बिहार : ₹1 गुरु दक्षिणा में पढ़ाने वाले शिक्षक को क्यों कर रहा है पूरा देश सलाम - Live Aaryaavart (लाईव आर्यावर्त)

Breaking

विजयी विश्व तिरंगा प्यारा , झंडा ऊँचा रहे हमारा। देश की आज़ादी के 75 वर्ष पूरे होने पर सभी देशवासियों को अनेकानेक शुभकामनाएं व बधाई। 'लाइव आर्यावर्त' परिवार आज़ादी के उन तमाम वीर शहीदों और सेनानियों को कृतज्ञता पूर्ण श्रद्धासुमन अर्पित करते हुए नमन करता है। आइए , मिल कर एक समृद्ध भारत के निर्माण में अपनी भूमिका निभाएं। भारत माता की जय। जय हिन्द।

बुधवार, 17 अगस्त 2022

बिहार : ₹1 गुरु दक्षिणा में पढ़ाने वाले शिक्षक को क्यों कर रहा है पूरा देश सलाम

आज पूरा देश 76 वा स्वतंत्र दिवस मना रहा है। देश को आजादी दिलाने में हमारे देश के वीर जवानों का बलिदान कभी देश भूल नहीं सकता है। हिंदुस्तान को फिर से सोने की चिड़िया बनाने के लिए वर्तमान के प्रतिभाओं को भी आगे आकर राष्ट्र निर्माण में अपना योगदान देना पड़ेगा। आज देश में वैसे प्रतिभाएं हैं जो अपने अपने क्षेत्र में बेहतर कार्य करके हिंदुस्तान को विश्व गुरु बनाने की ओर अग्रसर कदम बढ़ा रहे हैं। आज हम बात कर रहे हैं बिहार के एक शिक्षक के बारे में जिनको पूरा देश सलाम कर रहा है। पिछले कई वर्षों से सिर्फ ₹1 गुरु दक्षिणा में पढ़ाकर सैकड़ों स्टूडेंट्स को इंजीनियर बनाने वाले बिहार के आर के श्रीवास्तव को पूरा देश सलाम कर रहा है। सिर्फ ₹1 में उनसे पढ़कर सैकड़ों स्टूडेंट्स इंजीनियर के अलावा अलग-अलग प्रतिष्ठित पदों पर शुमार हैं। स्वतंत्रता दिवस के दिन आरके श्रीवास्तव का एक पोस्ट सोशल मीडिया पर वायरल हो रहा है। उन्होंने ₹1 गुरु दक्षिणा प्रोग्राम के स्टूडेंट से मिलकर उनके उज्जवल भविष्य के लिए बधाई एवं शुभकामनाएं दिया और लिखा कि, मेरे द्वारा स्थापित "₹1 गुरु दक्षिणा प्रोग्राम"के तहत सिर्फ ₹1 में शिक्षा ग्रहण कर रहे स्टूडेंट्स से मिलकर काफी खुशी हुआ, सभी TEACHERS का आभार व्यक्त करते हैं जो दिन-रात बेहतर शिक्षा के लिए परिश्रम कर रहे हैं। करीब डेढ़ महीने के बाद बिहार राज्य के रोहतास जिले के बिक्रमगंज स्थित अपने घर आया हूं, पुराने स्टूडेंट से भी मिला और कुछ नए स्टूडेंट से भी मिला जो सिर्फ ₹1 देकर अपना पढ़ाई प्रारंभ किए हैं ,क्या आम क्या खास सभी ₹1 गुरु दक्षिणा देकर पढ़ाई कर रहे हैं। चाहे गरीब हो या मध्यमवर्गीय हो या संपन्न परिवार से हो सभी ₹1 गुरु दक्षिणा देकर पढ़ाई करते हैं। आज मुझे बहुत खुशी हो रहा है कि ₹1 गुरु दक्षिणा प्रोग्राम से काफी अधिक स्टूडेंट्स लाभान्वित हो रहे हैं और अपने सपने को साकार कर रहे हैं। इन स्टूडेंट्स के सपने को साकार करने और शिक्षकों को सैलरी देने के लिए काफी  अधिक पैसे की जरूरत होता है जिसके लिए मैं देश के अलग-अलग हिस्सों में गेस्ट फैकेल्टी के रूप में प्रतिष्ठित संस्थानों में पढ़ाता हूं जिससे हमें जो सैलरी मिलता है उसी पैसे से बिहार राज्य के रोहतास जिले में ₹1 गुरु दक्षिणा प्रोग्राम मैं चलाता हूं। ₹1 गुरु दक्षिणा प्रोग्राम से पढ़कर सैकड़ों से अधिक बच्चे आज सफल इंसान बनकर अपने सपने को साकार कर रहे हैं। वर्तमान में भी पढ़ने वाले बच्चे एक दिन जरुर सफल इंसान बनेंगे और हिंदुस्तान को विश्व गुरु बनाने में अपना योगदान जरूर देंगे। कुछ नए स्टूडेंट से मैं मिला जो ₹1 गुरु दक्षिणा देकर नामांकन लिए है जो 1 दिन सफल इंसान जरूर बनेंगे।

कोई टिप्पणी नहीं: