बिहार : प्रधानमंत्री बनाने का दिवास्वप्न देख रहे उपेन्द्र : मोर्चा - Live Aaryaavart (लाईव आर्यावर्त)

Breaking

विजयी विश्व तिरंगा प्यारा , झंडा ऊँचा रहे हमारा। देश की आज़ादी के 75 वर्ष पूरे होने पर सभी देशवासियों को अनेकानेक शुभकामनाएं व बधाई। 'लाइव आर्यावर्त' परिवार आज़ादी के उन तमाम वीर शहीदों और सेनानियों को कृतज्ञता पूर्ण श्रद्धासुमन अर्पित करते हुए नमन करता है। आइए , मिल कर एक समृद्ध भारत के निर्माण में अपनी भूमिका निभाएं। भारत माता की जय। जय हिन्द।

शनिवार, 13 अगस्त 2022

बिहार : प्रधानमंत्री बनाने का दिवास्वप्न देख रहे उपेन्द्र : मोर्चा

bihar-news-morcha
पटना 13 अगस्त, राष्ट्रीय सामाजिक न्याय मोर्चा के राष्ट्रीय प्रधान महासचिव सह भाजपा कार्यसमिति सदस्य नरेष महतो एंव मोर्चा के राष्ट्रीय प्रवक्ता नीलमणि पटेल ने प्रेस बयान जारी करते हुए कहा कि मुख्यमंत्री श्री नीतीष कुमार को प्रधानमंत्री बनाने का दिवास्वप्न देख रहे है जदयू संसदीय बोर्ड के अध्यक्ष उपेन्द्र कुषवाहा जबकि सच्चाई यह है कि प्रधानमंत्री पद के लिए 2024 तो क्या 2029 मे भी कोई भैकेंसी नही है। मोर्चा नेताओ ने कहा जदयू संसदीय बोर्ड के अध्यक्ष श्री उपेन्द्र कुषवाहा का राजनीतिक इतिहास ही अवसरवाद का रहा है। ये जहा देखते खीर वहि जाते है फिर। प्रधानमंत्री पद के लिए देष की हालात पूर्ण रुपेण भाजपा के पक्ष मे है न कि भ्रष्टाचारियो की गोद मे बैठकर नकली समाजवादियो के लिए है। बिहार की जनता श्री नीतीष कुमार के राजनीतिक चरित्र को अब भलि-भाति समझ चुकी है। जनता दल यू मे आज जो नेता श्री नीतीष कुमार को प्रधानमंत्री पद का बेहतर उम्मीदवार बता रहे है उन नेताओ की जनता के बीच कोई वजूूद व अस्तित्व नही है। जिन्हे जनता ने रिजेक्ट कर दिया वे ही श्री नीतीष कूमार के चापलूसी मे व उन्हे खुष करने के लिए प्रधानमंत्री का उम्मीदवार बता रहे है।  मोर्चा नेताओ ने कहा कि जनता द्धारा रिजेक्ट किये जाने के पष्चात जब श्री कुषवाहा जी की राजनीतिक अस्तित्व पर खतरा मंडराने लगा तब वे श्री नीतीष कुमार के आगे नतमस्तक होकर किसी तरह विधान परिषद मे जगह बना पाने मे कामयाब हुये। अब अपनी राजनीतिक भविष्य को सुरक्षित रखने की जुगार मे लगे श्री कुषवाहा नीतीष जी को प्रधानमंत्री के पद का उम्मीदवार बता कर अपनी पार्टी मे वाह-वाही बटोरने मे लगे है। इससे श्री कुषवाहा को कोई खास लाभ मिलने वाला नही है।  

कोई टिप्पणी नहीं: