नहीं रहे दिग्गज निवेशक राकेश झुनझुनवाला - Live Aaryaavart (लाईव आर्यावर्त)

Breaking

विजयी विश्व तिरंगा प्यारा , झंडा ऊँचा रहे हमारा। देश की आज़ादी के 75 वर्ष पूरे होने पर सभी देशवासियों को अनेकानेक शुभकामनाएं व बधाई। 'लाइव आर्यावर्त' परिवार आज़ादी के उन तमाम वीर शहीदों और सेनानियों को कृतज्ञता पूर्ण श्रद्धासुमन अर्पित करते हुए नमन करता है। आइए , मिल कर एक समृद्ध भारत के निर्माण में अपनी भूमिका निभाएं। भारत माता की जय। जय हिन्द।

रविवार, 14 अगस्त 2022

नहीं रहे दिग्गज निवेशक राकेश झुनझुनवाला

veteran-investor-rakesh-jhunjhunwala-is-no-more
मुंबई, 14 अगस्त, अरबपति निवेशक राकेश झुनझुनवाला का रविवार की सुबह यहां ब्रीच कैंडी अस्पताल में निधन हो गया। वह 62 साल के थे। श्री झुनझुनवाला के परिवार में पत्नी, दो पुत्र और एक पुत्री है। वह गुर्दे की बीमारी और कोरोनरी धमनी रोग से पीड़ित थे। उन्हें आज सुबह 06.45 बजे अस्पताल में लाया गया। अस्पताल के सूत्रों ने बताया कि श्री झुनझुनवाला की मौत हृदयघात की वजह से हुई। उन्हें जब अस्पताल लाया गया था , तब उनमें जान नहीं थी। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने श्री झुनझुनवाला के निधन पर गहन शोक व्यक्त किया। श्री मोदी ने अपने शोक संदेश में कहा, “श्री राकेश झुनझुनवाला अदम्य साहस वाले व्यक्ति थे। वह बड़े जिंदादिल, समझदार और गहरी दृष्टि वाले थे। उन्होंने वित्तीय क्षेत्र में अमिट योगदान किया है। वह भारत के प्रगति के बारे में बड़े जज्बाती थे। उनका जाना दुखद है। उनके परिवार और प्रशंसकों के प्रति मेरी संवेदना है। ओम शांति।” केंद्रीय वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण ने श्री झुनझुनवाला के निधन पर शोक व्यक्त किया। उन्होंने ट्वीट किया , “ दिग्गज निवेशक, साहसिक जोखिम लेने वाला, शेयर बाजार की उत्कृष्ट समझ रखने वाला, संचार में स्पष्ट एक कुशल व्यक्तित्व थे। हमारे बीच हुई कई बातचीत हमें याद है। उन्हें भारत की ताकत और क्षमताओं में दृढ़ विश्वास था। ओम शांति।” श्री झुनझुनवाला का जन्म पांच जुलाई 1960 को हुआ था और वह मुंबई में पले-बढ़े। यहां पर उनके पिता एक आयकर अधिकारी के रूप में कार्यरत थे। वह एक व्यापारी और चार्टर्ड एकाउंटेंट थे तथा देश के सबसे धनी व्यक्तियों में से एक थे। वह हंगामा मीडिया और एप्टेक के अध्यक्ष भी थे और उन्होंने वाइसराय होटल्स, कॉनकॉर्ड बायोटेक, प्रोवोग इंडिया और जियोजित फाइनेंशियल सर्विसेज के निदेशक के रूप में भी काम किया था। श्री झुनझुनवाला अकासा एयर और स्टार हेल्थ एंड एलाइड इंश्योरेंस के प्रमोटर भी थे। वह जब कॉलेज में थे, तब उन्होंने शेयर बाजार में हाथ आजमाना शुरू कर दिया था। उन्होंने इंस्टीट्यूट ऑफ चार्टर्ड अकाउंटेंट्स ऑफ इंडिया में दाखिला लिया, लेकिन स्नातक होने के बाद उन्होंने पहले दलाल स्ट्रीट में कदम रखने का फैसला किया। उन्होंने 1985 में शेयर बाजार में 5,000 रुपये का निवेश किया था। वह पूंजी सितंबर 2018 तक बढ़कर 11,000 करोड़ रुपये हो गई थी। उन्होंने रेखा झुनजुनवाला से शादी की थी, जो एक शेयर बाजार निवेशक भी हैं। उन्होंने करीब 10 माह पहले पत्नी के साथ प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी से मुलाकात की थी। श्री मोदी ने खुद ट्वीट करके इसकी जानकारी दी थी। उन्होंने ‘ वन एंड ऑनली राकेश झुनझुनवाला’ कहकर उनकी तारीफ की थी। प्रधानमंत्री के साथ दंपति की फोटो सोशल मीडिया पर खूब वायरल हुई थी। टाइटन, टाटा मोटर्स, क्रिसिल, ल्यूपिन, फोर्टिस हेल्थकेयर, नजारा टेक्नोलॉजीज, फेडरल बैंक, डेल्टा कॉर्प और टाटा कम्युनिकेशंस समेत 37 से ज्यादा स्टॉक में हाथ आजमाने वाले श्री झुनझुनवाला एक समय ब्रोकिंग का काम करते थे, जिस वजह से उनके सपने उड़ान नहीं भर पा रहे थे। पत्नी ने ही ट्रेडिंग कंपनी शुरू करने की सलाह दी थी।उनकी कंपनी का नाम 'रेयर इंटरप्राइजेज' है जिसका पोर्टफोलियो मैनेजमेंट वह स्वयं करते थे।

कोई टिप्पणी नहीं: