प्रतापगढ़ : विधिक जागरूकता शिविर का आयोजन - Live Aaryaavart (लाईव आर्यावर्त)

Breaking

विजयी विश्व तिरंगा प्यारा , झंडा ऊँचा रहे हमारा। देश की आज़ादी के 75 वर्ष पूरे होने पर सभी देशवासियों को अनेकानेक शुभकामनाएं व बधाई। 'लाइव आर्यावर्त' परिवार आज़ादी के उन तमाम वीर शहीदों और सेनानियों को कृतज्ञता पूर्ण श्रद्धासुमन अर्पित करते हुए नमन करता है। आइए , मिल कर एक समृद्ध भारत के निर्माण में अपनी भूमिका निभाएं। भारत माता की जय। जय हिन्द।

सोमवार, 19 सितंबर 2022

प्रतापगढ़ : विधिक जागरूकता शिविर का आयोजन

  • लम्पी वायरस की रोकथाम , हेतु भी प्राधिकरण सक्रिय

legal-awareness
प्रतापगढ़। जिला विधिक सेवा प्राधिकरण प्रतापगढ़ सचिव शिवप्रसाद तम्बोली (अपर जिला एवं सेशन न्यायाधीश) ने विभिन्न गांव-ढाणी पहॅूच कर माननीय नालसा द्वारा संचालित विभिन्न कल्याणकारी योजनाओं के बारे में बताये जाने हेतु जागरूकता शिविर का आयोजन ंिकया।  प्राधिकरण सचिव तंबोली ने आज गांव बनेड़िया खूर्द, मनोहरगढ़, खेरोट एवं डोडियारखेड़ा पहॅूच कर आम जन को एकत्र करते हुए विभिन्न कानूनी जानकारियों से अवगत कराया। जिसमें विशेष रूप से माननीय नालसा द्वारा संचालित विभिन्न कल्याणकारी योजनाओं के बारे में बताया गयां। उपस्थित आम जन को मृत्यु भोज निषेध कानून, बाल विवाह निषेध कानून, मोटर वाहन अधिनियम एवं डाकन प्रथा के संबंध में जानकारियां प्रदान की गई।  दौराने शिविर जिले में गौवंश में फैल रहे लम्पी वायरस के संबंध में ग्रामीणजनों को जागरूक करने हेतु विभिन्न गांव-ढाणियों तक पहॅूच कर संदेश प्रेषित ंिकया और आम जन को गोवंश में फैले इस वायरस/बीमारी से निजात पाने हेतु उपाय भी बताया। आम जन को एकत्र करते हुए वर्तमान में फैल रही बीमारी - लम्पी वायरस के बारे में अवगत कराया तथा ऐसे पीड़ित पशुधन का पता लगाते हुए पशु स्वामि के निवास पहॅूच कर उन्हें इस बीमारी से निजात पाने हेतु घरेलू नुस्खे से भी अवगत कराया जो ंिक आसानी से घर में उपलब्ध वस्तुओं से काढ़ा बनाते हुए गोवंश को दिन में कम से कम दो बार पिलाने से इस बीमारी से छुटकारा पाया जा सकता है। गायों में फैल रही इस बीमारी से लगातार पशुधन की हानि हो रही है, वर्तमान में देश के कईं राज्यों में यह बीमारी तेजी से फैल रही है, जिससे अधिकांश पशुओं की मृत्यु भी हो चुकी है। इसलिये प्राधिकरण सचिव ने पशुओं के टीकाकरण करवाने के साथ ही सामान्य घरेलू उपचार एवं आयुर्वेदिक उपचार हेतु भी सलाह दी। 

कोई टिप्पणी नहीं: