दो राज्यों के बीच फंसे गांवों को बिजली देने के लिए बनेगी राष्ट्रीय नीति - Live Aaryaavart (लाईव आर्यावर्त)

Breaking

प्रबिसि नगर कीजै सब काजा I ह्रदय राखि कौसलपुर राजा II, हरिजन जानि प्रीति अति गाढ़ी। सजल नयन पुलकावलि बाढ़ी॥, मंगल भवन अमंगल हारी I द्रवहु सुदसरथ अजिर बिहारी II, हरि अनंत हरि कथा अनंता I कहहि सुनहि बहुबिधि सब संता II, दीन दयाल बिरिदु संभारी । हरहु नाथ मम संकट भारी।I, माता पिता की सेवा करें....बुजुर्गों का ख्याल रखें...अपनी प्रतिभा और आचरण से देश का नाम रौशन करें...

गुरुवार, 4 अगस्त 2022

दो राज्यों के बीच फंसे गांवों को बिजली देने के लिए बनेगी राष्ट्रीय नीति

national-policy-will-be-made-to-provide-electricity
नयी दिल्ली 04 अगस्त, सरकार ने कहा है कि देश के कई राज्यों में विभिन्न गांव दो राज्यों के बीच फंसे होने के कारण बिजली से वंचित हैं ,इसलिए इन गांवों के विद्युतीकरण के लिए राष्ट्रीय नीति बनाई जा रही है ताकि समस्या का आसानी से समाधान हो सके। लोकसभा में बिजली मंत्री आरके सिंह ने गुरुवार को महाराष्ट्र के 24 गांवों के बिजली कनेक्शन नहीं होने संबंधित पूरक प्रश्न के जवाब में कहा कि वहां सौर ऊर्जा से बिजली उपलब्ध कराई गई है लेकिन इस गांव के लोग इससे संतुष्ट नहीं है। इन गांवों में ग्रिड से बिजली देने संबंधी सवाल पर उनका कहना था कि जो तकनीकी समस्या दो राज्यों के कारण इन 24 गांवों में बिजलीकरण को लेकर आ रही है उसके लिए मध्य प्रदेश सरकार से तो बात चली रही है इसके साथ ही इस दिशा में एक राष्ट्रीय स्तर पर नीति बनाई जा रही। उन्होंने एक अन्य प्रश्न पर कहा कि सरकार सोलर कुकर तैयार करने पर विचार कर रही है। इसमें दो विकल्प सरकार के सामने हैं लेकिन इनकी कीमत अभी ज्यादा है जिसको कम करने की कोशिश की जा रही है ताकि आम लोगों तक सोलर कुकर उपलब्ध कराया जा सके।

कोई टिप्पणी नहीं: