मधुबनी : शहर को अतिक्रमण मुक्त रखना सर्वोच्च प्राथमिकता। : जिलाधिकारी - Live Aaryaavart (लाईव आर्यावर्त)

Breaking

विजयी विश्व तिरंगा प्यारा , झंडा ऊँचा रहे हमारा। देश की आज़ादी के 75 वर्ष पूरे होने पर सभी देशवासियों को अनेकानेक शुभकामनाएं व बधाई। 'लाइव आर्यावर्त' परिवार आज़ादी के उन तमाम वीर शहीदों और सेनानियों को कृतज्ञता पूर्ण श्रद्धासुमन अर्पित करते हुए नमन करता है। आइए , मिल कर एक समृद्ध भारत के निर्माण में अपनी भूमिका निभाएं। भारत माता की जय। जय हिन्द।

सोमवार, 19 सितंबर 2022

मधुबनी : शहर को अतिक्रमण मुक्त रखना सर्वोच्च प्राथमिकता। : जिलाधिकारी

  • सोमवार से चलेगा व्यापक अतिक्रमण मुक्त अभियान नगर निगम, मधुबनी की आधारभूत संरचना एवं समग्र विकास को लेकर विभागवार योजनाओं की समीक्षात्मक बैठक का हुआ आयोजन।
madhubani-dm
मधुबनी,
जिलाधिकारी अरविन्द कुमार वर्मा की अध्यक्षता में  समाहरणालय स्थित सभाकक्ष में नगर निगम, मधुबनी के आवश्यकतानुसार आधारभूत संरचना एवं समग्र विकास हेतु विभागवार योजनाओं की समीक्षात्मक बैठक का आयोजन किया गया। *समीक्षा के क्रम में जिलाधिकारी ने कहा कि नगर निगम में विकास कार्यों की असीमित संभावनाएं हैं। ऐसे में इस दिशा में अलग अलग विभागों को समेकित रूप से प्रयास करना होगा,ताकि, मधुबनी नगर निगमको एक आदर्श नगर निगम बनाया जा सके। समीक्षा के क्रम में उनके द्वारा अभी तक चलाये जा रहे अतिक्रमण अभियान की विस्तृत जानकारी प्राप्त किया। उन्होंने  सोमवार से अतिक्रमण अभियान को लेकर व्यापक कदम उठाने के निर्देश दिए। उन्होंने कहा कि अतिक्रमण हटाने के दौरान अमीन को भी रखा जाए। जिससे तंग रास्तों से ट्रैफिक जाम की समस्या को प्रभावी तरीके से दूर किया जा सके। उन्होंने निर्देश दिया कि आम आदमी के हित में नगर निगम को अतिक्रमण मुक्त रखना जिला प्रशासन की प्राथमिकता में है। ऐसे में अगली बैठक से पूर्व इस दिशा में समुचित कदम उठाए जाएं। उन्होंने सड़कों की मरम्मत और नाले के निर्माण के लिए भी निर्देश दिए हैं। उन्होंने कहा कि सीमित दूरी में छोटे छोटे नाले बनाए जाने से जल निकासी की समस्या का प्रभावी तरीके से समाधान नहीं किया जा सकता है। उन्होंने इसके लिए व्यापक स्तर पर रोड मैप तैयार करने के निर्देश दिए हैं। उन्होंने तालाब और कुओं को भी अतिक्रमण से मुक्त करवाने की दिशा में कदम उठाने को कहा है।  जिलाधिकारी ने किंग्स केनाल के निर्माण कार्य में धीमी गति पर आपत्ति जताते हुए इसमें तेजी लाने के निर्देश दिए हैं। उन्होंने थाना मोड़ से कोतवाली चौक के बीच की सड़क के बगल से गुजरने वाले नाले को जोड़ने का निर्देश दिया है ताकि, सड़क पर वर्षाजल का ठहराव न हो। उन्होंने वर्षा जल संचयन से मच्छरों के बढ़ने वाले प्रकोप को दूर करने के लिए नगर निगम द्वारा नियमित रूप से आवश्यक दवाओं के छिड़काव करने को कहा है। उन्होंने कहा कि नगर निगम के भीड़ भाड़ वाली जगहों पर सामुदायिक यूरिनल / शौचालय बनवाए जाएं। ताकि, लोगों को बेहतर सुविधाएं प्रदान करने का नगर निगम मधुबनी का संकल्प दिखाई दे। उन्होंने चिल्ड्रन पार्क के रूप में गंगासागर पोखरा के बगल वाली जगह को जल्द से जल्द विकसित करने के निर्देश दिए हैं। उन्होंने कहा कि रेडी और फल विक्रेता आदि से आए दिन सड़क किनारे जाम देखने को मिलता है। इसके निदान के लिए निगम क्षेत्र के चिन्हित स्थानों पर वेंडर जोन बनाए जाएं। उन्होंने टेंपो चालकों के द्वारा जहां तहां टेंपो रोके जाने का भी संज्ञान लेते हुए निर्देश दिया कि टेंपो ठहराव के लिए स्थलों का चयन करते हुए सभी को इसकी जानकारी दी जाए।  उन्होंने निगम क्षेत्र के अंतर्गत पुल पुलियों के सर्वे करने के निर्देश भी दिए हैं। उनके द्वारा गिलेशन बाजार में नए मछली विक्रय भवन निर्माण किए जाने की दिशा में विभाग से पत्राचार करने का निर्देश भी दिया गया। इसके अतिरिक्त कचड़ा प्रबंधन के साथ साथ सम्राट अशोक भवन, बैडमिंटन कोर्ट और इंस्पेक्शन बंगलो के निर्माण की दिशा में आवश्यक कदम उठाने के निर्देश दिए हैं। उन्होंने बस स्टैंड के लिए नए चयनित स्थल पर निर्माण कार्य आरंभ करवाने से पूर्व सभी विभागीय कार्रवाई पूरी कर लेने के निर्देश दिए हैं। उक्त अवसर पर उप विकास आयुक्त, विशाल राज, नगर आयुक्त, अनिल चौधरी, जिला शिक्षा पदाधिकारी, दिनेश कुमार चौधरी, अनुमंडल पदाधिकारी सदर, अश्वनी कुमार, डीसीएलआर, सदर, राकेश कुमार, जिला परिवहन पदाधिकारी शशि शेखरण, महाप्रबंधक जिला उद्योग केंद्र, राकेश कुमार शर्मा सहित विभिन्न विभागों के कार्यपालक अभियंता व सिटी मैनेजर राजमणि गुप्ता भी उपस्थित थे।

कोई टिप्पणी नहीं: