एफआईआई ने बाजार में किया 3837 करोड़ से अधिक का निवेश - Live Aaryaavart (लाईव आर्यावर्त)

Breaking

विजयी विश्व तिरंगा प्यारा , झंडा ऊँचा रहे हमारा। देश की आज़ादी के 75 वर्ष पूरे होने पर सभी देशवासियों को अनेकानेक शुभकामनाएं व बधाई। 'लाइव आर्यावर्त' परिवार आज़ादी के उन तमाम वीर शहीदों और सेनानियों को कृतज्ञता पूर्ण श्रद्धासुमन अर्पित करते हुए नमन करता है। आइए , मिल कर एक समृद्ध भारत के निर्माण में अपनी भूमिका निभाएं। भारत माता की जय। जय हिन्द।

सोमवार, 12 सितंबर 2022

एफआईआई ने बाजार में किया 3837 करोड़ से अधिक का निवेश

fii-invested-more-than-3837-crores-in-the-market
मुंबई 11 सितंबर, महंगाई की मार झेली रही पूरी दुनिया में ब्याज दरों में हो रही बढ़ोतरी से उत्साहित विदेशी संस्थागत निवेशकों (एफआईआई) ने निवेश के सुरक्षित गंतव्य भारतीय शेयर बाजार में इस वर्ष सितंबर में अबतक 3837.56 करोड़ रुपये डाले वहीं घरेलू संस्थागत निवेशक (डीआईआई) 69.71 करोड़ रुपये निकाल चुके हैं। स्टॉक एक्सचेंज से उपलब्ध आंकड़ों के अनुसार, इस वर्ष 09 सितंबर तक एफआईआई ने 51647.28 करोड़ रुपये की लिवाली की जबकि वह 47809.72 करोड़ रुपये के बिकवाल भी रहे। इससे शेयर बाजार में उनका शुद्ध निवेश 3837.56 करोड़ रुपये पर पहुंच गया। इसी तरह डीआईआई ने 44296.51 करोड़ की लिवाली जबकि 44366.22 करोड़ रुपये की बिकवाली कर बाजार से 69.71 करोड़ रुपये निकाल लिए है। सितंबर की पहली तारीख को एफआईआई ने 11907.28 करोड़ की लिवाली जबकि 14197.59 करोड़ बिकवाली कर 2290.31 करोड़ रुपये, इसके अगले दिन 6332.11 करोड़ की लिवाली जबकि 6340.90 करोड़ की बिकवाली कर 8.79 करोड़ रुपये और 05 सितंबर को 4849.29 करोड़ निवेश जबकि 5661.04 करोड़ की बिकवाली कर 811.75 करोड़ रुपये निकाल लिए। वहीं, इसके अगले दिन उन्होंने 6467.47 करोड़ की लिवाली जबकि 5322.94 करोड़ की बिकवाली कर 1144.53 करोड़ रुपये, इसके बाद 6645.50 करोड़ की लिवाली वहीं 5887.13 करोड़ की बिकवाली कर 758.37 करोड़, 08 सितंबर को 8592.21 करोड़ की लिवाली जबकि 5679.12 करोड़ की बिकवाली कर 2913.09 करोड़ तथा 09 सितंबर को 6853.42 करोड़ की लिवाली वहीं 4721 करोड़ की बिकवाली कर 2132.42 करोड़ रुपये के शुद्ध लिवाल रहे। उल्लेखनीय है कि वर्ष 2022 के पिछले छह महीने की बिकवाली के बाद अगस्त में शुरू हुई एफआईआई की लिवाली लगातार जारी है। अगस्त 2022 में एफआईआई ने बाजार में 22025.62 करोड़ रुपये का शुद्ध निवेश किया जबकि घरेलू निवेशकों ने 7068.63 करोड़ रुपये की बिकवाली की थी। 

कोई टिप्पणी नहीं: