सीहोर (मध्य प्रदेश) की खबर 16 अगस्त - Live Aaryaavart (लाईव आर्यावर्त)

Breaking

विजयी विश्व तिरंगा प्यारा , झंडा ऊँचा रहे हमारा। देश की आज़ादी के 75 वर्ष पूरे होने पर सभी देशवासियों को अनेकानेक शुभकामनाएं व बधाई। 'लाइव आर्यावर्त' परिवार आज़ादी के उन तमाम वीर शहीदों और सेनानियों को कृतज्ञता पूर्ण श्रद्धासुमन अर्पित करते हुए नमन करता है। आइए , मिल कर एक समृद्ध भारत के निर्माण में अपनी भूमिका निभाएं। भारत माता की जय। जय हिन्द।

बुधवार, 17 अगस्त 2022

सीहोर (मध्य प्रदेश) की खबर 16 अगस्त

झमाझम बारिश के बीच पूरे उत्साह के साथ मनाया गया स्वतंत्रता दिवस समारोह

  • मुख्य अतिथि कलेक्टर श्री ठाकुर ने ध्वजारोहण कर परेड की ली सलामी
  • मुख्य अतिथि ने मुख्यमंत्री के संदेश का किया वाचन, आजादी के अमृत महोत्सव पर छात्र-छात्राओं ने दी रंगारंग सांस्कृतिक कार्यक्रमों की प्रस्तुति

sehore-news
झमाझम बारिश के बीच जिला मुख्यालय स्थित पुलिस परेड ग्राउंड में पूरे हर्षोल्लास के साथ स्वतंत्रता दिवस समारोह सम्पन्न हुआ। कार्यक्रम के मुख्य अतिथि कलेक्टर श्री चंद्र मोहन ठाकुर ने ध्वजारोहण कर परेड को सलामी ली।  इस मौके पर हर्ष फायर हुए और रंगीन गुब्‍बारे छोड़े गये तथा मध्‍यप्रदेश गान की प्रस्‍तुति दी गई। समाराहे में कलेक्टर श्री ठाकुर ने प्रदेश के मुख्यमंत्री श्री शिवराज सिंह चौहान का प्रदेश की जनता के नाम संदेश का वाचन किया। कलेक्टर श्री ठाकुर ने परेड का निरीक्षण कर सभी परेड कमांडरो से परिचय प्राप्त किया। इस दौरान पुलिस अधीक्षक श्री मयंक अवस्थी साथ में थे। भारी बारिश भी सुरक्षा बल तथा स्कूली विद्यार्थियों के अटल इरादों को हिला न सकी। झमाझम बारिश के बीच शानदार परेड के साथ ही स्कूली बच्चों ने सांस्कृतिक कार्यक्रमों की प्रस्तुति दी। समारोह में स्वतंत्रता संग्राम सेनानियों के परिजनों को मुख्य अतिथि द्वारा शाल श्रीफल भेंट कर सम्मानित किया गया। कार्यक्रम में निर्वाचन के दौरान उत्कृष्ट कार्य करने वाले शासकीय अधिकारियों, कर्मचारियों, पुलिस एवं अन्य सेवाओं के अधिकारी कर्मचारियों तथा परेड एवं सांस्कृतिक कार्यक्रमों में भाग लेने वाले प्रतिभागियों को मुख्य अतिथि ने सम्मानित किया।


सांस्कृतिक कार्यक्रमों की प्रस्तुति

बिलकिसगंज सीएम राइस के स्कूली छात्रों द्वारा आदिवासी संस्कृति की छटा बिखेरती हुई झांकी को समूह ने नृत्य के माध्यम से प्रस्तुत किया। तेज बारिश में भी छात्र-छात्राओं ने पूरे उमंग के साथ आजादी के अमृत महोत्सव को उत्साह के साथ मनाते हुए देश रंगीला रंगीला, वंदे मातरम, तेरी मिट्टी में मिलजांवा, स्वतंत्रता सेनानियों की गाथा, मोहे रंग दे बसंती, मेरा रंग दे बसंती चोला, संदेशे आते है जैसे देश भक्ति गानों पर नृत्य की उत्कृष्ट प्रस्तुति के माध्यम से सभी दर्शकों का मन मोह लिया।


सीनियर एवं जूनियर वर्ग में परेड दल का किया प्रतिनिधित्व

समारोह में प्रथम परेड कमांडर सूबेदार जिला पुलिस बल श्री ब्रजमोहन धाकड़ एवं द्वितीय परेड कमांडर सूबेदार श्री अनिरूद्व मीना ने परेड का प्रतिनिधित्व किया। सीनियर वर्ग में विशेष सशस्त्र बल के प्लाटून कमांडर श्री सुनील केरकेटा, जिला पुलिस बल के प्लाटून कमांडर श्री कृष्णा मंडलोई, जिला पुलिस बल (महिला) से श्रीमती प्रिया पर्तें, नगर सेना बल जिला होमगार्ड से श्री धनेन्द्र अंगारे, पीजी कॉलेज के एनसीसी (बालक) दल से श्री रोहित वर्मा, पीजी कॉलेज एनसीसी (बालिका) दल से कुमारी कविता बारेला, महात्मा गांधी कॉलेज के एनसीसी दल से श्री कन्हैया जाबरिया ने परेड दल का प्रतिनिधित्व किया। इसी प्रकार जूनियर वर्ग में एनसीसी (बालक) नेवल विंग शासकीय सुभाष उच्चतर माध्यमिक विद्यालय से श्री हर्ष सिलोरिया, एक्सीलेंस स्कूल के एनसीसी (बालक) दल से श्री राजीव मेवाड़ा, एक्सीलेंस स्कूल के एनसीसी (बालिका) दल से कुमारी लीसा राजपूत, शारदा विद्या मंदिर की एनसीसी (बालिका) दल से जिया ठाकुर, गाइड शासकीय एमएलबी कन्या उच्चतर माध्यमिक विद्यालय से कुमारी नेहा खत्री तथा गाइड शासकीय कस्तूरबा कन्या विद्यालय से कुमारी मुस्कान लोधी ने परेड दल का प्रतिनिधित्व किया। 


इन्हें किया गया पुरस्कृत

समारोह में मुख्य अतिथि कलेक्टर श्री चन्द्र मोहन ठाकुर, विधायक श्री सुदेश राय, भाजपा जिला अध्यक्ष श्री रवि मालवीय, सीहोर नगर पालिका अध्यक्ष श्री प्रिंस राठौर ने उत्कृष्ट प्रदर्शन करने वाले परेड दलों, नृत्य प्रस्तुतियों एवं कार्यक्रम के दौरान उत्कृष्ट कार्य करने वालों को शील्ड एवं प्रशस्ति पत्र प्रदान कर सम्मानित किया। परेड के लिए सीनियर वर्ग में जिला पुलिस बल महिला को प्रथम, विशेष सशस्त्र बल को द्वितीय, जिला पुलिस बल को तृतीय तथा जूनियर वर्ग में शासकीय उत्कृष्ट विद्यालय के एनसीसी बालिका दल को प्रथम, नेवल विंग शासकीय सुभाष विद्यालय के एनसीसी बालक दल को द्वितीय एवं शासकीय उत्कृष्ट विद्यालय के एनसीसी बालक दल को तृतीय पुरस्कार प्रदान किया। साथ ही ऑक्‍स्‍फोर्ड उच्चतर माध्यमिक विद्यालय के बैण्ड दल को उत्कृष्ट प्रदर्शन के लिए शील्ड प्रदान की गई। कार्यक्रम के दौरान उत्‍कृष्ट कार्य करने वाले अधिकारियों-कर्मचारियों को प्रशस्ति पत्र प्रदान किये गये। सांस्कृतिक कार्यक्रमों में भी शासकीय एवं अशासकीय विद्यालय के छात्र-छात्राओं द्वारा उत्कृष्ट प्रस्तुति दी गई। सांस्कृतिक कार्यक्रम में शासकीय उच्चतर माध्यमिक विद्यालय बिलकिसगंज को प्रथम, शासकीय मनुबेन सीएम राइस को द्वितीय, सरस्वती कत्थक कला केन्द्र को तृतीय तथा शासकीय महारानी लक्ष्मीबाई उच्चतर माध्यमिक विद्यालय सीहोर को सांत्वना पुरूस्कार प्रदान किया गया।


कलेक्ट्रेट में ध्वजारोहण

कलेक्टर कार्यालय में कलेक्टर श्री चन्द्र मोहन ठाकुर ने ध्वजारोहण किया। इस अवसर पर कलेक्ट्रेट कार्यालय में समस्त अधिकारी कर्मचारी उपस्थित थे। कलेक्टर श्री ठाकुर ने सभी को स्वतंत्रता दिवस की शुभकामना दी। इसके पूर्व कलेक्टर श्री ठाकुर ने कलेक्टर निवास एवं जिला सहकारी केन्द्रीय बैंक मर्यादित सीहोर में भी ध्वजारोहण किया। जिला जनसम्पर्क कार्यालय सहित अन्य सभी कार्यालयों में ध्वजारोहण किया गया।


कार्यक्रम में यह थे उपस्थित

स्वतंत्रता दिवस पर पुलिस परेड ग्राउण्ड में आयोजित मुख्‍य समारोह में जिला पंचायत मुख्य कार्यपालन अधिकारी श्री हर्ष सिंह, अपर कलेक्टर श्रीमती गुंचा सनोवर सहित विभिन्न विभागों के अधिकारी, गणमान्‍य नागरिक एवं पत्रकार उपस्थित थे।


चिकित्सा शिक्षा मंत्री श्री सारंग ने शहीदों को दी श्रद्धांजलि


चिकित्सा शिक्षा एवं गैस राहत एवं पुनर्वास मंत्री श्री विश्वास कैलाश सारंग ने सैकड़ाखेड़ी स्थित शहीद स्थल पहुंचकर ध्वजारोहण किया तथा स्वतंत्रता संग्राम के शहीदों को श्रद्धांजलि अर्पित की। उन्होंने इस अवसर पर स्वतंत्रता संग्राम सेनानी स्वर्गीय श्री देवबगस की पत्नी श्रीमती द्रोपदी देवी को शाल एवं श्रीफल भेंट किया। मंत्री श्री सारंग एवं उपस्थित जनप्रतिनिधियों तथा नागरिकों ने स्वतंत्रता के शहीदों की  स्मृति में दो मिनट का मौन धारण किया। इस अवसर पर मंत्री श्री सारंग ने कहा कि आजादी के अमृत महोत्सव के तहत केवल ध्वजारोहण ही नही बल्कि स्वतंत्रता के लिए बलिदान देने वाले ज्ञात अज्ञात शहीदों का स्मरण करना और उनके प्रति कृतज्ञता प्रकट करना है। उन्होंने कहा कि 14 जनवरी 1858 को सीहोर में स्वतंत्रता के प्रथम संग्राम में 356 क्रांतिकारियों ने देश की आजादी के लिए अपने प्राणों का बलिदान दिया। अंग्रेजी शासन के खिलाफ मध्य भारत में चल रहे विद्रोह में सीहोर की बरबर्तापूर्ण घटना को जलियांवालाबाग हत्याकांड की तरह माना जाता है। दस मई 1857 को मेरठ की क्रांति से पहले ही सीहोर में क्रांति की ज्वाला सुलग गईं थी। मेवाड़, उत्तर भारत से होती हुई क्रांतिकारी चपातियां 13 जून 1857 को सीहोर और ग्रामीण क्षेत्रों में पहुंच गयी थी। मंत्री श्री सारंग ने कहा कि सीहोर का यह स्थल हम सबके लिए पवित्र स्थान है। इस अवसर पर विधायक श्री सुदेश राय, जिला भाजपा अध्यक्ष श्री रवि मालवीय, सीहोर नगर पालिका अध्यक्ष श्री प्रिंस राठौर, कलेक्टर श्री चन्द्रमोहन ठाकुर, एसपी श्री मयंक अवस्थी, जिला पंचायत सीईओ श्री हर्ष सिंह उपस्थित थे।


तहसीलदार श्री यादव ने स्वतंत्रता संग्राम के सेनानी को शाल श्रीफल भेंट किया


स्वतंत्रता दिवस के अवसर पर सीहोर तहसीलदार श्री नरेन्द्र बाबू यादव स्वतंत्रता संग्राम सेनानियों को सम्मानित करने के लिए उनके घर पहुंचे। उन्हें स्वतंत्रता संग्राम सेनानियों को शाल एवं श्रीफल भेंट किया।  


आज धाकड़ युवा संघ के तत्वाधान में धरणीधर के जन्मोत्सव पर निकाली जाएगी भव्य वाहन रैली

  • एक दर्जन से अधिक गांवों और शहरी क्षेत्र के पदाधिकारी ने किया आह्वान

सीहोर। पिछले दो सालों से कोरोना महामारी के कारण अखिल भारतीय धाकड़ युवा संघ सीहोर के द्वारा समाज के आराध्य भगवान धरणीधर के जन्मोत्सव को मात्र औपचारिकता के साथ मनाया जा रहा था, लेकिन इस साल बुधवार को श्री धरणीधर का जन्मोत्सव पूरी आस्था और उत्साह के साथ मनाया जाएगा। इस मौके पर घर-घर दीप का प्रज्जवलित कर भगवान की विशेष पूजा अर्चना की जाएगी और उसके पश्चात भव्य वाहन रैली निकाली जाएगी। वाहन रैली बुधवार की दोपहर बारह बजे शहर के भोपाल नाके से निकाली जाएगी। गत दिनों अखिल भारतीय धाकड़ युवा संघ सीहोर की भगवान धरणीधर के जन्मोत्सव को लेकर ग्राम काकड़खेड़ा माता मंदिर पर धाकड़ समाज की एक विशेष बैठक आयोजित की गई थी। जिसमें प्रदेश उपाध्यक्ष राजेंद्र नागर जिला अध्यक्ष गब्बर पटेल एवं सभी पदाधिकारी और आसपास के सभी धाकड़ समाज के ग्रामीण जन शामिल हुए जिसमें भगवान धरणीधर के जन्म उत्सव को लेकर धाकड़ समाज के वरिष्ठ जनों एवं संगठन के सभी पदाधिकारी गण द्वारा वाहन रैली निकालने की सहमति बनी थी कि वाहन रैली भोपाल नाके से दोपहर बारह बजे प्रारंभ होकर इंग्लिशपुरा कोतवाली चौराहा लिसा टॉकीज चौराहे तहसील चौराहे से होकर इंदौर नाके पटेल निवास पर इसका समापन होगा बैठक के दौरान प्रमुख रूप से ग्राम बिजोरी सुकलिया हंसराज, जमनी, बोरदी, मोगरा, बिशन खेड़ी, सेमली कल्याणपुरा, सिराड़ी, पीपलटोन पटारिया सीधा आदि ग्राम के  समाज के वरिष्ठ जन उपस्थित रहे। धाकड़ समाज के पदाधिकारियों ने बताया शहर में इस बार 500 से अधिक वाहनों के द्वारा डोल-ताशे के साथ रैली निकाली जाएगी। रैली से पहले भगवान धरणीधर की विशेष पूजा अर्चना की जाएगी और फिर शहर सहित आस-पास के ग्रामों से आए श्रद्धालुओं के द्वारा वाहन रैली का आयोजन किया जाएगा। धाकड़ समाज ने सभी से वाहन रैली में शामिल होने की अपील की है। 


कलेक्टर-एसपी ने नर्मदा घाट के किनारों पर बसे गांवों का निरीक्षण कर बाढ़ राहत की व्यवस्थाएं देखी

  • स्वयं उपस्थित रहकर कलेक्टर-एसपी ने सोमलबाड़ा के ग्रामवासियों को शिफ्ट कराया, शाहगंज में बनाया गया बाढ़ प्रभावितों के लिए राहत शिविर

sehore-news
कलेक्टर श्री चंद्र मोहन ठाकुर और एसपी श्री मयंक अवस्थी ने बुधनी एवं शाहगंज में नर्मदा किनारे बसे अनेक गांवों का निरीक्षण किया और बाढ़ राहत की व्यवस्थाएं देखी। उन्होंने ग्राम जैत, सोमलवाड़ा, सहित अनेक गांव का भ्रमण कर संभावित बाढ़ आपदा से निपटने की तैयारी का जायजा लिया। इस दौरान उन्होंने ग्रामवासियों को नर्मदा का जल स्तर बढ़ने के पूर्व ऊंचे स्थानों पर जाने की समझाइश दी और संबंधित अधिकारियों को ग्रामवासियों को शिफ्ट कराने के निर्देश दिए। इसके साथ ही उन्होंने सभी अधिकारियों को संभावित बाढ़ तथा जलभराव की स्थिति से निपटने के लिए सभी आवश्यक तैयारियां सुनिश्चित करने के निर्देश दिए।


स्वयं उपस्थित रहकर कलेक्टर-एसपी ने सोमलबाड़ा के ग्रामवासियों को शिफ्ट कराया

लगातार हो रही बर्षा के चलते नर्मदा किनारें बसे ग्रामीण क्षेत्रों से ग्रामवासियों को सुरक्षित स्थानों पर पहुंचाने के लिए कलेक्टर श्री ठाकुर और एसपी श्री अवस्थी स्वयं उपस्थित रहकर बाढ़ संभावित क्षेत्र सोमलवाड़ा के निवासियों को सुरक्षित स्थान पर शिफ्ट कराया। बाढ़ संभावित क्षेत्रों से ग्रामवासियों के बचाव के लिए शाहगंज में राहत शिविर बनाया गया है, जिसमें पेयजल, भोजन, दवाएं आदि तथा ठहरने की सभी आवश्यक व्यवस्थाएं गई हैं। महिलाओं, बच्चों और वृद्धजनों को सबसे पहले लाया जा रहा है। बरगी तथा तवा बांध से 15 अगस्त को पानी छोड़ा गया है। इसके साथ ही जिले में निरंतर हो रही वर्षा के चलते नर्मदा का जल स्तर बढ़ने के कारण उत्पन्न होने वाली स्थिति से निपटने के लिए जिला प्रशासन की टीम ने सभी तैयारियां कर ली है। कलेक्टर श्री ठाकुर लगातार हो रही वर्षा से जिले में उत्पन्न स्थिति की पल-पल की जानकारी ले रहे है और अधिकारियों को जरूरी दिशा-निर्देश दे रहे है। बुधनी एसडीएम श्री राधेश्याम बघेल, नायब तहसीलदार श्री अंबर पंथी, जनपद सीईओ श्री देवेश सराठे एवं टीआई श्री नरेन्द्र कुलस्ते के दल ने पूरे ग्रामवासियों को राहत शिविर में शिफ्ट कराया।


कलेक्टर ने 16 एवं 17 अगस्त को स्कूल रखने के दिए आदेश

भारी बारिश के दौरान बच्चों की सुरक्षा को दृष्टिगत रखते हुए कलेक्टर श्री चंद्र मोहन ठाकुर ने 16 एवं 17 अगस्त 2022 को जिले के सभी शासकीय एवं अशासकीय स्कूलों के लिए अवकाश घोषित किया है। यह अवकाश केवल छात्र-छात्राओं के लिए घोषित किया गया है।


कलेक्टर ने नागरिकों से सुरक्षित स्थानों पर रहने तथा जल मग्नीय पुल-पुलिया पार नहीं करने की अपील की

  • बाढ़ संभावित ग्रामीण क्षेत्रों से नागरिकों को सुरक्षित स्थानों पर पहुंचाने के कलेक्टर ने दिए निर्देश

लगातार हो रही भारी वर्षा के चलते बरगी एवं तवा बांध के गेट खोलने से नर्मदा नदी का जलस्तर बढ़ने से ग्रामवासियों की सुरक्षा को दृष्टिगत रखते हुए कलेक्टर श्री चंद्र मोहन ठाकुर ने सभी नागरिकों से बाढ़ प्रभावित तथा जलभराव वाले संभावित निचले स्थानों से सुरक्षित ऊंचे स्थानों की ओर जाने की अपील की है। कलेक्टर श्री ठाकुर ने जिला प्रशासन तथा पुलिस के अधिकारियों को निर्देश दिए हैं कि नागरिकों की सुरक्षा को दृष्टिगत रखते हुए आगामी समय में बाढ़ प्रभावित एवं जलभराव वाले गांवों के नागरिकों को सुरक्षित स्थानों पर पहुंचाया जाए।


पुल-पुलिया, नदी-नाले पार नहीं करने की अपील

कलेक्टर श्री चंद्र मोहन ठाकुर ने जिले के सभी नागरिकों से अपील की है कि लगातार हो रही वर्षा के कारण जिन पुल, पोलियो,  रपटों के ऊपर पर पानी  बह रहा हो, उन्हें पार नहीं करें। उन्होंने नागरिकों से यह भी अपील की है कि बहुत आवश्यक होने पर ही घर से बाहर निकले तथा उन मार्गों से नहीं जाएं, जिन मार्गो की नदी नालों पर बने पुलों  पर पानी होने के कारण सुरक्षा की दृष्टि से बंद किया गया है। आवश्यक होने पर आवागमन के लिए सुरक्षित मार्गों का उपयोग करें।


सीईओ श्री सिंह एवं अपर कलेक्टर श्रीमती सनोबर ने बाढ़ संभावित क्षेत्रों का लिया जायजा


लगातार हो रही बर्षा के चलते नर्मदा नदी के बढ़ते जलस्तर से नर्मदा किनारें बसे गांवों में  ग्रामवासियों की सुरक्षा को दृष्टिगत रखते हुए जिला पंचायत सीईओ श्री हर्ष सिंह एवं अपर कलेक्टर श्रीमती गुंचा सनोवर ने नसरूल्लागंज में नर्मदा किनारे बसे अनेक ग्रामीण क्षेत्रों का जायजा लिया। उन्होंने बाढ़ प्रभावित क्षेत्रों में राहत एवं बचाव कार्य की व्यवस्थाएं भी देखी। इस दौरान उन्होंने बाढ़ प्रभावित क्षेत्रों से ग्रामवासियों को सुरक्षित स्थानों पर शिफ्ट करने के निर्देश दिए। सीईओ श्री सिंह एवं अपर कलेक्टर श्रीमती सनोबर ने नसरुल्लागंज के ग्राम नीलकंठ, तिलाड़िया, छिदगॉंव काछी, मण्डी, मंझली सीलकंठ, सातदेव, टिगाली सहित अनेक गांवों का निरीक्षण किया। साथ ही उन्होंने सभी अधिकारियों को संभावित बाढ़ तथा जलभराव की स्थिति से निपटने के लिए सभी आवश्यक तैयारियां सुनिश्चित करने के निर्देश दिए। उन्होंने ग्रामवासियों से चर्चा कर सुरक्षित स्थानों पर जाने की अपील भी की। इस दौरान एएसपी श्री गीतेश कुमार गर्ग, नसरूल्लागंज तहसीलदार श्री रत्नेश श्रीवास्तव, नसरूल्लागंज जनपद सीईओ श्री प्रबल अजारिया सहित अधिकारी कर्मचारी थे।


एसडीएम श्री तोमर ने बाढ़ प्रभावित क्षेत्रों का किया निरीक्षण


लगातार हो रही बर्षा के चलते नर्मदा नदी के बढ़ते जलस्तर से नर्मदा किनारें बसे गांवों में  ग्रामवासियों की सुरक्षा को दृष्टिगत रखते हुए नसरूल्लागंज एसडीएम श्री दिनेश तोमर ने नसरूल्लागंज तहसील के अनेक गांवो का निरीक्षण किया। उन्होंने ग्राम नीलकंठ, छिदगांव काछी, डिमावर, मंझली, सीलकंठ सहित अनेक गांवों का निरीक्षण कर ग्रामवासियों को बाढ़ प्रभावित क्षेत्रों से निकलकर सुरक्षित स्थानों पर पहुंचने की समझाइश दी। साथ ही कोटवार द्वारा मुनादी कर सभी ग्रामवासियों को पंचायत भवनों, स्कूल भवनों सहित अन्य ऊँचाई वाले सुरक्षित स्थानो पर जाने की अपील की।


आंगनबाड़ी को गौद लेकर पार्षद ने किया, किताब कपियों और मिठाई का वितरण


सीहोर। आंगनबाड़ी को गौद लेकर स्वतंत्रता दिवस के अवसर पर पार्षद ने बच्चों को किताब कपियों और मिठाई का वितरण किया। आजादी का महापर्व स्वतंत्रता दिवस वार्ड २६ में हर्षोउल्लास से मनाया गया। कसाई मंडी चौराहा पर वार्ड के ना्रगरिकों की गरीमा पूर्ण उपस्थित में पार्षद खुशबु हसीन कुरेशी के द्वारा ध्वजारोहण कर राष्ट्रगान गाया गया। पार्षद खुशबु हसीन कुरेशी ने इस अवसर पर कहा की आंगनबाड़ी में किसी भी प्रकार कोई कमी नहीं आने दी जाएगी। बच्चों के लिए सभी जरूरी कदम उठाए जाएंगे। वार्ड क्षेत्र में भी विकास कार्यो पर भी प्राथमिकता के साथ ध्यान दिया जाएगा। कार्यक्रम में मुख्य रूप से डॉ अनीस खान,शकील भाई, मुस्तफा हुसैन, रामभरोस शर्मा, सुरेश साबू, राजकुमार जायसवाल, मधुसुदन अग्रवाल, हनीफ उर रहमान, मनोहर शर्मा सहित गणमानीय नागरिक उपस्थित रहे। 


भारी वर्षा के कारण निर्मित परिस्थितियाँ नियंत्रण में – मुख्यमंत्री श्री चौहान

  • टीम मध्यप्रदेश ने वैज्ञानिक तरीके से आपदा प्रबंधन कर जलप्लावन की‍ स्थिति को रोका, प्रदेश में 19 से 23 अगस्त तक पुन: अधिक वर्षा की संभावना, बाढ़ प्रभावित क्षेत्रों से गर्भवती महिलाओं को सुरक्षित स्थानों पर पहुंचाने को दें सर्वोच्च प्राथमिकता
  • आपदा प्रबंधन में जनप्रतिनिधियों का सहयोग लिया जाए, वर्षा, बांधों से पानी छोड़ने, बाढ़ की‍ स्थिति के संबंध में सोशल मीडिया पर दी जानकारी, बांधों, तालाबों और जल संरचनाओं का प्रतिदिन कराएं निरीक्षण, मुख्यमंत्री श्री चौहान ने प्रदेश में अतिवृष्टि से निर्मित स्थिति की समीक्षा की, मुख्यमंत्री श्री चौहान ने नर्मदापुरम से वर्चुअली की राज्य स्तरीय समीक्षा

sehore-news
मुख्यमंत्री श्री शिवराज सिंह चौहान ने कहा है कि प्रदेश में भारी वर्षा के कारण जो परिस्थितियां निर्मित हो गई थीं, उन्हें बेहतर प्रबंधन के आधार पर नियंत्रित कर लिया गया है। जनता की जिन्दगी की सुरक्षा राज्य सरकार की सर्वोच्च प्राथमिकता है। प्रदेश में जिला प्रशासन, एनडीआरएफ, एसडीआरएफ की टीमें सजग हैं तथा स्थिति पर नियंत्रण रखे हुए हैं। सभी जिलों को निर्देश दिए गए हैं कि जिन गर्भवती महिलाओं की डिलीवरी की तिथि आगामी दो या तीन दिन में है, उन्हें सर्वोच्च प्राथमिकता पर अस्पतालों और सुरक्षित स्थानों पर पहुंचाया जाए। मुख्यमंत्री श्री चौहान नर्मदापुरम के एनआईसी से प्रदेश के जिलों से अतिवृष्टि और बाढ़ नियंत्रण के संबंध में वर्चुअली चर्चा कर रहे थे। मुख्यमंत्री श्री चौहान ने कहा कि मौसम विभाग से प्राप्त जानकारी के अनुसार आगामी 19 से 23 अगस्त के मध्य भी अधिक वर्षा की संभावना है। नर्मदापुरम में पूर्व विधानसभा अध्यक्ष एवं विधायक डॉ सीतासरन शर्मा, विधायक श्री विजयपाल सिंह, विधायक श्री ठाकुर दास नागवंशी, श्रीमती माया नारोलिया, नगरपालिका अध्यक्ष श्रीमती नीतू महेंद्र यादव, कमिश्नर श्री मालसिंह, आईजी श्रीमती दीपिका सूरी, डीआईजी श्री जगत सिंह राजपूत, कलेक्टर श्री नीरज सिंह,पुलिस अधीक्षक डॉ गुरूकरण सिंह, जिला पंचायत सीईओ श्री मनोज सरियाम उपस्थित थे। जल संसाधन मंत्री श्री तुलसीराम सिलावट बैठक से वुर्चअली जुड़े। मुख्य सचिव श्री इकबाल सिंह बैंस, अपर मुख्य सचिव गृह डॉ. राजेश राजौरा, प्रमुख सचिव जल संसाधन श्री एस.एन. मिश्रा मंत्रालय भोपाल से बैठक में वर्चुअली सम्मिलित हुए। मुख्यमंत्री श्री चौहान ने विदिशा, सीहोर, बालाघाट, नर्मदापुरम, रायसेन, भोपाल, राजगढ़, नरसिंहपुर के अधिकारियों से वर्चुअली उनके जिले की जानकारी प्राप्त की। कलेक्टर श्री चन्द्र मोहन ठाकुर ने नर्मदा के बढ़ रहे जलस्तर से प्रभावित होने वाले गांवो में जिला प्रशासन द्वारा की गई तैयारियों से मुख्यमंत्री श्री चौहान को अवगत कराया। उन्होंने बताया कि ग्राम सोमलबाड़ा के सभी ग्रामवासियों को शाहगंज में बनाए गए राहत शिविर में शिफ्ट कर दिया गया है ताकि भविष्य में होने वाली हानि से बचा जा सके। सोमलबाड़ा के साथ ही सभी जलभराव होने वाले क्षेत्रों के निवासियों को शिफ्ट किया जा रहा है। कलेक्टर श्री ठाकुर ने पिछले दो दिनों से जिले में हो रही लगातार बारिश से उत्पन्न स्थिति के बारे में अवगत कराया। मुख्यमंत्री श्री चौहान ने कहा कि टीम मध्यप्रदेश वैज्ञानिक तरीके से आपदा प्रबंधन में दक्ष है। इसका उदाहरण, कारम डेम आपदा के प्रबंधन से स्पष्ट हुआ है। बेहतर प्रबंधन के परिणामस्वरूप भयावह स्थिति नहीं बन पायी और हम जनहानि के साथ-साथ पशुओं को बचाने में भी सफल रहे। मुख्यमंत्री श्री चौहान ने अतिवृष्टि के परिणामस्वरूप बाढ़ नियंत्रण और जल निकासी व्यवस्था में लगे मौसम विभाग, जल संसाधन, नर्मदा घाटी विकास, जिला प्रशासन, एसडीआरएफ और एनडीआरएफ को बधाई दी। मुख्यमंत्री श्री चौहान ने कहा कि यदि बरगी, बारना, तवा और कोलार का पानी एक साथ छूटता तो जलप्लावन की स्थिति बन सकती थी। बुद्धिमता के साथ वैज्ञानिक आपदा प्रबंधन करते हुए क्रमबद्ध रूप से बांधों से जल निकासी का प्रबंधन किया गया। जब तवा और बारना बांधों के गेट खुले थे तो बरगी बंद था। बरगी के गेट खुले तो तवा और बारना और के गेट बंद होंगे। इस वैज्ञानिक प्रबंधन के परिणामस्वरूप क्षेत्र को गंभीर स्थिति से बचाने में सफलता मिली है। हमें यह वैज्ञानिक आपदा प्रबंधन निरंतर करते रहना होगा। इससे आपदा प्रबंधन में मध्यप्रदेश देश में उदाहरण प्रस्तुत करेगा बांधों में 80 प्रतिशत भंडारण का निर्णय लिया गया है, 20 प्रतिशत की गुंजाइश छोड़ी गई है। मुख्यमंत्री श्री चौहान ने जिलों द्वारा की गई व्यवस्था की सराहना करते हुए कहा कि डूब में आने वाले संभावित स्थानों से लोगों को ऊँचे स्थानों पर शिफ्ट किया गया। नर्मदापुरम में राहत शिविर के निरीक्षण उपरांत वहाँ की व्यवस्था पर मुख्यमंत्री श्री चौहान ने संतोष व्यक्त किया। मुख्यमंत्री श्री चौहान ने कहा कि सभी जिलों में राहत शिविरों की व्यवस्था रखी जाए। इसके साथ ही पशुओं की सुरक्षा के लिए भी जिला प्रशासन संवदेनशीलता के साथ कार्य करें। मुख्यमंत्री श्री चौहान ने कहा कि आपदा प्रबंधन में जनप्रतिनिधियों तथा नवनिर्वाचित पंचायत और नगरीय निकायों के प्रतिनिधियों को विश्वास में लेकर उनका सहयोग लिया जाए। सोशल मीडिया और जनसंचार के अन्य माध्यमों से अतिवृष्टि तथा बाढ़ की स्थितियों को जनता के साथ साझा किया जाए। इससे जनसामान्य को सतर्क करने और उनके द्वारा आवश्यक सावधानियां बरतने में सहायता मिलेगी। आपदा प्रबंधन में आदर्श समन्वय आवश्यक है। मुख्यमंत्री श्री चौहान ने जिलों को अपना सूचना तंत्र मजबूत रखने के निर्देश भी दिए मुख्यमंत्री श्री चौहान ने जिला प्रशासन को अपने क्षेत्र के सभी बांधों, तालाबों और जल संरचनाओं का परीक्षण कराने के निर्देश देते हुए कहा कि लगातार हो रही वर्षा और आगामी दिनों में भारी वर्षा की संभावना को देखते हुए तकनीकी अमले के साथ जल संरचनाओं का निरीक्षण और उनमें सीपेज आदि की संभावना पर नजर रखी जाए। आगामी कुछ दिनों तक प्रतिदिन बांधों की मॉनीटरिंग की व्यवस्था सुनिश्चित करें। मौसम के पूर्वानुमान सदैव सटीक नहीं होते, अत: तैयारी आवश्यक है। जिलों के पास पानी डिस्चार्ज का आंकलन पूर्व से ही है। अत: तद्नुसार सभी विभाग परस्पर समन्वय कर किसी भी स्थिति से निपटने के लिए तैयार रहें। जिला प्रशासन बाढ़ राहत के लिए राशन, दवाएं, नाव, मोटरबोट, गोताखोर, बचाव दल, राहत शिविर, एनडीआरएफ, एसडीआरएफ की टीमों को तैयार रखें। मुख्यमंत्री श्री चौहान ने अतिवृष्टि के प्रबंधन और राहत के लिए सूक्ष्मतम बिन्दुओं पर ध्यान देते हुए विस्तृत कार्ययोजना बनाने के निर्देश दिए।


जिले में  16 अगस्त को 02 व्यक्तियों की रिपोर्ट कोरोना पॉजिटिव


जिले में 16 अगस्त को प्राप्त रिपोर्ट में 07 व्यक्तियों कोरोना रिपोर्ट पॉजिटिव आई है। वर्तमान में एक्टिव पॉजिटिव केस की संख्या 38 हो गई है।


न्यूनतम समर्थन मूल्य पर मूंग उपार्जन के लिए बनाए गए केन्द्र


समर्थन मूल्य पर ग्रीष्मकालीन मूंग की खरीदी के लिए जिले में 27 उपार्जन केन्द्र बनाए गए है। ग्रीष्मकालीन मूंग के उपार्जन के लिए सीहोर में सहकारी विपणन एवं प्रक्रिया संस्था गल्ला मंडी में उपार्जन केन्द्र बनाया गया है। नसरूल्लागंज तहसील में प्राथमिक कृषि साख सहकारी समिति मर्यादित डिमावर, छिदगांव काछी, प्राथमिक कृषि साख सहकारी समिति मर्यादित छीपानेर, प्राथमिक कृषि साख सहकारी समिति मर्यादित बालागांव, प्राथमिक कृषि साख सहकारी समिति मर्यादित चींच, प्राथमिक कृषि साख सहकारी समिति मर्यादित राला, प्राथमिक कृषि साख सहकारी समिति मर्यादित राला, नंदगांव में उपार्जन केन्द्र बनाए गए है। बुधनी तहसील में प्राथमिक कृषि साख सहकारी समिति मर्यादित कुसुमखेड़ा (आमोन), प्राथमिक कृषि साख सहकारी समिति मर्यादित जैत, प्राथमिक कृषि साख सहकारी समिति मर्यादित बुधनी बस स्टेण्ड, प्राथमिक कृषि साख सहकारी समिति मर्यादित शाहगंज केन्द्र क्रमांक-1, प्राथमिक कृषि साख सहकारी समिति मर्यादित शाहगंज केन्द्र क्रमांक-2, प्राथमिक कृषि साख सहकारी समिति मर्यादित बनेटा प्लाट, प्राथमिक कृषि साख सहकारी समिति मर्यादित सरदारनगर, प्राथमिक कृषि साख सहकारी समिति मर्यादित सरदारनगर, प्राथमिक कृषि साख सहकारी समिति मर्यादित बासगहन, प्राथमिक कृषि साख सहकारी समिति मर्यादित बासगहन, प्राथमिक कृषि साख सहकारी समिति मर्यादित कुसुमखेड़ा (बकतरा), प्राथमिक कृषि साख सहकारी समिति मर्यादित जनवासा में उपार्जन केन्द्र बनाए गए है। रेहटी तहसील में प्राथमिक कृषि साख सहकारी समिति मर्यादित माजरकुई, प्राथमिक कृषि साख सहकारी समिति मर्यादित माजरकुई (नयागांव), प्राथमिक कृषि साख सहकारी समिति मर्यादित मोगरा, प्राथमिक कृषि साख सहकारी समिति मर्यादित मोगरा, प्राथमिक कृषि साख सहकारी समिति मर्यादित बांया, प्राथमिक कृषि साख सहकारी समिति मर्यादित लावापानी (चकल्दी), प्राथमिक कृषि साख सहकारी समिति मर्यादित बोरी, प्राथमिक कृषि साख सहकारी समिति मर्यादित मरदानपुर में उपार्जन केन्द्र बनाए गए है।



कोई टिप्पणी नहीं: