बिहार : पूर्व प्रधानमंत्री भारतरत्न राजीव गाँधी की 78वीं जयन्ती - Live Aaryaavart (लाईव आर्यावर्त)

Breaking

विजयी विश्व तिरंगा प्यारा , झंडा ऊँचा रहे हमारा। देश की आज़ादी के 75 वर्ष पूरे होने पर सभी देशवासियों को अनेकानेक शुभकामनाएं व बधाई। 'लाइव आर्यावर्त' परिवार आज़ादी के उन तमाम वीर शहीदों और सेनानियों को कृतज्ञता पूर्ण श्रद्धासुमन अर्पित करते हुए नमन करता है। आइए , मिल कर एक समृद्ध भारत के निर्माण में अपनी भूमिका निभाएं। भारत माता की जय। जय हिन्द।

रविवार, 21 अगस्त 2022

बिहार : पूर्व प्रधानमंत्री भारतरत्न राजीव गाँधी की 78वीं जयन्ती

bihar-news-congress
पटना: पूर्व प्रधानमंत्री भारतरत्न राजीव गाँधी की 78वीं जयन्ती के अवसर पर आज प्रदेश कांग्रेस कमिटी के मुख्यालय सदाकत आश्रम में बड़ी संख्या में उपस्थित कांग्रेसजनों ने सदाकत आश्रम के उद्यान में स्थित उनकी प्रतिमा पर माल्यार्पण किया.कार्यक्रम की अध्यक्षता बिहार प्रदेश कांग्रेस कमिटी के कार्यकारी अध्यक्ष श्री कौकब कादरी ने किया. इस अवसर पर श्री कौकब कादरी ने कहा कि राजीव गांधी संचार क्रांति के जनक थे तथा सत्ता के विकेन्द्रीकरण के लिये पंचायती राज की स्थापना की जिसे बाद में कांग्रेस सरकार के दौरान संविधान संशोधन कर पंचायत को विशेष अधिकार सौंपे गये. उन्होंने कहा कि राजीव गांधी ने देश के युवाओं को मताधिकार दिलाया तथा महिला सशक्तिकरण के दिशा में उल्लेखनीय कार्य किया था. श्री कादरी ने कहा कि इन्दिरा गाँधी एवं राजीव गाँधी ने देश की एकता एवं अखण्डता की रक्षा के लिये एवं इसके धर्मनिरपेक्ष चरित्र को अक्षुण्ण बनाये रखने के लिये अपनी कुर्बानी दी.उन्होंने कहा कि आज देश के धर्मनिरपेक्ष चरित्र पर बड़ा खतरा उत्पन्न हो गया है.उन्होंने कहा कि आज कांग्रेसजनों को संकल्प लेना है कि वे इंदिरा गांधी एवं राजीव गांधी के सपनों का भारत बनाने में अपनी सारी शक्ति लगायेंगे. बिहार सरकार के नवनियुक्त मंत्री आफाक आलम को पहली बार प्रदेश कांग्रेस मुख्यालय सदाकत आश्रम पहुँचने पर कांग्रेस नेताओं द्वारा गुलदस्ता देकर उनका भव्य स्वागत किया गया. इस अवसर पर स्व0 राजीव गांधी के प्रति श्रद्धांजलि अर्पित करने वालों में कार्यकारी अध्यक्ष श्याम सुन्दर सिंह धीरज, बिहार सरकार के मंत्री अफाक आलम, अनुशासन समिति के अध्यक्ष कृपानाथ पाठक, सदस्यता प्रभारी ब्रजेश प्रसाद मुनन, मीडिया प्रभारी राजेश राठौड़, हरखू झा, नरेन्द्र कुमार, लाल बाबू लाल, नागेन्द्र कुमार विकल, राजेश कुमार सिन्हा, संजीव कुमार कर्मवीर, ललन यादव, कमलदेव नारायण शुक्ला, शशि कांत तिवारी, अरविन्द लाल रजक, संतोष कुमार श्रीवास्तव, शशि रंजन, डा0 आशुतोष शर्मा, सुधा मिश्रा,उदय शंकर पटेल, सुनील कुमार सिंह, मंजीत आनन्द साहू, अभिषेक सिंह, मृणाल अनामय, अजय सिंह, असफर अहमद, प्रदुम्न यादव, निधि पाण्डेय, विमलेश तिवारी, रणधीर यादव, धनन्जय मधु, ब्रजकिशोर सिंह कुशवाहा, निरंजन कुमार, आई0पी0 गुप्ता, राजेन्द्र चौधरी, ई0 विश्वनाथ बैठा, अमित कुमार, सत्येन्द्र पासवान, कमलेश कुमार सिंह, गुरूदयाल सिंह, वशि अख्तर, सुदय शर्मा, विनय शाही, विजय कुमार विद्यार्थी, गौतम सागर,  आदि प्रमुख थे.

कोई टिप्पणी नहीं: