'भारत जोड़ो यात्रा' में पहले दिन जुटा 4000 से ज्यादा यात्रियों का हुजूम - Live Aaryaavart (लाईव आर्यावर्त)

Breaking

विजयी विश्व तिरंगा प्यारा , झंडा ऊँचा रहे हमारा। देश की आज़ादी के 75 वर्ष पूरे होने पर सभी देशवासियों को अनेकानेक शुभकामनाएं व बधाई। 'लाइव आर्यावर्त' परिवार आज़ादी के उन तमाम वीर शहीदों और सेनानियों को कृतज्ञता पूर्ण श्रद्धासुमन अर्पित करते हुए नमन करता है। आइए , मिल कर एक समृद्ध भारत के निर्माण में अपनी भूमिका निभाएं। भारत माता की जय। जय हिन्द।

गुरुवार, 8 सितंबर 2022

'भारत जोड़ो यात्रा' में पहले दिन जुटा 4000 से ज्यादा यात्रियों का हुजूम

more-than-4000-gathered-on-the-first-day-of-bharat-jodo-yatra
सचिन्द्रम (तमिलनाडु) 08 सितंबर, कांग्रेस की तमिलनाडु के कन्याकुमारी से शुरु हुई 'भारत जोड़ो यात्रा' को लेकर लोगों में जबरदस्त उत्साह देखने को मिला और पहले दिन सुबह की पाली में चार हज़ार से ज्यादा कांग्रेस कार्यकर्ता पार्टी अध्यक्ष राहुल गांधी के साथ करीब 13 किलोमीटर की पैदल यात्रा में शामिल हुए। श्री गांधी के नेतृत्व में करीब 3600 किलोमीटर लम्बी पद यात्रा पर निकले 118 स्थायी पदयात्रियों के साथ सुबह जो भीड़ उमड़ी उससे कांग्रेस नेता बहुत उत्साहित हैं और उन्हें लगता है कि आगे भी यही माहौल बना रहा तो इस यात्रा के जरिए पार्टी फिर जनता से जुड़ने में कामयाब होगी। कन्याकुमारी से त्रिवेंद्रम मार्ग पर 13 किमी की यात्रा तक सड़क के दोनों तरफ कांग्रेस के झंडे लहरा रहे थे। राहुल गांधी के चित्र वाले पोस्टर और बैनरों से पूरा मार्ग पटा हुआ था। सड़क कर दोनों तरफ लोगों का हुजूम यात्रा देखने के लिए बैठा था तथा ढोल बाजे और भारत जोड़ो यात्रा के नारों के साथ लोग भारत जोड़ो यात्रा के यात्रियों का अभिवादन कर रहे थे। यात्रा दल के पहले विश्राम स्थल पर यहां भारत जोड़ो यात्रा के अध्यक्ष दिग्विजयसिंह और संचार विभाग के प्रमुख जयराम रमेश ने विश्राम के दौरान पत्रकारों को संयुक्त रूप से संबोधित करते हुए कहा कि यात्रा को लेकर जो उत्साह कन्याकुमारी की जनता ने दिखाया वह आगे भी बना रहेगा। उनका कहना था कि इस यात्रा में श्री गांधी के साथ श्री सिंह के अलावा कई अन्य प्रमुख नेता पैदल यात्री के रूप में करीब 150 दिन में श्रीनगर पहुंचेंगे। यात्रा जिन राज्यों से होकर गुजरेगी प्रदेश कांग्रेस के लोग वहां दायित्व निभाएंगे और राज्य के प्रमुख नेता अपने प्रदेश में यात्रा में भी शामिल होते रहेंगे। उन्होंने कहा कि यात्रा दल में हर दिन 118 स्थाई यात्रियों के साथ ही संबंधित प्रदेश के 100 यात्री, जिन राज्यों से यात्रा नहीं गुजर रही है वहां के 100 अतिथि यात्री और सामाजिक संगठनों के लोग यात्रा में वॉलिंटियर यात्री के रूप में शामिल होंगे। उनका कहना था कि देश के हर राज्य को यात्रा से जोड़ने के लिए यात्रा में शामिल होने वाले वहां के यात्री अपने प्रदेश से जल और मिट्टी लाकर यात्रा में शामिल होंगें और जो जल तथा मिट्टी वे साथ लाएंगे, विश्राम स्थल पर पौधे रोपकर उसमें उस मिट्टी और जल का इस्तेमाल किया जाएगा। इस क्रम में आज अंडमान निकोबार के 14 यात्री शामिल हुए। यात्रा केरल पहुंचेगी तो उसमें लक्षद्वीप के यात्री शामिल होंगे। उन्होंने कहा कि आज सुबह यात्रा की शुरुआत 94 साल के वयोवृद्ध कांग्रेस नेता कुमरी आनंदन ने की। वह कांग्रेस नेता के कामराज के करीबी थे और उस समय तमिलनाडु युवक कांग्रेस के अध्यक्ष थे। उनका कहना था कि पहले दिन सुबह की पाली में 13 किमी की यात्रा तय की गई और शाम की पाली में सात से आठ किमी की पदयात्रा होगी और इस तरह हर दिन औसतन 20 से 22 किमी की यात्रा तय की जाएगी। यात्रा के पहले दिन की पहली पाली मे श्री गांधी के साथ जिन प्रमुख नेताओं ने 13 किमी की पैदल यात्रा की उनमें राजस्थान के मुख्यमंत्री अशोक गहलोत, छत्तीसगढ़ के मुख्यमंत्री भूपेश बघेल, राज्यसभा में विपक्ष के नेता मलिकार्जुन खडगे, लोकसभा में कांग्रेसी नेता अधीर रंजन चौधरी, पूर्व केंद्रीय मंत्री पी चिदंबरम, कांग्रेस प्रवक्ता पवन खेड़ा, शक्ति सिंह गोहिल सहित कई अन्य प्रमुख नेता शामिल हुए।

कोई टिप्पणी नहीं: