गया : बेहतर सुविधा उपलब्ध कराने के लिए पदाधिकारियों के साथ बैठक - Live Aaryaavart (लाईव आर्यावर्त)

Breaking

विजयी विश्व तिरंगा प्यारा , झंडा ऊँचा रहे हमारा। देश की आज़ादी के 75 वर्ष पूरे होने पर सभी देशवासियों को अनेकानेक शुभकामनाएं व बधाई। 'लाइव आर्यावर्त' परिवार आज़ादी के उन तमाम वीर शहीदों और सेनानियों को कृतज्ञता पूर्ण श्रद्धासुमन अर्पित करते हुए नमन करता है। आइए , मिल कर एक समृद्ध भारत के निर्माण में अपनी भूमिका निभाएं। भारत माता की जय। जय हिन्द।

शुक्रवार, 19 अगस्त 2022

गया : बेहतर सुविधा उपलब्ध कराने के लिए पदाधिकारियों के साथ बैठक

  • * जिलाधिकारी ने पितृ तर्पण के लिए आने वाले यात्रियों के बेहतर सुविधा उपलब्ध कराने के लिए रेलवे के पदाधिकारियों के साथ बैठक करते हुए स्टेशन परिसर का घूम घूम कर निरीक्षण किया..

gaya-news
गया: पितृपक्ष मेला 2022 के अवसर पर देश-विदेश से आने वाले श्रद्धालुओं जो खासकर विभिन्न ट्रेन के माध्यम से आएंगे उनकी सुरक्षा एवं यातायात व्यवस्था को बेहतर तथा सुगमता बनाने के उद्देश्य से जिला पदाधिकारी गया डॉक्टर त्यागराजन एसएम तथा वरीय पुलिस अधीक्षक हरप्रीत कौर की अध्यक्षता में रेलवे स्टेशन के सभागार में रेलवे स्टेशन के तमाम वरीय पदाधिकारियों जीआरपी आरपीएफ तथा जिला प्रशासन के वरीय पदाधिकारियों के साथ बैठक की गई. बैठक में स्टेशन मैनेजर गया ने बताया कि वर्तमान समय में 84 जोड़ी ट्रेन का परिचालन है. 15 हजार से 16 हजार यात्री प्रतिदिन गया रेलवे स्टेशन से यात्रा कर रहे हैं. पितृपक्ष मेला के समय लगभग 30000 से 35000 यात्री प्रतिदिन गया जिला आते हैं. इसके साथ ही उन्होंने यह भी बताया कि मध्य प्रदेश, महाराष्ट्र तथा हरियाणा राज्य से ज्यादातर तीर्थयात्री आते हैं. बैठक में बताया गया कि ज्यादातर ट्रेनें रात्रि 09 से सुबह 04 बजे समय के बीच ही आती है. यात्रियों की सुविधा के लिए फुल 40 टॉयलेट की व्यवस्था है जिसमें 20 रेलवे स्टेशन के अंदर तथा 20 रेलवे स्टेशन के बाहर में है. जिला पदाधिकारी ने सभी शौचालयों को नियमित साफ-सफाई अच्छे तरीके से साफ सफाई करते रहने का निर्देश दिए. जिला पदाधिकारी ने रेलवे प्रशासन को निर्देश दिया कि भीड़ नियंत्रण को बेहतर तरीके से अनुपालन कराएंगे. सभी तीर्थ यात्रियों के साथ कुशल व्यवहार अपनाएं. विभिन्न जीआरपी, आरपीएफ तथा अन्य पदाधिकारियों को अच्छे तरीके से प्रतिनियुक्ति करें. जिला पदाधिकारी ने जिला परिवहन पदाधिकारी, अनुमंडल पदाधिकारी सदर तथा पुलिस उपाधीक्षक यातायात को निर्देश दिया कि आपस में समन्वय स्थापित करते हुए विभिन्न ऑटो रिक्शा इत्यादि का क्षेत्रवार दर निर्धारण कर ले तथा विभिन्न ऑटो रिक्शा, ई-रिक्शा पर निर्धारित दर को प्रदर्शित करा दें ताकि यात्री उसी अनुरूप भुगतान कर सके. रेलवे स्टेशन के बाहरी परिसर में भी पब्लिक ऐड्रेस सिस्टम लगा दें तथा लगातार अनाउंसमेंट करते रहें. रेलवे स्टेशन के बाहरी परिसर तथा अंदर के परिसर में पर्याप्त रोशनी की व्यवस्था रखें. बैठक में वरीय पुलिस अधीक्षक हरप्रीत कौर ने निर्देश दिया कि रेलवे स्टेशन के बाहरी परिसर में कम से कम 4 स्थानों पर वॉच टावर बनवाने इसके लिए उन्होंने पुलिस उपाधीक्षक नगर को जगह चिन्हित करने का निर्देश दिए. रेलवे प्रशासन द्वारा लगाए गए सीसीटीवी का निरंतर निगरानी रखने का निर्देश दिए. उन्होंने कहा कि ज़िला प्रशासन द्वारा यात्रियों को मेला क्षेत्र में जाने के लिए निशुल्क टैक्सी अथवा वाहन, यात्री सुविधा के लिए देने के लिये बड़ा जगह चिन्हित करते हुए उसने कम से कम चार काउंटर बनाए ताकि यात्रियों के भीड़ का दबाव कम पड़े. जिला पदाधिकारी ने स्टेशन मैनेजर को स्पष्ट निर्देश दिया कि तीर्थ यात्रियों की सुविधा हेतु स्टेशन परिसर के अंदर एवं स्टेशन परिसर के बाहर पर्याप्त साफ-सफाई, पेयजल की उत्तम व्यवस्था, शौचालयों की निरंतर साफ-सफाई अनिवार्य रूप से करावे. इसके उपरांत स्टेशन के बाहरी परिसर का घूम घूम कर निरीक्षण किया. उन्होंने टूटी नालियों के ढक्कन को मरम्मत कराने का निर्देश दिया.किन किन स्थानों पर विभिन्न विभागों के लगाए जाने वाले शिविर के बारे में अवगत हुए.

कोई टिप्पणी नहीं: