केजरीवाल की लोकप्रियता को रोकना चाहती है मोदी सरकार : संजय - Live Aaryaavart (लाईव आर्यावर्त)

Breaking

विजयी विश्व तिरंगा प्यारा , झंडा ऊँचा रहे हमारा। देश की आज़ादी के 75 वर्ष पूरे होने पर सभी देशवासियों को अनेकानेक शुभकामनाएं व बधाई। 'लाइव आर्यावर्त' परिवार आज़ादी के उन तमाम वीर शहीदों और सेनानियों को कृतज्ञता पूर्ण श्रद्धासुमन अर्पित करते हुए नमन करता है। आइए , मिल कर एक समृद्ध भारत के निर्माण में अपनी भूमिका निभाएं। भारत माता की जय। जय हिन्द।

शनिवार, 20 अगस्त 2022

केजरीवाल की लोकप्रियता को रोकना चाहती है मोदी सरकार : संजय

modi-government-wants-to-stop-kejriwal-popularity-sanjay
नयी दिल्ली, 20 अगस्त, आम आदमी पार्टी (आप) के वरिष्ठ नेता एवं राज्यसभा सदस्य संजय सिंह ने उपमुख्यमंत्री मनीष सिसोदिया के घर सीबीआई की छापेमारी पर कहा कि मोदी सरकार, केजरीवाल सरकार के शिक्षा और स्वास्थ्य मॉडल को बदनाम कर मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल की देशभर में बढ़ती लोकप्रियता को रोकना चाहती है। श्री सिंह ने आज यहां संवाददाता सम्मेलन में कहा कि बहुत बड़ा प्रचार किया गया कि सीबीआई का बहुत बड़ा छापा पड़ गया है। इतने बड़े छापे के बाद सीबीआई और मोदी सरकार अब तक कुछ नहीं बता पाई कि छापे में क्या निकला। इन छापों में सीबीआई को क्या मिला? सीबीआई को कहां से करोड़ रुपए की बरामदगी हुई और कहां से सोना मिल गया। कुछ उनको पता नहीं चल पाया। दूसरी बात, एक्साइज पॉलिसी को लेकर एक-एक चीज पर साफ तस्वीर रखी गई कि पॉलिसी में दूर-दूर तक कहीं कोई हेराफेरी नहीं की गई है। लेकिन भाजपा के लोग वहीं रटा-रटाया बयान बार-बार बोल रहे हैं। दरअसल, मुद्दा शराब नहीं है। मुद्दा अगर शराब नीति होती तो सबसे बड़ा छापा तो गुजरात में पड़ना चाहिए था, जहां जहरीली शराब से 100 से ज्यादा लोग मर गए। जहां 10 हजार करोड़ रुपए से ज्यादा नकली शराब का धंधा होता है। सीबीआई और ईडी का वहां छापा पड़ना चाहिए था। दअसल, मुद्दा अरविंद केजरीवाल की देश भर में बढ़ती लोकप्रियता है। उन्होंने कहा कि मुद्दा यह है कि अरविंद केजरीवाल दिल्ली की तरह फ्री बिजली, शिक्षा और स्वास्थ्य की व्यवस्था गुजरात में कैसे देने की बात कर रहे हैं। इसी वजह से अरविंद केजरीवाल के दोनों लोकप्रिय मॉडल शिक्षा और स्वास्थ्य को बदनाम करने की कोशिश की जा रही है। अरविंद केजरीवाल के शिक्षा और स्वास्थ्य मॉडल को बदनाम करने के लिए पहले स्वास्थ्य मंत्री को जेल में डाले और अब शिक्षा मंत्री को जेल में डालने की तैयारी है। ‘‘आप’’ के वरिष्ठ नेता ने कहा कि कल भाजपा के सारे नेता हैरान थे कि न्यूयॉर्क टाइम्स में केजरीवाल का शिक्षा मॉडल कैसे छप गया? न्यूयॉर्क टाइम्स में मनीष सिसोदिया की शिक्षा क्रांति कैसे छप गई। कैसे मनीष सिसोदिया की तस्वीर छप गया। न्यूयॉर्क टाइम्स को तो छापना ही नहीं चाहिए था। भाजपा वाले मीडिया में कह रहे थे कि न्यूयॉर्क टाइम्स तो भारत के खिलाफ खबरें लिखता है। उन्होंने कहा कि अरविंद केजरीवाल का भारत को दुनिया का नंबर देश बनाने का सपना और मिशन नहीं रूकने वाला है। वर्ष 2024 का लोकसभा चुनाव मोदी बनाम केजरीवाल, आम आदमी पार्टी बनाम भारतीय जनता पार्टी होगा। अब तक भाजपा के साथ कांग्रेस भी खड़ी हो गई है। श्री सिंह ने कहा कि कोरोना के समय भाजपा शासित एमसीडी ने करीब 85 करोड़ रुपए टोल टैक्स माफ किया है। क्या एक बार भी सीबीआई या ईडी जांच करने गई। क्या सीबीआई ने अधिकारियों को पकड़ा और भाजपा नेताओं से पूछताछ हुई। टोल वालों ने कहा कि कोरोना के समय लोग बाहर नहीं निकले, इसलिए हमारा लाइसेंस फीस माफ कीजिए और एमसीडी ने 85 करोड़ रुपए माफ कर दिया। फिर आउट डोर विज्ञापन के लोग एमसीडी के पास गए और उनका 100 करोड़ रुपए माफ किया। इस तरह, 185 करोड़ रुपए एमसीडी ने कुल माफ किया। श्री सिंह ने कहा , “ आपने ऐसे बहुत सारे प्रयास पहले भी किए हैं, लेकिन आपको हताशा हाथ लगी है। जब आपने केजरीवाल के दफ्तर पर छापा मरवाया था, कुछ नहीं निकला था। जब मनीष सिसोदिया के घर पर छापा मारा था, कुछ नहीं निकला। जब आपने 400 फाइलों की शुंगलू कमेटी से जांच कराई थी, कुछ नहीं निकला। जब आपने 40 विधायकों को गिरफ्तार करा कर जेल में डाला और बाद में अदालत से कई मामलों में फटकार लगी और कुछ नहीं निकला।

कोई टिप्पणी नहीं: