बिहार : मंत्रिमंडल विस्तार में 31 विधायकों को दिलाई गई मंत्री पद की शपथ - Live Aaryaavart (लाईव आर्यावर्त)

Breaking

विजयी विश्व तिरंगा प्यारा , झंडा ऊँचा रहे हमारा। देश की आज़ादी के 75 वर्ष पूरे होने पर सभी देशवासियों को अनेकानेक शुभकामनाएं व बधाई। 'लाइव आर्यावर्त' परिवार आज़ादी के उन तमाम वीर शहीदों और सेनानियों को कृतज्ञता पूर्ण श्रद्धासुमन अर्पित करते हुए नमन करता है। आइए , मिल कर एक समृद्ध भारत के निर्माण में अपनी भूमिका निभाएं। भारत माता की जय। जय हिन्द।

बुधवार, 17 अगस्त 2022

बिहार : मंत्रिमंडल विस्तार में 31 विधायकों को दिलाई गई मंत्री पद की शपथ

bihar-cabinet-oath
पटना, 16 अगस्त, बिहार में नवगठित मंत्रिमंडल में विस्तार करते हुए मंगलवार को राष्ट्रीय जनता दल (राजद) के 16, जनता दल (यूनाइटेड) जदयू के 11, कांग्रेस के दो तथा एक निर्दलीय सहित कुल 31 विधायकों को मंत्री पद की शपथ दिलाई गयी। राज्यपाल फागू चौहान ने राजभवन में आयोजित एक सादे समारोह में 31 विधायकों को पद एवं गोपनीयता की शपथ दिलायी । बिहार विधानसभा में सबसे बड़ी पार्टी राजद के जिन 16 विधायकों ने मंत्री के तौर पर शपथ ली उनमें पार्टी प्रमुख लालू प्रसाद यादव के बड़े पुत्र तेजप्रताप यादव, आलोक मेहता, सुरेंद्र प्रसाद यादव, रामानंद यादव, ललित यादव, कुमार सर्वजित, चंद्रशेखर, समीर कुमार महासेठ, अनिता देवी, सुधाकर सिंह, जितेंद्र कुमार राय, मोहम्मद इसराईल मंसूरी, सुरेंद्र राम, कार्तिक सिंह, शाहनवाज आलम एवं शमीम अहमद शामिल हैं। मुख्यमंत्री नीतीश कुमार की पार्टी जदयू से जिन 11 विधायकों ने आज शपथ ली उनमें विजय कुमार चौधरी, बिजेंद्र यादव, अशोक चौधरी, श्रवण कुमार, लेसी सिंह, मदन सहनी, संजय झा, शीला कुमारी, सुनील कुमार, मोहम्मद जमा खान एवं जयंत राज शामिल हैं । इसके अलावा कांग्रेस के दो विधायक आफाक आलम एवं मुरारी गौतम, हिंदुस्तानी अवाम मोर्चा के एक विधायक और पूर्व मुख्यमंत्री जीतन राम मांझी के पुत्र संतोष कुमार सुमन तथा निर्दलीय विधायक सुमित कुमार सिंह ने भी मंत्री के तौर पर शपथ ली। नए मंत्रिमंडल में मुसलमानों की संख्या पांच है जो पिछली सरकार में केवल दो थी। राजद ने यादव समुदाय को मंत्रिमंडल में सबसे अधिक सात सीटें दी हैं जिनमें पार्टी अध्यक्ष लालू प्रसाद के बड़े बेटे तेज प्रताप यादव और तेजस्वी यादव शामिल हैं। इसमें उपमुख्यमंत्री तेजस्वी यादव की व्यापक सामाजिक पहुंच को ध्यान में रखते हुए उच्च जातियों को भी प्रतिनिधित्व दिया गया। राजद कोटे से भूमिहार समुदाय से आने वाले बिहार विधान परिषद सदस्य कार्तिकेय सिंह और राजपूत समुदाय से आने वाले विधायक सुधाकर सिंह को मंत्रिमंडल में स्थान दिया गया है। कांग्रेस से मंत्रिमंडल में शामिल किए गए दो विधायकों में से एक दलित और एक मुस्लिम समुदाय से आते हैं।

कोई टिप्पणी नहीं: