सीतामढ़ी : दाखिल-खारिज से संबंधित समीक्षात्मक बैठक - Live Aaryaavart (लाईव आर्यावर्त)

Breaking

विजयी विश्व तिरंगा प्यारा , झंडा ऊँचा रहे हमारा। देश की आज़ादी के 75 वर्ष पूरे होने पर सभी देशवासियों को अनेकानेक शुभकामनाएं व बधाई। 'लाइव आर्यावर्त' परिवार आज़ादी के उन तमाम वीर शहीदों और सेनानियों को कृतज्ञता पूर्ण श्रद्धासुमन अर्पित करते हुए नमन करता है। आइए , मिल कर एक समृद्ध भारत के निर्माण में अपनी भूमिका निभाएं। भारत माता की जय। जय हिन्द।

गुरुवार, 18 अगस्त 2022

सीतामढ़ी : दाखिल-खारिज से संबंधित समीक्षात्मक बैठक

sitamarhi-news-dm
सीतामढ़ी: इस जिले के जिला पदाधिकारी मनेश कुमार मीणा की अध्यक्षता में समाहरणालय स्थित परिचर्चा भवन में कृषि टास्क फोर्स, आवास योजना एवं दाखिल-खारिज से संबंधित समीक्षात्मक बैठक आयोजित की गई. बैठक में नलकूप मरम्मती, धान रोपनी,  उर्वरक की प्रखंडवार उपलब्धता एवं बिक्री की समीक्षा की गई. लघु सिंचाई के कार्यपालक अभियंता के द्वारा बताया गया कि 181 नलकूप मरम्मती का एस्टीमेट बन गया है जिसमें 81 का वर्क ऑर्डर दे दिया गया है. शेष का एक सप्ताह के अंदर वर्क आर्डर दे दिया जाएगा. खाद के वितरण पर प्रखंड स्तरीय सभी पदाधिकारी को कड़ी नजर रखने का निर्देश दिया गया. धान रोपनी की समीक्षा में बताया गया कि 92 प्रतिशत धान रोपनी कर ली गई है. अगर बारिश नहीं होती है तो शेष जगहों पर अल्टरनेटिव फसल के बीज तैयार रखने का निर्देश दिया गया. आवास योजना के समीक्षा में सभी अंचलाधिकारी को निर्देश दिया गया कि भूमिहीन परिवारों का जब तक भूमि उपलब्ध नहीं करा दिया जाएगा तब तक वेतन स्थगित रहेगा। प्रधानमंत्री आवास योजना ग्रामीण में सबसे ज्यादा आवास लंबित रखने वाले पांच प्रखंड रुन्नीसैदपुर, मेजरगंज, सोनबरसा, सुरसंड एवं परिहार से स्पष्टीकरण करने का निर्देश दिया गया.   आधार सीडिंग शत-प्रतिशत करने का निर्देश दिया गया. आवास ऐप प्लस में सबसे ज्यादा आवास अपूर्ण रखने वाले पांच प्रखंड सोनबरसा, रुन्नीसैदपुर, परिहार, सुरसंड एवं नानपुर से स्पष्टीकरण की मांग की गई. मुख्यमंत्री ग्रामीण आवास योजना गुच्छ में निर्मित आवास जो जीर्ण-शीर्ण अवस्था में है ऐसे 414 लाभुकों को स्वीकृति के लिए डीआरडीए भेजने का निर्देश दिया गया. इंदिरा आवास में ऐसे लाभुक जो आवास पूर्ण नहीं कर रहे हैं उन्हें आवास पूर्ण करने का निर्देश दिया गया. मनरेगा में अमृत सरोवर योजना की समीक्षा में पाया गया कि 75 में 24 तालाब का कार्य पूर्ण है जिस पर 15 अगस्त को झंडोत्तोलन किया गया. मनरेगा में अनुसूचित जाति एवं अनुसूचित जनजाति की भागीदारी पर निर्देश दिया गया कि 2 दिनों के अंदर अनुसूचित जाति एवं अनुसूचित जनजाति परिवारों का अधिक से अधिक जॉब कार्ड उपलब्ध कराना सुनिश्चित करें. बैठक के अंत में सभी अंचल अधिकारियों से दाखिल-खारिज की समीक्षा की गई एवं आवश्यक दिशा निर्देश दिए गए. उक्त बैठक में उप विकास आयुक्त विनय कुमार, अपर समाहर्ता मनीष कुमार शर्मा, जिला पंचायती राज पदाधिकारी अविनाश कुमार, एपीओ आलोक कुमार, डीपीओ मनरेगा राजीव कुमार, सभी प्रखंड विकास पदाधिकारी, अंचलाधिकारी, कार्यक्रम पदाधिकारी मनरेगा, के साथ ग्रामीण आवास पर्यवेक्षक उपस्थित थे.    

कोई टिप्पणी नहीं: