बुखार का कोई भी लक्षण दिखाई देने पर डॉक्टर से सलाह जरूर लें : चौहान - Live Aaryaavart (लाईव आर्यावर्त)

Breaking

विजयी विश्व तिरंगा प्यारा , झंडा ऊँचा रहे हमारा। देश की आज़ादी के 75 वर्ष पूरे होने पर सभी देशवासियों को अनेकानेक शुभकामनाएं व बधाई। 'लाइव आर्यावर्त' परिवार आज़ादी के उन तमाम वीर शहीदों और सेनानियों को कृतज्ञता पूर्ण श्रद्धासुमन अर्पित करते हुए नमन करता है। आइए , मिल कर एक समृद्ध भारत के निर्माण में अपनी भूमिका निभाएं। भारत माता की जय। जय हिन्द।

बुधवार, 17 अगस्त 2022

बुखार का कोई भी लक्षण दिखाई देने पर डॉक्टर से सलाह जरूर लें : चौहान

नई दिल्ली। बारिश का मौसम शुरू हो चुका है इसके साथ ही मच्छरों से फैलने वाली बीमारियों का कहर भी लगातार बढ़ता जा रहा है।  इस बारिश के मौसम में जगह-जगह पानी भरने की वजह से मच्छरों का प्रकोप बढ़ गया है। इस मौसम में मच्छरों से फैलने वाली बीमारी डेंगू ,चिकनगुनिया,मलेरिया आदि बीमारियों से बचने के लिए विशेष सावधानी बरतनी चाहिए।  इसकी चपेट में आने पर कई लोगों की कंडीशन गंभीर हो जाती है।  इनमें से खतरनाक होता डेंगू एक वायरल डिजीज है, जो मच्छरों के काटने से फैलता है।  अगर बारिश के मौसम में कुछ सावधानियां बरती जाएं, तो डेंगू से बचाव किया जा सकता है।  इन बीमारियों से बचाव के लिए पिछले चार से अधिक दशकों से सुल्तान पुरी क्षेत्र में लोगों की सस्ता और कारगार इलाज देने वाले और कई सरकारी अथवा अर्ध सरकारी विभागों ने पैनलिस्ट प्रसिद्ध चिकित्सक एवं जनरल फिजिशियन डॉ. गजेंद्र चौहान ने मौसम जनित इस बीमारियों खासकर डेंगू से बचने के के कुछ उपाय सुझाते हुए कहा कि डेंगू एक वायरल डिजीज है, जो एडीज मच्छर के काटने से फैलती है।  डेंगू के मामले बरसात में बढ़ जाते हैं।  सितंबर से लेकर नवंबर तक डेंगू का खतरा ज्यादा रहता है।  डेंगू की चपेट में आने पर तेज बुखार के साथ पीड़ित की प्लेटलेट्स कम हो जाती हैं और शरीर कमजोर हो जाता है।  इसका सही समय पर इलाज कराना जरूरी होता है।  लापरवाही बरतने से स्थिति गंभीर हो सकती है. इसलिए बुखार आने पर सभी लोगों को ब्लड टेस्ट जरूर कराना चाहिए।  उन्होंने बताया कि डेंगू से बचाव के लिए आपको मच्छरों से बचाव करना होगा। बरसात का पानी खाली बर्तनों या गमलों में इकट्ठा न होने दें।  कूलर का पानी समय-समय पर बदलते रहें। मच्छरों से बचने के लिए मॉस्किटो रेपेलेंट क्रीम या लोशन लगाएं।  रात के समय मच्छरदानी लगाकर सोना चाहिए।  इसके अलावा बुखार का कोई भी लक्षण दिखाई देने पर डॉक्टर से सलाह लेकर तुरंत ब्लड टेस्ट कराना चाहिए। अगर आप शुरुआती स्टेज पर इसका इलाज शुरू कर देंगे, तो आप करीब 1 सप्ताह में डेंगू से रिकवर हो सकते हैं।  प्लेटलेट्स बढ़ाने के लिए हेल्दी डाइट लेना भी जरूरी होता है। 

कोई टिप्पणी नहीं: