मुहर्रम जुलूस निकाल रहे कई हिरासत में - Live Aaryaavart (लाईव आर्यावर्त)

Breaking

विजयी विश्व तिरंगा प्यारा , झंडा ऊँचा रहे हमारा। देश की आज़ादी के 75 वर्ष पूरे होने पर सभी देशवासियों को अनेकानेक शुभकामनाएं व बधाई। 'लाइव आर्यावर्त' परिवार आज़ादी के उन तमाम वीर शहीदों और सेनानियों को कृतज्ञता पूर्ण श्रद्धासुमन अर्पित करते हुए नमन करता है। आइए , मिल कर एक समृद्ध भारत के निर्माण में अपनी भूमिका निभाएं। भारत माता की जय। जय हिन्द।

रविवार, 7 अगस्त 2022

मुहर्रम जुलूस निकाल रहे कई हिरासत में

many-shia-muslims-taking-out-muharram-procession-in-custody
श्रीनगर 07 अगस्त, श्रीनगर में रविवार को आठ थाना क्षेत्रों में लगी पाबंदियों के बीच मुहर्रम का जुलूस निकालने का प्रयास कर रहे कई शिया मुसलमानों को पुलिस ने एहतियातन हिरासत में ले लिया। श्रीनगर शहर के आठ थाना क्षेत्रों में लगाए गए प्रतिबंधों के बीच कई स्थानों पर मुहर्रम का जुलूस निकालने का प्रयास कर रहे बड़ी संख्या में शिया मुसलमान को पुलिस ने प्रतिबंधित मार्ग के पास एहतियातन हिरासत में ले लिया। पुलिस ने आज यहां जारी एक बयान में कहा है कि यह कानून और व्यवस्था कायम रखने के लिए किया गया। हालांकि किसी के खिलाफ कोई मामला दर्ज नहीं किया गया है। पुलिस ने आम जनता और पर्यटकों से प्रतिबंधों के कारण हुई असुविधा पर भी खेद व्यक्त किया और कहा कि यह सांप्रदायिक झड़पों या पुलिस/ बलों के साथ किसी भी तरह के विवाद रहित शांतिपूर्ण सार्वजनिक जनजीवन के लिए किया गया था। कुछ युवाओं ने छिटपुट स्थानों पर व्यक्तिगत रूप से बाहर आने का प्रयास किया लेकिन बिना किसी बल या आंसू गैस के उन्हें हिरासत में ले लिया गया। आज न तो कोई राष्ट्र विरोधी नारा और न ही सांप्रदायिक नारा सुना गया। पुलिस ने कहा कि इन क्षेत्रों में यात्रा प्रतिबंध अब हटा दिया गया हैं और शहर में स्थिति पूरी तरह से शांतिपूर्ण है अधिकारियों ने भारी संख्या में सुरक्षा बलों को तैनात किया था और शिया मुसलमानों को मुहर्रम का जुलूस निकालने से रोकने के लिए श्रीनगर शहर के कुछ हिस्सों में कई सड़कों पर बैरिकेडिंग लगा दी गई थी। जिन शिया मुसलमानों को आठवें दिन मुहर्रम ताजिया जुलूस को श्रीनगर के गुरु बाजार से शहीदगंज, मौलाना आजाद रोड से शहर के केंद्र में डलगेट इमाम बारा तक ले जाना था, उन्हें जिला अधिकारियों ने अनुमति नहीं दी। एक आधिकारिक प्रवक्ता ने बताया कि श्रीनगर के जिला मजिस्ट्रेट ने शनिवार को फैसला किया कि सार्वजनिक सुरक्षा और कानून व्यवस्था को ध्यान में रखते हुए गुरु बाजार से डलगेट और अबी गुजर से क्रमश: मुहर्रम से संबंधित जुलूसों की अनुमति नहीं दी जाएगी। शिया समुदाय को विशेष रूप से मुहर्रम की आठ तारीख को गुरु बाजार से डलगेट तक धार्मिक जुलूस निकालने की अनुमति देने के लिए हाल ही में उच्च न्यायालय में एक जनहित याचिका दायर की गई थी। अदालत ने सक्षम अधिकारी से मुहर्रम के जुलूस को लेकर फैसला लेने को कहा था। वर्ष 1989 से सिटी सेंटर में मुहर्रम के जुलूस की अनुमति नहीं दी गई है। मुहर्रम के जुलूस हमेशा की तरह शहर के अंदरूनी हिस्सों और कश्मीर घाटी के अन्य जिलों में आयोजित किए जा रहे हैं। एक पुलिस परामर्श में कहा गया, “आम जनता से अनुरोध है कि वे कानून के शासन का सम्मान करें और जुलूस रैली की किसी भी अफवाह समर्थन न करें।” यातायात पुलिस की एक एडवाइजरी में कहा गया,“मुहर्रम-उल-हराम के मद्देनजर श्रीनगर शहर में कई कट ऑफ स्थापित किए जाएंगे, ताकि सिटी सेंटर की ओर लोगों की आवाजाही को हतोत्साहित किया जा सके। आम जनता, मोटर चालकों को वैकल्पिक मार्गों का उपयोग करने के लिए निर्देशित किया गया है।”

कोई टिप्पणी नहीं: