। अगले सप्ताह इन कारकों का बाजार पर असर रहेगा। इसी तरह सोमवार को देश के सबसे बड़े वाणिज्यिक बैंक स्टेट बैंक (एसबीआई), एचपीसीएल और बीपीसीएल का चालू वित्त वर्ष की पहली तिमाही का परिणाम जारी होगा, जिसका प्रभाव बाजार पर रहेगा। इसके अलावा वैश्विक स्तर पर बढ़ रहे भू राजनीतिक तनाव के साथ ही स्थानीय स्तर पर रिजर्व बैंक के महंगाई को काबू में रखने के लिए नीतिगत दरों में की गई बढ़ोतरी पर भी अगले सप्ताह बाजार की प्रतिक्रिया देखी जा सकेगी। वैश्विक बाजारों की तेजी से उत्साहित निवेशकों की स्थानीय स्तर पर हुई चौतरफा लिवाली की बदौलत सोमवार को सेंसेक्स 545.25 अंक की छलांग लगाकर साढ़े तीन महीने के उच्चतम स्तर 58 हजार अंक के मनोवैज्ञानिक स्तर के पार 58115.50 अंक और निफ्टी 181.80 की तेजी लेकर 17340.05 अंक पर रहा। विदेशी बाजारों की गिरावट के बावजूद स्थानीय स्तर पर सीडीजीएस, एफएमसीजी, यूटिलिटीज, ऑटो और पावर समेत नौ समूहों में हुई लिवाली से शेयर बाजार में मंगलवार लगातार पांचवें दिन भी तेजी पर रहा। सेंसेक्स 20.86 अंक बढ़कर 58136.36 अंक और निफ्टी 5.40 अंक की बढ़त लेकर 17345.45 अंक पर रहा। उभरते एशियाई बाजारों में छह माह बाद जुलाई में विदेशी संस्थागत निवेशकों (एफआईआई) की हुई लिवाली की बदौलत बुधवार घरेलू शेयर बाजार का लगातार छठे दिन भी चढ़ना जारी रहा। सेंसेक्स 214.17 अंक की तेजी लेकर 58350.53 अंक और निफ्टी 42.70 अंक बढ़कर 17388.15 अंक पर रहा। अंतरराष्ट्रीय बाजारों की तेजी के बावजूद स्थानीय स्तर पर दूरसंचार, यूटिलिटीज, बैंकिंग और रियल्टी समेत आठ समूहों में हुई बिकवाली से गुरुवार को शेयर बाजार की पिछले लगातार छह दिन की तेजी आज थम गई। सेंसेक्स 51.73 अंक गिरकर 58,298.80 अंक और निफ्टी 6.15 अंक फिसलकर 17,382 अंक पर आ गया। वहीं, रिजर्व बैंक के नीतिगत दरों में आधी फीसदी की वृद्धि पर शुक्रवार को शेयर बाजार की ठंडी प्रतिक्रिया रही। सेंसेक्स 89.13 अंक की मामूली बढ़त लेकर 58387.93 अंक और निफ्टी 15.50 अंक बढ़कर 17397.50 अंक पर रहा।

कोई टिप्पणी नहीं: