समय सीमा के भीतर कार्यपूर्ण न होने पर संबंधित अधिकारियों की होगी छुट्टी : योगी - Live Aaryaavart (लाईव आर्यावर्त)

Breaking

विजयी विश्व तिरंगा प्यारा , झंडा ऊँचा रहे हमारा। देश की आज़ादी के 75 वर्ष पूरे होने पर सभी देशवासियों को अनेकानेक शुभकामनाएं व बधाई। 'लाइव आर्यावर्त' परिवार आज़ादी के उन तमाम वीर शहीदों और सेनानियों को कृतज्ञता पूर्ण श्रद्धासुमन अर्पित करते हुए नमन करता है। आइए , मिल कर एक समृद्ध भारत के निर्माण में अपनी भूमिका निभाएं। भारत माता की जय। जय हिन्द।

गुरुवार, 4 अगस्त 2022

समय सीमा के भीतर कार्यपूर्ण न होने पर संबंधित अधिकारियों की होगी छुट्टी : योगी

  • मंडलीय समीक्षा बैठक में मुख्यमंत्री के निशाने पर रहा बिजली विभाग, पुलिस और नगर निगम, मिशन मोड में पात्रता की श्रेणी में आने वाले शत-प्रतिशत लोगों को निःशुल्क बूस्टर डोज लगवाया जाएं 
  • अधिकारी नियमित रूप से अपने-अपने कार्यालयों में उपस्थित रहकर जनसुनवाई करें और जनता की समस्याओं का निस्तारण करें, बाढ़ एवं सूखा से निपटने के लिए पूरी तैयारी रखी जाएं , मुख्यमंत्री ने हर घर तिरंगा अभियान का औपचारिक शुरुआत की 

cm-yogi-news
वाराणसी। मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने मंडलीय समीक्षा के दौरान अधिकारियों को चेताते हुए कहा है कि समय सीमा के भीतर निर्माणाधीन परियोजनाओं का कार्य पूर्ण न होने पर संबंधित अधिकारियों की छुट्टी होगी। इसके अलावा पुलिस, बिजली विभाग व नगर निगम की ढुलमुल कार्यप्रणाली पर कड़ी फटकार लगाते हुए कहा है कि पुलिस की छवि में पहले की अपेक्षा बहुत सुधार हुआ है लेकिन और सुधार की जरूरत है। अवैध वसूली किसी भी हाल में नहीं होनी चाहिए। पुलिस पब्लिक की हितेषी बने। जनता बिना भय के थाना तक जाकर अपनी बात रख सके, ऐसा माहौल बनाएं। मुख्यमंत्री दो दिवसीय काशी दौरे पर हैं। कमिश्नरी सभागार में विकास कार्य व कानून व्यवस्था की समीक्षा कर रहे थे। उन्होंने अधिकारियों को निर्देशित करते हुए कहा कि जिन परियोजनाओं पर कार्य शुरू है, उन्हें युद्ध स्तर पर अभियान चलाकर प्राथमिकता पर पूरा कराएं। इसमें किसी भी प्रकार की शिथिलता बर्दाश्त नहीं की जाएगी। इस दौरान सभी विधायकगण भी मौजूद रहे। विधायक सौरभ श्रीवास्तव के शिकायत पर सीएम ने नगर आयुक्त को आड़े हाथ लेते हुए कहा कि पिछली बार भी नगर निगम में शामिल गांवों में सफाई व्यवस्था ठीक न होने का मामला आया था लेकिन कुछ कार्य न होना लापरवाही है, सुधार लाएं। अगली बार एकदम शिकायत नहीं मिलनी चाहिए। मुख्यमंत्री ने बिजली विभाग को हिदायत दी कि बिजली बिल गड़बड़ी की शिकायतें बहुत आ रही हैं, इसे ठीक कराएं। जनता को तकलीफ नहीं होनी चाहिए। साथ ही उन्होंने जिले स्तर पर भी बिजली विभाग की समीक्षा को निर्देश दिया। मुख्यमंत्री ने कहा कि बिजली बिलिंग में गड़बड़ी को ठीक से दिखवाया जाएं।


मुख्यमंत्री ने आजादी के अमृत महोत्सव के क्रम में मनाएं जा रहे हर घर झंडा अभियान को सफल बनाने का निर्देश दिया। कहा कि सभी कार्यालय में खादी का ही झंडा फहराया जाए। घर पर तिरंगा लगाने के लिए किसी पर दबाव न बनाया जाए। मन्दिर व मस्जिद में लाउडस्पीकर हटाने का अभियान जारी रखा जाए। अगर कही बज रहा है तो साउंड पर नियंत्रण होना चाहिए। जनप्रतिनिधि क्षेत्र भ्रमण के दौरान जनता की समस्याओं को अवश्य सुने और उसका निस्तारण सुनिश्चित करवाएं। उन्होंने अधिकारियों को निर्देशित करते हुए कहा कि जनप्रतिनिधियों के साथ उनका नियमित संवाद होना चाहिए। जनप्रतिनिधियों के टेलीफोन अवश्य रिसीव किए जाए। मुख्यमंत्री ने उद्यमियों की समस्याओं के निस्तारण एवं शासन स्तर से संचालित योजनाओं का लाभ उन्हें समय से और प्राथमिकता पर उपलब्ध कराए जाने पर विशेष जोर देते हुए जिला उद्योग बंधु की बैठक करने तथा उसमें उद्यमियों द्वारा उठाए गए समस्याओं का शीघ्र निस्तारण सुनिश्चित कराए जाने पर विशेष जोर दिया। काशी में पर्यटन विकास की असीम संभावना होने की चर्चा करते हुए उन्होंने अधिकारियों को इस दिशा में विशेष ध्यान दिए जाने का निर्देश दिया।  बैठक के दौरान मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ द्वारा जनप्रतिनिधियों से उनकी समस्याएं पूछे जाने पर मंत्री दयाशंकर मिश्र “दयालु“ ने सामूहिक विवाह में दिए जाने वाले धनराशि का मुद्दा उठाया। वाराणसी पिंडरा विधानसभा के विधायक डॉ अवधेश सिंह ने जल जीवन मिशन के अंतर्गत कतिपय अधिकारियों की लापरवाही का जिक्र करते हुए कहा बार-बार कहे जाने के बावजूद अधिकारी गंभीरता से नहीं ले रहे हैं। रोहनिया विधायक सुनील पटेल ने मोहनसराय में फ्लाईओवर निर्माण कराए जाने की मांग की। एमएलसी लक्ष्मण आचार्य ने रामनगर क्षेत्र में चिकित्सा व्यवस्था के सुदृढ़ीकरण की मांग की। जनपद जौनपुर, गाजीपुर एवं चंदौली के जनप्रतिनिधियों ने भी अपने-अपने क्षेत्र की कतिपय समस्याओं से मुख्यमंत्री को अवगत कराया। जिस पर मुख्यमंत्री ने संबंधित विभागीय अधिकारियों को श्याम के शीघ्र निस्तारण सुनिश्चित कराए जाने हेतु निर्देशित किया। बैठक में मंत्री अनिल राजभर, मंत्री रविंद्र जायसवाल, मंत्री दयाशंकर मिश्र ’दयालु’, जिला पंचायत अध्यक्ष पूनम मौर्या, महापौर मृदुला जायसवाल, एमएलसी लक्ष्मण आचार्य, विधायक सौरभ श्रीवास्तव, विधायक डॉ अवधेश सिंह, विधायक सुनील पटेल, प्रमुख सचिव सूचना संजय प्रसाद, कमिश्नर दीपक अग्रवाल सहित अन्य जनप्रतिनिधि एवं विभागीय अधिकारी प्रमुख रूप से उपस्थित रहें। इससे पूर्व मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ दो दिवसीय वाराणसी दौरे पर राजकीय हेलीकॉप्टर से पुलिस लाइन हेलीपैड पहुंचे और वहां से सर्किट हाउस आकर जनप्रतिनिधियों से भेंट वार्ता की।

कोई टिप्पणी नहीं: