बिहार : फोटो प्रदर्शनी में विद्यार्थियों ने बढ़-चढ़कर लिया हिस्सा - Live Aaryaavart (लाईव आर्यावर्त)

Breaking

विजयी विश्व तिरंगा प्यारा , झंडा ऊँचा रहे हमारा। देश की आज़ादी के 75 वर्ष पूरे होने पर सभी देशवासियों को अनेकानेक शुभकामनाएं व बधाई। 'लाइव आर्यावर्त' परिवार आज़ादी के उन तमाम वीर शहीदों और सेनानियों को कृतज्ञता पूर्ण श्रद्धासुमन अर्पित करते हुए नमन करता है। आइए , मिल कर एक समृद्ध भारत के निर्माण में अपनी भूमिका निभाएं। भारत माता की जय। जय हिन्द।

बुधवार, 21 सितंबर 2022

बिहार : फोटो प्रदर्शनी में विद्यार्थियों ने बढ़-चढ़कर लिया हिस्सा

patna-news-bihar
पटना/गया, 21 सितंबर, ‌ सूचना एवं प्रसारण मंत्रालय, भारत सरकार के केंद्रीय संचार ब्यूरो, गया द्वारा आयोजित आजादी का अमृत महोत्सव कार्यक्रम के दूसरे दिन 21 सितंबर को गया कॉलेज, गया में विभिन्न प्रकार के शैक्षणिक एवं सांस्कृतिक कार्यक्रमों का आयोजन किया गया। कार्यक्रम स्थल पर विद्यार्थियों के लिए प्रमुख रूप से चित्रांकन प्रतियोगिता, प्रश्नोत्तरी प्रतियोगिता एवं देशभक्ति गीत गायन का आयोजन किया गया। मौके पर सूचना एवं प्रसारण मंत्रालय के कलाकारों द्वारा बिहार के विभिन्न लोक नृत्य के माध्यम से बिहार की सांस्कृतिक झलक भी प्रस्तुत की गई। महाविद्यालय के विद्यार्थियों ने भी अपने गायन से दर्शकों को मंत्रमुग्ध कर दिया।  अमृत महोत्सव कार्यक्रम के दौरान विचार गोष्ठी का भी आयोजन किया गया। जिसमें मुख्य वक्ता के रूप में गया कॉलेज के हिंदी विभाग के विभागाध्यक्ष डॉ आनंद कुमार सिंह ने अपने संबोधन में कहा कि आजादी अमृत के समान है और इस अमृत को हम भारतवासियों ने सतत संघर्ष के माध्यम से हासिल किया है। आज के युवा साहित्य के माध्यम से देश की आजादी की गाथा एवं सांस्कृतिक विरासत को जाने और सतत संघर्ष के माध्यम से विकासशील भारत राष्ट्र को विकसित भारत राष्ट्र में तब्दील करें। गया कॉलेज के शिक्षा शास्त्र विभाग के विभागाध्यक्ष डॉ धनंजय धीरज ने अपने संबोधन में कहा कि सही मायनों में आजादी का अर्थ राष्ट्र के प्रत्येक व्यक्ति को राष्ट्र की मुख्यधारा में जोड़ना ही है। जाति धर्म और आस्था के बंधनों से परे प्रत्येक व्यक्ति को अपने मौलिक अधिकारों के साथ-साथ मौलिक कर्तव्यों में समन्वय स्थापित कर राष्ट्रीय विकास में अपना योगदान सुनिश्चित करना चाहिए।  गया कॉलेज के अर्थशास्त्र विभाग के सहायक प्राध्यापक डॉ आदर्श कुमार गुप्ता ने कहा कि राष्ट्र की आजादी में सुभाष चंद्र बोस का योगदान अतुलनीय है। जिन विपरीत परिस्थितियों में सुभाष चंद्र बोस ने देश की प्रतिष्ठित भारतीय प्रसासनिक सेवा परीक्षा पास की और उसे त्याग कर देश के स्वतंत्रता आंदोलन में कूद पड़े थे उससे आज के युवाओं को सीख लेने की आवश्यकता है।  अनुग्रह मेमोरियल कॉलेज के शिक्षा विभाग के सहायक प्राध्यापक डॉ विजय कुमार पांडे ने कहा कि देश के इस बहुमूल्य आजादी को सुरक्षित और संरक्षित करने का काम युवाओं के कंधों पर ही है।  अनुग्रह मेमोरियल कॉलेज के शिक्षा विभाग के सहायक प्राध्यापक डॉ ब्रजमोहन ने कहा कि भारत विविधताओं में एकता का देश है। सभी धर्मों के प्रति समान आदर का भाव, सभी राष्ट्रों के प्रति समान आदर का भाव लेकर भारत ने विश्व के मानचित्र पर अपनी एक अलग पहचान बनाई है। आजादी के अमृत महोत्सव पर हम इस बात का संकल्प लें कि इस पहचान को हम किसी भी तरह धूमिल नहीं होने देंगे। केंद्रीय संचार ब्यूरो, गया के प्रभारी बुलंद इकबाल ने कहा कि अमृत महोत्सव कार्यक्रम के दौरान आज स्वच्छ भारत मिशन के तहत गया कॉलेज परिसर की साफ सफाई भी की गई। चित्रांकन प्रतियोगिता एवं प्रश्नोत्तरी प्रतियोगिता के सफल प्रतिभागियों को कल 11:00 बजे पूर्वाह्न से आयोजित होने वाले समापन समारोह में पुरस्कृत किया जाएगा। शिक्षा शास्त्र विभाग की छात्रा अमीषा ने ’ए मेरे वतन के लोगों’ गीत की प्रस्तुति के माध्यम से दर्शकों को भावुक कर दिया। गया कॉलेज के प्रबंधन विभाग के सहायक प्राध्यापक डॉ सुशांत कुमार मुखर्जी ने अपने मधुर संगीत के माध्यम से कार्यक्रम में समा बांध दिया।  कार्यक्रम का संचालन केंद्रीय संचार ब्यूरो, मुंगेर के प्रभारी सुदर्शन झा ने किया। मौके पर सभी अतिथियों का स्वागत सूचना एवं प्रसारण मंत्रालय, भारत सरकार के केंद्रीय संचार ब्यूरो, गया के प्रभारी बुलंद इकबाल ने पौधा एवं अंग वस्त्र प्रदान कर किया।  कार्यक्रम में गया कॉलेज के शिक्षा शास्त्र विभाग के सहायक प्राध्यापक अजय शर्मा सहित बड़ी संख्या में शिक्षकगण एवं विद्यार्थी उपस्थित थे।

कोई टिप्पणी नहीं: