अस्पताल में आग के कारण 08 की मौत, 05 अन्य घायल - Live Aaryaavart (लाईव आर्यावर्त)

Breaking

प्रबिसि नगर कीजै सब काजा I ह्रदय राखि कौसलपुर राजा II, हरिजन जानि प्रीति अति गाढ़ी। सजल नयन पुलकावलि बाढ़ी॥, मंगल भवन अमंगल हारी I द्रवहु सुदसरथ अजिर बिहारी II, हरि अनंत हरि कथा अनंता I कहहि सुनहि बहुबिधि सब संता II, दीन दयाल बिरिदु संभारी । हरहु नाथ मम संकट भारी।I, माता पिता की सेवा करें....बुजुर्गों का ख्याल रखें...अपनी प्रतिभा और आचरण से देश का नाम रौशन करें...

सोमवार, 1 अगस्त 2022

अस्पताल में आग के कारण 08 की मौत, 05 अन्य घायल

fire-in-hospital-mp
जबलपुर, 01 अगस्त, मध्यप्रदेश के जबलपुर में आज एक निजी अस्पताल की दोमंजिला इमारत में आग लगने के कारण हृदयविदारक घटना में 08 लोगों की मृत्यु हो गयी और कम से कम 05 अन्य झुलस गए। इनमें से 02 की हालत गंभीर बतायी गयी है। यहां न्यू लाइफ मल्टीस्पेशियलिटी हॉस्पिटल की दो मंजिला इमारत में दिन में आग लगी। प्रारंभिक पड़ताल में बताया गया है कि जनरेटर सेट में आग लगी और यह कुछ देर में पूरे भवन में फैल गयी। मृतकों में चार या पांच मरीज और शेष अस्पताल के कर्मचारी बताए गए हैं। घायलों को शहर के विभिन्न अस्पतालों में भर्ती कराया गया है। शेष लोगों में से कुछ ने स्वयं अस्पताल से बाहर निकलकर स्वयं को बचाया और कुछ को वहां पहुंचे राहत एवं बचाव दल के लोगों ने बचाया। अस्पताल 30 बिस्तरों वाला है और घटना के वक्त कम से कम 20 लोगों के अस्पताल में मौजूद रहने का अनुमान है। इस घटना के सामने आए वीडियो में साफ तौर पर दिखायी दे रहा है कि आग ने पूरे भवन को अपनी चपेट में ले लिया था। भवन से आग की लपटें और धुंआ ही निकलता हुआ दिखायी दे रहा था। वहीं जिला कलेक्टर और पुलिस अधीक्षक का कहना है कि फिलहाल हमारी प्राथमिकता घायलों को बेहतर से बेहतर इलाज मुहैया कराना है। साथ ही इस घटना की जांच भी करायी जाएगी। मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने इस हादसे पर दुख व्यक्त करते हुए मृतकों के प्रति श्रद्धांजलि अर्पित की है। उन्होंने प्रशासन को घायलों का नि:शुल्क और बेहतर इलाज कराने के निर्देश भी दिए हैं। श्री चौहान ने ट्वीट के माध्यम से कहा कि राज्य सरकार की ओर से मृतकों के परिजनों को 5-5 लाख रुपये और गंभीर रूप से घायलों को 50-50 हजार रुपये की सहायता प्रदान की जायेगी। घायलों के संपूर्ण इलाज का व्यय भी सरकार वहन करेगी। दिन में इंदौर और उज्जैन की यात्रा पर रहे श्री चौहान स्वयं भी घटना की जानकारी लेते रहे और उन्होंने मुख्य सचिव एवं जबलपुर जिला प्रशासन इस घटना के मद्देनजर आवश्यक कदम उठाने के लिए कहा है, जिससे झुलसे हुए व्यक्तियों के इलाज में कोई परेशानी नहीं हो। इस बीच आधिकारिक सूत्रों ने कहा कि इस संपूर्ण मामले की प्रशासन जांच कराएगा। यह भी देखा जाएगा कि आग लगने का वास्तविक कारण क्या है और क्या वहां 'फायर सेफ्टी' संबंधी व्यवस्थाएं थीं या नहीं। इस संबंध में शाम तक अस्पताल प्रबंधन की ओर से आधिकारिक तौर पर कोई बयान सामने नहीं आया है। 

कोई टिप्पणी नहीं: