लोकसभा की कार्यवाही अनिश्चितकाल के लिए स्थगित - Live Aaryaavart (लाईव आर्यावर्त)

Breaking

विजयी विश्व तिरंगा प्यारा , झंडा ऊँचा रहे हमारा। देश की आज़ादी के 75 वर्ष पूरे होने पर सभी देशवासियों को अनेकानेक शुभकामनाएं व बधाई। 'लाइव आर्यावर्त' परिवार आज़ादी के उन तमाम वीर शहीदों और सेनानियों को कृतज्ञता पूर्ण श्रद्धासुमन अर्पित करते हुए नमन करता है। आइए , मिल कर एक समृद्ध भारत के निर्माण में अपनी भूमिका निभाएं। भारत माता की जय। जय हिन्द।

सोमवार, 8 अगस्त 2022

लोकसभा की कार्यवाही अनिश्चितकाल के लिए स्थगित

lok-sabha-adjourned
नयी दिल्ली 08 अगस्त, लाेकसभा के मानसून सत्र की कार्यवाही का आज निर्धारित समय से चार दिन पहले अनिश्चित काल के लिए स्थगित कर दी गयी। लोकसभा अध्यक्ष ओम बिरला ने सदन में ऊर्जा संरक्षण विधेयक एवं विद्युत संरक्षण विधेयक पारित होने के बाद करीब 5.37 बजे 17वीं लोकसभा के नौवें सत्र की कार्यवाही अनिश्चित काल के लिए स्थगित करने की घोषणा की। इस सत्र में सदन की उत्पादकता 48 प्रतिशत रही जो 17वीं लोकसभा के नौ सत्रों में सबसे कम है। श्री बिरला ने अपने संबोधन में 18 जुलाई को चार नये सदस्यों के शपथ ग्रहण करने तथा निवर्तमान राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद के अवकाश ग्रहण करने एवं देश की प्रथम आदिवासी महिला राष्ट्रपति द्रौपदी मुर्मू के पदारूढ़ होने पर प्रसन्नता व्यक्त की। उन्होंने कहा कि मानसून सत्र में कुल 16 बैठकें हुई जिनकी कुल अवधि 44 घंटे और 29 मिनट रही। वर्तमान मानसून सत्र में सभा की उत्पादकता 48 प्रतिशत रही। इस सत्र के दौरान सभा द्वारा महत्वपूर्ण विधायी एवं अन्य कार्य किए गए। इस सत्र के दौरान, 6 सरकारी विधेयक पुरःस्थापित किए गए तथा कुल मिलाकर 7 विधेयक पारित किए गए। पारित किए गए कुछ महत्वपूर्ण विधेयक हैं - भारतीय अंटार्कटिक विधेयक 2022, राष्ट्रीय डोपिंग रोधी विधेयक 2022, वन्य जीव (संरक्षण) संशोधन विधेयक 2022 तथा केन्द्रीय विश्वविद्यालय (संशोधन) विधेयक 2022। वन्य जीव (संरक्षण) संशोधन विधेयक, 2022 पर 5 घंटे 05 मिनट तक चर्चा चली जिसमें 39 सदस्यों ने भाग लिया। उन्होंने कहा कि सत्र के दौरान सदस्यों ने नियम 377 के अधीन 318 मामले तथा अविलंबनीय लोक महत्व के 98 मामले उठाए। संसद की स्थायी समितियों ने सभा में 41 प्रतिवेदन प्रस्तुत किए। सत्र के दौरान 46 तारांकित प्रश्नों के मौखिक उत्तर दिए गए। मंत्रियों द्वारा विभिन्न महत्वपूर्ण विषयों पर कुल 47 वक्तव्य दिए गए जिनमें 2 वक्तव्य उत्तरों में सुधार से संबंधित थे तथा 3 वक्तव्य माननीय संसदीय कार्य मंत्री द्वारा सरकारी कार्य के संबंध में दिए गए। सत्र के दौरान, सम्बद्ध मंत्रियों द्वारा 1641 पत्रों को सभा पटल पर रखा गया। उन्होंने कहा कि सभा में मूल्य वृद्धि और भारत में खेलों को बढ़ावा दिये जाने की आवश्यकता और इस संबंध में सरकार द्वारा उठाए गए कदमों के बारे में नियम 193 के अंतर्गत दो अल्पकालिक चर्चाएं भी की गईं। मूल्य वृद्धि पर चर्चा दिनांक 1 अगस्त, 2022 को संपन्न हुई जिसमें 31 माननीय सदस्यों ने 6 घंटे 25 मिनट तक चर्चा की। यह चर्चा सम्बद्ध मंत्री के उत्तर के साथ संपन्न हुई। भारत में खेलों को बढ़ावा दिये जाने और इस संबंध में सरकार द्वारा उठाए गए कदमों पर आंशिक चर्चा की गई। श्री बिरला ने कहा कि गैर-सरकारी सदस्यों के कार्यों में शुक्रवार, 5 अगस्त को गैर-सरकारी सदस्यों द्वारा विभिन्न विषयों पर 91 विधेयक पुरःस्थापित किए गए। श्री जनार्दन सिंह 'सिग्रीवाल' के अनिवार्य मतदान विधेयक, 2019 पर चर्चा पहले, दूसरे, सातवें और आठवें सत्र के दौरान हुई। यह विधेयक 05 अगस्त को सभा की अनुमति से वापस लिया गया। श्री गोपाल चिनय्या शेट्टी के लोक प्रतिनिधित्व (संशोधन) विधेयक, 2019 (नई धारा 29कक का अंतःस्थापन) पर चर्चा 5 अगस्त, 2022 को आरंभ हुई। इस विधेयक पर चर्चा अगले सत्र में जारी रहेगी। लोकसभा अध्यक्ष ने कहा कि 27 जुलाई को मोज़ाम्बिक की संसद की अध्यक्ष के नेतृत्व में वहां के संसदीय शिष्टमंडल ने सभा की कार्यवाही को विशेष बॉक्स में बैठकर देखा। उन्होंने सभा की कार्यवाही का कार्य संचालन करने में सभापति तालिका में शामिल अपने साथियों का उनके योगदान के लिए आभार व्यक्त किया तथा प्रधानमंत्री, संसदीय कार्य मंत्री तथा केंद्रीय मंत्रिमंडल के अन्य सदस्यों, विभिन्न दलों के नेताओं और अन्य सदस्यों के प्रति उनके सहयोग के लिए धन्यवाद ज्ञापित किया। उन्होंने सदन की ओर से प्रेस और मीडिया के साथियों तथा सक्षम और विशेषज्ञ सहायता प्रदान करने के लिए महासचिव की सराहना की। उन्होंने सभा को प्रदान की गयी समर्पित और त्वरित सेवा के लिए लोक सभा सचिवालय के अधिकारियों और कर्मचारियों तथा सम्बद्ध एजेंसियों को भी उनके द्वारा प्रदान की गई सहायता के लिए को धन्यवाद दिया।

कोई टिप्पणी नहीं: