मधुबनी : अंतिम सोमवारी, श्रावणी मेले एवम मुहर्रम पर्व को लेकर बैठक - Live Aaryaavart (लाईव आर्यावर्त)

Breaking

विजयी विश्व तिरंगा प्यारा , झंडा ऊँचा रहे हमारा। देश की आज़ादी के 75 वर्ष पूरे होने पर सभी देशवासियों को अनेकानेक शुभकामनाएं व बधाई। 'लाइव आर्यावर्त' परिवार आज़ादी के उन तमाम वीर शहीदों और सेनानियों को कृतज्ञता पूर्ण श्रद्धासुमन अर्पित करते हुए नमन करता है। आइए , मिल कर एक समृद्ध भारत के निर्माण में अपनी भूमिका निभाएं। भारत माता की जय। जय हिन्द।

शनिवार, 6 अगस्त 2022

मधुबनी : अंतिम सोमवारी, श्रावणी मेले एवम मुहर्रम पर्व को लेकर बैठक

  • बिना लाइसेंस मुहर्रम के दौरान कोई भी जुलूस नहीं निकलेगा। सभी संवेदनशील एवम महत्वपूर्ण स्थानो पर पर्याप्त संख्या में तैनात होंगे दंडाधिकारी एवम  पुलिस पदाधिकारी। 
  • धारा 107 के तहत अधिक से अधिक निरोधात्मक कार्रवाई करने एवम बंध पत्र पर अमल करने के दिया निर्देश । जिला प्रशासन सोशल मीडिया पर 24 घण्टे रख रहा है नजर
  • उपद्रवी एवम अफवाह फैलाने वाले तत्वों के विरुद्ध कड़ी कार्रवाई  करने  का दिया निर्देश। 

madhubani-news
मधुबनी, जिलाधिकारी अरविन्द कुमार वर्मा एवं पुलिस अधीक्षक सुशील कुमार ने कल शुक्रवार देर शाम में संयुक्त रूप से जिले के सभी अनुमंडल पदाधिकारियों, अनुमंडल पुलिस पदाधिकारियों और प्रखंड विकास पदाधिकारियों आदि के साथ  सावनमाह की अंतिम सोमवारी, श्रावणी मेले एवम मुहर्रम पर्व के अवसर पर विधिव्यवस्था संधारण एवं अन्य प्रशासनिक व्यवस्थाओं का सफलतापूर्वक सम्पन्न करने को लेकर वर्चुअल मोड में बैठक कर अबतक की तैयारियो का विस्तृत समीक्षा किया एवम संबंधित अधिकारियों को कई आवश्यक दिशा निर्देश भी दिए। जिलाधिकारी ने कहा कि बिना लाइसेंस के मुहर्रम के दौरान कोई भी जुलूस नहीं निकाला जाएगा। उन्होंने निर्देश दिया कि आयोजन समिति के सभी प्रमुख लोगों से उनके पासपोर्ट साइज फोटो और पता उनके मोबाइल नंबर के साथ लिए जाएं। उन्होंने कहा कि मुहर्रम के जुलूस के मार्ग की जानकारी पूर्व से ही कर ले एवम उसका भौतिक सत्यापन भी कर ले। उन्होंने कहा कि यह   सुनिश्चित कर ले कि निर्धारित मार्ग से विचलन किसी भी स्थिति में नही होनी चाहिये।जिलाधिकारी ने कहा कि अंतिम सोमवारी और मुहर्रम को देखते हुए सभी महत्वपूर्ण एवम संवेदनशील स्थानो पर पर्याप्त संख्या में दंडाधिकारी और पुलिस पदाधिकारी की प्रतिनियुक्ति की गई है। ऐसे में सभी प्रतिनियुक्ति अधिकारी अपने कर्तव्य स्थल पर ससमय पूर्ण रूप से मुस्तैद रहेंगे। उन्होंने कहा कि  शांति समिति की बैठक अनिवार्य रूप से कर ली जाए। दोनों पर्वों के आयोजन को लेकर आपसी सहमति से समय और मार्ग का निर्धारण कर लें। उन्होंने धारा 107 के तहत अधिक से अधिक निरोधात्मक कार्रवाई करने एवम बंध पत्र पर अमल करने के निर्देश दिया। उन्होंने कहा कि जिला साइबर सेल एवम सूचना एवम जनसंपर्क की सोशल मीडिया टीम द्वारा 24 घण्टे सोशल मीडिया पर नजर रखी जा रही है। उन्होंने कहा कि उपद्रवी तत्वों एवम अफवाह फैलाने वाले व्यक्ति पर कड़ी कार्रवाई  करने से थोड़ी से भी नही हिचके। जिलाधिकारी ने कहा कि अनुमंडल एवं जिला स्तर पर नियंत्रण कक्ष पूरी गतिविधियों पर नजर बनाए रखेगा एवम   हर छोटी बड़ी घटना की जानकारी संबंधित अनुमंडल पदाधिकारी, अनुमंडल पुलिस पदाधिकारी आदि को देना सुनिश्चित करेगा।पुलिस अधीक्षक सुशील कुमार  ने कहा कि डीजे पर पूर्व प्रतिबंध रहेंगे। उन्होंने स्पष्ट किया कि सभी डीजे मालिक से मुहर्रम और श्रावणी मेले में डीजे न देने का शपथपत्र लिखित रूप से लेना सुनिश्चित करेंगे। उन्होंने कहा कि उल्लंघन करने पर उनका डीजे जब्त किया जाए और प्राथमिकी दर्ज किया जाए। उन्होंने विधुत विभाग के कार्यपालक अभियंताओं को निर्देश दिया कि जर्रर बिजली तार को ठीक करवा लें,साथ ही जुलूस के दिन सुरक्षा के दृष्टिकोण से सभी आवश्यक कदम उठाए। उक्त बैठक में उप विकास आयुक्त, विशाल राज, विशेष कार्य पदाधिकारी, जिला गोपनीय शाखा, अमेत विक्रम बैनामी, अनुमंडल लोक शिकायत निवारण पदाधिकारी, फुलपरास, सुरेंद्र राय, अनुमंडल लोक शिकायत निवारण पदाधिकारी, बेनीपट्टी, किशोर कुमार, अनुमंडल पुलिस पदाधिकारी, मुख्यालय, प्रभाकर तिवारी, वरीय उप समाहर्ता, साहब रसूल, वरीय उप समाहर्ता, विकास कुमार, वरीय उप समाहर्ता, आरती कुमारी, वरीय उप समाहर्ता, बालेंदु पांडे, उत्पाद अधीक्षक, गणेश कुमार विडियो कांफ्रेंसिंग कक्ष में उपस्थित थे।

कोई टिप्पणी नहीं: